Submit your post

Follow Us

नेटफ्लिक्स महंगा लगता है तो उनका ये नया सस्ता प्लान आपको खुश करने वाला है

5
शेयर्स

“कभी-कभी लगता है कि अपुन ही भगवान है”

ये सुन कर गणेश गायतोंडे का स्वैग याद आ जाता है. गणेश गायतोंडे. वही, सेक्रेड गेम्स वाला. अभी फिर आने वाला है 15 अगस्त से. वहीं आएगा जहां पहले आया था. नेटफ्लिक्स पर.

जैसा कि आप सब जानते ही हैं नेटफ्लिक्स एक ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म है जहां फिल्में और सीरीज़ देखी जाती है. ये पहले महीने फ्री में देखने देता है लेकिन उसके अगले महीने से ही सब्सक्रिप्शन के पैसे कटने लगते हैं.

इंडिया में नेटफ्लिक्स जनवरी 2016 में लॉन्च हुआ था. धीरे-धीरे लोगों के बीच फेमस होने लगा. जैसे मार्केट में कोई नई चॉकलेट बच्चों के बीच फेमस हो जाती है. इंडिया में इसके तीन प्लान्स मौजूद हैं जिनके रेट्स 500 से 800 तक हैं. और ये कई लोगों को बड़े महंगे लगते हैं.

Photo- Reuters
Photo- Reuters

इंडिया, जहां 800 रुपए में हफ्ते-दस दिन की सब्ज़ी आ जाए वहां 800 रुपए सिर्फ फिल्में और सीरीज़ के लिए देना ज़रा मुश्किल है. लेकिन अब ये प्रॉब्लम नेटफ्लिक्स ने खुद ही सॉल्व कर दी है.

कैसे? एक नए प्लान के ज़रिए.

इस प्लान की खास बातें-

# ये सिर्फ इंडिया के लोगों के लिए है.

# 250 रुपए हर महीने का चार्ज लगेगा.

# सिर्फ फोन पर ही देख सकेंगे.

बिज़नेस टुडे की खबर के मुताबिक नेटफ्लिक्स कंपनी का कहना है कि इस प्लान के ज़रिए वो लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करने और बिज़नेस बढ़ाने में कामयाब होंगे. साथ ही अपने प्रतिद्वंद्वियों अमेज़न और हॉटस्टार को टक्कर देने में भी सफल रहेंगे.

हॉटस्टार भी हर महीने 299 रुपए में HBO चैनल का कंटेंट और लाइव स्पोर्टस ऑफर करता है.

नेटफ्लिक्स के चीफ कंटेंट ऑफिसर टेड सरेडोस (Ted Sarados) का कहना है कि इंडियन ऑडियंस स्थिर रूप से नेटफ्लिक्स के साथ जुड़ती जा रही है जिसका नंबर और भी बढ़ाया जा सकता है. साथ ही ये भी कहा कि इंडिया में ग्रोथ एक मैरेथन है जिसमें वो लंबी दौड़ के लिए मौजूद हैं.

ये प्लान भले ही थोड़ी देर से आया है लेकिन सेक्रेड गेम्स के फैन्स के लिए ये बेहद खुशी की बात हो गई है. हालांकि भले ही ये प्लान अनाउंस हो गया है लेकिन अभी डेट नहीं बताई गई है.


ये स्टोरी हमारे साथ इन्टर्नशिप कर रहीं ख्याति ने की है.


वीडियो:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

JNU : जिस समय आइशी घोष को पीटा जा रहा था, उसी वक़्त उन पर FIR हो रही थी

और नक़ाबपोश गुंडों का न कोई नाम, न कोई सुराग

बवाल हुआ तो JNU प्रशासन ने मंत्रालय से कैम्पस को बंद करने की मांग उठा दी

मंत्रालय ने भी ये जवाब दिया.

5 जनवरी की रात तीन बजे तक JNU कैम्पस में क्या-क्या हुआ?

जेएनयू कैम्पस में 5 जनवरी को नकाबपोशों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया.

2015 और इस बार के दिल्ली विधानसभा चुनाव में क्या अंतर है?

चुनाव के नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

JNU छात्रों पर हमले के बाद VC एम जगदीश कुमार क्या बोले?

नकाबपोश गुंडों ने कैंपस में मारपीट की थी.

जानिए, 5 जनवरी की दोपहर और शाम JNU कैंपस में क्या हुआ?

दो-तीन दिनों से कैंपस में तनाव था. अगले सेमेस्टर के रजिस्ट्रेशन पर स्टूडेंट्स में झड़पों की भी ख़बरें आईं थीं.

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...

CAA Protest : यूपी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाने वालों को पुलिस ने क्यों ब्लॉक किया?

यूपी पुलिस की इस कार्रवाई का क्या मतलब है?