Submit your post

Follow Us

राकेश टिकैत के पैतृक गांव सिसौली में BJP विधायक की गाड़ी पर हमले की पूरी कहानी ये है

मुज़फ्फरनगर में शनिवार, 14 अगस्त को BKU नेता राकेश टिकैत के पैतृक गांव सिसौली में बीजेपी विधायक उमेश मलिक की गाड़ी पर हमले के मामले में 9 नामजद और कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है. इस घटना को लेकर बीजेपी नेताओं ने थाने में ही माइक से कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. वहीं FIR दर्ज होने के बाद विरोधी पक्ष की ओर से पंचायत बुलाई गई थी. क्या है पूरा विवाद समझने की कोशिश करते हैं.

क्या है मामला?

उमेश मलिक बीजेपी की बुढ़ाना विधानसभा सीट से विधायक हैं. उनकी गाड़ी पर उस समय हमला हुआ, जब वह सिसौली के एक कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद वापस लौट रहे थे. उसी दौरान 20 से 25 लोगों ने विधायक की गाड़ी पर काला तेल डाल दिया. आरोप है कि पथराव किया.गाड़ी के शीशे तोड़ दिए. विधायक के गनर और सहायक सहित 4 लोग घायल बताए जा रहे हैं. पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

आज तक के मुजफ्फनगर के रिपोर्टर संदीप सैनी की रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी के पूर्व मंडल अध्यक्ष सिसौली ओमेंद्र मुखिया ने बताया कि गांव में जन कल्याण समिति का स्थापना दिवस था. इसमे विधायक और उन्हें भी आमंत्रित किया गया था. उन्होंने बताया कि जब हम कार्यक्रम स्थल से बाहर निकले तो भीड़ थी. उन्होंने हमारे ऊपर हमला कर दिया. गाड़ी के शीशे तोड़ दिए. कालिख फेंकी, मारपीट की. नरेश टिकैत के भाई भी वहां मौजूद थे.

वहीं विधायक उमेश मलिक का कहना है,

कार्यक्रम में एक घंटे तक यूनियन के लोगों ने नारेबाज़ी करते हुए हंगामा किया. गोलियां चलाईं. जब में वहां से निकला तो रास्ते ब्लॉक कर मेरी गाड़ी पर काला तेल डाल दिया. गाड़ी से नीचे भी नहीं उतर पाया कि गाड़ी के शीशे तोड़ दिए. हमारे पूर्व मंडल अध्यक्ष ओमेंद्र मुखिया, सभासद नामित सहदेव, मेरा गनर कपिल दीपक और मेरे सहायक धर्मेंद्र को चोटें आई हैं.

वहीं विरोध करने वाले किसान अभिजीत बालियान का कहना है,

कार्यक्रम में किसान शांति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे,लेकिन विधायक के लोगों ने किसानों के साथ पहले मारपीट की. इसके बाद किसानों ने उन्हें वहां से हटाने का काम किया. कृषि बिल को लेकर किसानो में गुस्सा है, इसलिए जबतक ये बिल वापस नहीं होगा इनका विरोध किया जाएगा.

थाने में क्या हुआ?

इस घटना के बाद भौराकलां थाने में बीजेपी के विधायक और मंत्रियो के साथ-साथ सैकड़ों बीजेपी कार्यकर्त्ता इकठ्ठा हुए. थाने में ही माइक से नेताओं ने भाषण दिए. बीजेपी के नेता और केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा,

हम भी यहीं रहेंगे. वही इलाका वही खून है. किसी के दिमाग में वहम है तो बिल्कुल काट दो. कप्तान साहब आपलोग कार्रवाई कर लो, नहीं तो बीच में से हट जाओ. (इस बात पर ताली बजती है) सबको अपने कार्यकर्ता प्यारे हैं. हमारे भाई हैं. और मै उम्मीद करूंगा कि आज के बाद जनपद में क़ानून का राज़ क़ायम हो.

हालत को देखते हुए खुद जिलाधिकारी और SSP भी मौके पर पहुंचे. इसके बाद घटना में घायल बीजेपी के पूर्व मंडल अध्यक्ष ओमेंद्र मुखिया द्वारा इस मामले में 9 नामज़द और कुछ अज्ञात लोगों के खिलाफ कई गंभीर धाराओं में मुक़दमा दर्ज कराया गया. तब जाकर बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता शांत हुए.

Sanjeev Baliyan
बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान.

वहीं दूसरी ओर सिसौली गांव में बीकेयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत के द्वारा अचानक पंचायत बुलाई गई. इसमे नरेश टिकैत ने भी खुले मंच से बीजेपी को धमकी दी. उन्होंने कहा,

ये इन्हें चेतावनी है. इनकी गाड़ी पर कालिख पोती गई. ये समझ लियो. ये इनके लिए शुभ लक्षण नहीं है. किसी को पता नहीं था कि इस तरह की बात होगी. अगर इस मामले में फैसला होगा तो इज्ज़त के साथ होगा, वरना मुकदमा दर्ज इस विधायक और जिन्हें इसने बुलाये था उनपर भी होगा. इनकी ये बौखलाहट तो 5 सितंबर की पंचायत की है.

Naresh Tikait
बीकेयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने पंचायत में अपनी बात रखी.

मीडिया से बातचीत में केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा,

एक चुने हुए जनप्रतिनिधि के साथ जो व्यवहार किया गया है वो निंदनीय है. FIR दर्ज हुई है. पुलिस सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी. इस तरह की घटनाएं उन लोगों को शोभा नहीं देतीं जो समाज में कहीं ना कहीं उच्च पदों पर बैठे हैं. अगर कहीं माहौल खराब होता है तो यही लोग जिम्मेदार होंगे. मलिक साहब खटवाल खाप के हैं. वह किसान नेता हैं किसान नेता ही रहें. इसे खाप की लड़ाई ना बनाएं. वह चारों रोल में रहना चाहते हैं. किसान नेता भी, खाप चौधरी भी, राजनीतिक नेता भी तो सभी रोल में ना रहें.

BKU के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने मीडिया से कहा,

यह जो हमारे सांसद हैं, क्षेत्रीय विधायक हैं. किसने बुलाया उन्हें, कौन से कार्यक्रम में आए थे. जो उनके साथ आए थे, उन्होंने गांव वालों को गाली दी. हम तो यही कहते हैं कि यह जो भाजपा के विधायक और सांसद हैं यह किसानों के लड़ाई में ना पड़ें. आज किसानों की प्रतिष्ठा की बात है 9 महीने से किसान आंदोलन पर बैठा है. लोगों के मन में अच्छी भावना नहीं है इनके प्रति. भाजपा के झंडे भी देखना पसंद नहीं कर रहे.

उन्होंने सवाल किया कि भारतीय किसान यूनियन क्या कोई तालिबानी संगठन है जो जिम्मेदारी लेगा.  उन्होंने कहा कि जांच करवा लें हम बच्चों को यूं ही नहीं फंसने देंगे, पढ़ने लिखने वाले बच्चे हैं.


बिजली पर मोदी सरकार के बिल में ऐसा क्या है कि राज्य और किसान विरोध कर रहे हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.