Submit your post

Follow Us

पूरे देश में नागरिकता संशोधन क़ानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन, कई नामी लोग हिरासत में

नागरिकता संशोधन क़ानून. नया क़ानून मुस्लिम शरणार्थियों का नाम नहीं लेता है. कहता है कि छः धर्मों से आये लोगों को देश की नागरिकता मिल सकती है. इस नागरिकता की फेहरिस्त में मुस्लिम शरणार्थी शामिल नहीं हैं. और इसलिए हो रहा है विरोध. कहा जा रहा है कि ये संविधान की मूल भावना के खिलाफ है. ऐसा क्यों कहा जा रहा है? क्योंकि संविधान में नागरिकों को धर्म और जाति के आधार पर नहीं बांटा गया है. ना ही नागरिक होने के लिए ही कोई ऐसी शर्त रखी गयी है.

इसलिए, इसके विरोध में आज यानी 19 दिसंबर को पूरे देश में प्रदर्शन हो रहे हैं. लोग कह रहे हैं कि इस क़ानून को वापिस लिया जाए. कहां क्या-क्या चीज़ें बातें हो रही हैं, सब जानिए यहां.

ख़बर देश की राजधानी से

नई दिल्ली में भी इस क़ानून को लेका प्रदर्शन हो रहे हैं. जामिया, सीलमपुर, कालिंदी कुंज का हाल तो सबको पता है. लेकिन आज जब आपके लिए ये खबर तैयार की जा रही है, उस समय दिल्ली मेट्रो के 14 स्टेशन बंद हैं. बंद किये गए स्टेशनों के बारे में दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन ने खुद ओने ट्विटर हैंडल पर दी है.

दिल्ली में वामदलों ने दोपहर 12 बजे से मंडी हाउस से जंतर-मंतर तक मार्च निकालने का आह्वान किया है. लेकिन दिल्ली पुलिस ने जानकारी दी है. चूंकि दिल्ली के कई इलाकों में धारा 144 लागू है, और शान्ति व्यवस्था को बनाए रखना है, इसलिए वामपंथी पार्टियों को मार्च निकालने की अनुमति नहीं दी है.

इसके बाद लाल किले की बात. लाल किले पर सुबह से ही दिल्ली पुलिस की कई टीमें तैनात. प्रदर्शनकारियों का जत्था जैसे-जैसे लाल किले पहुंचता रहा, वैसे-वैसे दिल्ली पुलिस उन्हें गिरफ्तार करती रही. देखिए इण्डिया टुडे का ट्वीट और वीडियो :

वहीं समाचार एजेंसी ANI ने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि दिल्ली में आसपास के जिलों से लोग राजधानी में आ सकते हैं. दिल्ली पुलिस ने आसपास के जिलों से दरख्वास्त की है कि वे दिल्ली बॉर्डर पर सख्ती से नज़र रखें.

वहीं दिल्ली पुलिस ने स्वराज इण्डिया के संस्थापक और राजनेता योगेन्द्र यादव को गिरफ्तार कर लिया है. योगेन्द्र यादव ने खुद ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है. लिखा है,

दिल्ली पुलिस ने मुझे लाल किले पर विभाजनकारी #CAB काननू का शांतिपूर्वक विरोध करने के बाद भी हिरासत में ले लिया है। सभी साथियों को बवाना ले जाया जा रहा है।”

इतिहासकार रामचंद्र गुहा गिरफ्तार प्रसिद्ध इतिहासकार रामचंद्र गुहा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. क्यों? क्योंकि बेंगलुरु समेत पूरे कर्नाटक में राज्य सरकार ने धारा 144 लागू कर दी है. और रामचंद्र गुहा बेंगलुरु में इस नागरिकता संशोधन क़ानून का विरोध करने निकले थे. हाथ में तख्ती लेकर. उनका वीडियो भी वायरल हो रहा है. एक वीडियो में वे कह रहे है कि वे पुलिस के लिए सॉरी महसूस कर रहे हैं. क्योंकि पुलिस को ऐसा करना पड़ रहा है. गुहा से वीडियो उतारने वाले ने पूछा कि क्या वो यहां से कहीं जाएंगे? गुहा ने कहा कि नहीं. वे कहीं नहीं जाएंगे और इस बिल का विरोध करेंगे.

रामचंद्र गुहा ने ये भी कहा कि केवल उन्हों राज्यों में प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है, जहां भाजपा के हाथ में सत्ता है. उन राज्यों में क्यों नहीं ऐसा हो रहा, जहां भाजपा सत्ता में नहीं है?

वहीं कर्नाटक पुलिस ने बेंगलुरु के टाउनहॉल में आये प्रदर्शनकारियों को भी गिरफ्तार कर लिया. पुलिस की बड़ी-बड़ी गाड़ियां आयीं. और प्रदर्शनकारियों को इन गाड़ियों में भर दिया गया.

