Submit your post

Follow Us

नवजोत सिंह सिद्धू ने CM अमरिंदर सिंह को न्योता भेजा, लेकिन क्या माफी मांगी?

नवजोत सिंह सिद्धू. पंजाब कांग्रेस के नए मुखिया. 23 जुलाई यानी शुक्रवार को नवजोत सिंह सिद्धू प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर शपथ ग्रहण करेंगे. उनके साथ ही कुलजीत सिंह, संगत सिंह, सुखविंदर सिंह डैनी और पवन गोयल कार्यकारी अध्यक्ष के तौर पर शपथ लेंगे. चंडीगढ़ में प्रदेश कांग्रेस भवन में ये कार्यक्रम होगा, जिसका आधिकारिक न्योता राज्य के मुख्यमंत्री और दिग्गज कांग्रेस नेता कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी पहुंच चुका है. न्योते पर सिद्धू के अलावा 58 विधायकों के भी दस्तखत हैं, जो इस वक्त सिद्धू के साथ माने जा रहे हैं.

एक न्योता अलग से सिद्धू ने भी सीएम अमरिंदर को भेजा है. इसमें उन्होंने लिखा है कि उनका कोई भी पर्सनल एजेंडा नहीं है, जो कुछ भी है ‘पंजाबियों की खातिर’ है. इस लेटर में लिखा है कि चूंकि अमरिंदर पंजाब कांग्रेस परिवार में सबसे बड़े हैं, इस नाते वे शपथ ग्रहण में आएं और आशीर्वाद दें.

Sidhu Letter
अमरिंदर को भेजे गए न्योते. पहली चिट्ठी, जिसमें सिद्धू के अलावा तमाम विधायकों के हस्ताक्षर हैं. दूसरी चिट्ठी, जिसमें सिर्फ सिद्धू के हस्ताक्षर हैं.

अमरिंदर सिंह के अलावा पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत को भी शपथ ग्रहण का न्योता भेजा गया है. कुलजीत सिंह ने कहा है कि हरीश रावत ने आने के लिए हामी भी भर दी है. बाद में ANI से बात करते हुए हरीश रावत ने भी कहा-

“मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी अपने नए प्रदेश अध्यक्ष का मिल-जुलकर स्वागत करेगी.”

हरीश रावत के इस बयान के ये मायने भी निकाले जा रहे हैं कि सीएम अमरिंदर भी शपथ ग्रहण में पहुंचेंगे. 24 घंटे का वक्त बचा है, पता ही चल जाएगा.

अभी माफी नहीं

हालांकि दोनों ही चिट्ठियों में सिद्धू ने वो बात नहीं कही, जिसकी मांग अमरिंदर सिंह के खेमे की तरफ से रखी गई थी. सिद्धू ने माफी नहीं मांगी. अमरिंदर गुट की तरफ से बार-बार कहा गया है कि सिद्धू को पार्टी हाई-कमान की तरफ से जो ज़िम्मेदारी दी गई है, उस पर उन्हें ऐतराज नहीं है, लेकिन सिद्धू ने अमरिंदर सरकार को लेकर सार्वजनिक तौर पर जो टिप्पणियां की हैं, उन्हें लेकर वो माफी मांगें. लेकिन चिट्ठी में कोई माफी नहीं मांगी गई है.

बता दें कि एक दिन पहले ही अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठकराल ने कहा था कि सिद्धू से मिलने को लेकर कैप्टन के स्टैंड में कोई बदलाव नहीं हुआ है और वो इस बात पर कायम हैं कि सिद्धू के माफी मांगने पर ही मुलाकात होगी. वहीं सिद्धू के घर 21 जुलाई को पहुंचे 62 विधायकों में से एक परगट सिंह ने तो ये भी कहा है कि सिद्धू जनता के प्रति जवाबदेह हैं, न कि अमरिंदर के प्रति, इसलिए माफी मांगने का सवाल ही नहीं उठता.


सिद्धू और CM अमरिंदर सिंह के बीच चल रही तनातनी का कांग्रेस पर क्या असर होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.