भाजपा नेता और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येद्दयुरप्पा ने नए नागरिकता क़ानून का स्वागत किया है. कहा है कि विपक्षी कांग्रेस प्रदर्शनकारियों को भड़काने का काम कर रही है.

और महाराष्ट्र से आई अलग खबर महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन हुआ है. भाजपा-शिवसेना सरकार से बाहर. शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस अब सत्ता में. कई फ़िल्मी सितारों और कई नामचीं हस्तियों ने कहा कि हम मुंबई के अगस्त क्रान्ति मैदान में नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में जमा होंगे. आज ही, 19 दिसंबर को. मुंबई पुलिस ने कहा कि अगस्त क्रान्ति मैदान में प्रदर्शन से ट्रैफिक व्यवस्था न बिगड़े, इसलिए लोगों को आने जाने के लिए एक अलग रूट दिया जा रहा है. इसका पालन किया जाए.

अब यूपी से बातें

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के संभल से खबर आ रही है. नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध में प्रदर्शन हो रहे थे. और समाचार एजेंसी ANI ने जानकारी दी है कि संभल में रोडवेज की बस फूंक दी गयी.

पहले ही यूपी के सभी जिलों में धारा 144 लागू कर दी गयी थी. यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने ट्वीट किया, कहा कि प्रदर्शन में हिस्सा न लें.

इसके अलावा प्रदेश की राजधानी लखनऊ से भी नागरिकता संशोधन कानून के विरोध मार्च से हिंसा की खबरें आ रही हैं. खबरें ये कि तमाम शान्ति और क़ानून व्यवस्था के बावजूद प्रदर्शनकारियों ने लखनऊ में प्रदर्शन के दौरान बसों और गाड़ियों में आग लगा दी. यूपी के डीजीपी ओपी सिंह खुद पहुंचे हज़रतगंज स्थित घटनास्थल और घटनाक्रम का जायजा लिया.

और पीएम मोदी के घर गुजरात पर एक नज़र

अहमदाबाद. गुजरात पुलिस ने सदर बाग़ एरिया में जमा हुआ प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कर दिया. एनडीटीवी से बातचीत में एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने कहा कि विरोध प्रदर्शन के लिए इजाज़त नहीं थी. बिना इजाज़त लोगो ने प्रदर्शन किया. इसलिए शान्ति व्यवस्था बनाए रखने के लिए ऐसा करना पड़ा.

और वहीं लोग सबकुछ शेयर कर रहे हैं. लिख रहे हैं. और पूछ रहे हैं – “सब चंगा सी?”


लल्लनटॉप वीडियो : जो सेक्शन 144 जामिया और एएमयू प्रोटेस्ट के बाद लागू हुआ, वो क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

धोनी के फेयरवेल मैच पर ऐसा 'लल्लनटॉप' आइडिया किसी ने सोचा भी नहीं होगा!

इरफान पठान ने निकाला कमाल का आइडिया.

अर्जुन पुरस्कार ना मिलने से नाराज़ साक्षी मलिक ने PM मोदी से पूछे बड़े सवाल

लगातार खुद के लिए अर्जुन पुरस्कार मांग रही हैं साक्षी.

अक्षय कुमार की 'सूर्यवंशी' और रणवीर सिंह की '83' की रिलीज पर तगड़ा अपडेट आया है

दोनों फिल्मों का काफी इंतजार किया जा रहा है.

केंद्र सरकार ने राज्यों से लॉकडाउन को लेकर अब क्या कहा है?

कई राज्यों में अलग-अलग तरह के लॉकडाउन लागू हैं.

सुरेश रैना बोले, अगर ये बैट्समैन होता तो पक्का जीत जाते 2019 विश्वकप!

धोनी तो नहीं जिता पाए लेकिन रैना को इस बैट्समैन से थी पूरी उम्मीद.

आयुष मंत्रालय के सचिव ने हिंदी को लेकर क्या कह दिया कि बवाल कट गया है?

एक्टर और राजनेता कमल हासन ने भी ट्वीट किया है.

कोरोना कब खत्म होगा, WHO ने बता दिया

इस सवाल का जवाब हर कोई चाहता है.

बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा- तबलीगी जमात के खिलाफ प्रोपेगैंडा चलाया गया, 'बलि का बकरा' बनाया गया

29 विदेशी तबलीगी जमात के सदस्यों समेत कई के खिलाफ दर्ज FIR कोर्ट ने रद्द की.

पीएम मोदी और रजनीकांत ने जंगल में जो किया था, अक्षय कुमार भी वही करने जा रहे हैं!

ऐसा करने वाले तीसरे भारतीय होंगे.

सुशांत सिंह की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट की जांच कर रहे AIIMS के डॉक्टर ने बड़ी बात कह दी

शीना बोरा मर्डर और जेसिका लाल मर्डर केस के फॉरेंसिक से जुड़े मसलों को हैंडल कर चुके हैं.