Submit your post

Follow Us

मुंबई: बांद्रा रेलवे स्टेशन पर फिर से वही पुराना सीन सामने आ गया

मुंबई. यहां का बांद्रा रेलवे स्टेशन. मंगलवार, 19 मई को फिर से हज़ारों प्रवासी मजदूर इकट्ठा हुए. यहां से एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन बिहार के पूर्णिया जाने वाली थी. ये लोग श्रमिक स्पेशल ट्रेन से बिहार लौटने के लिए इकट्ठा हुए थे. लेकिन फिर यहां इनकी संख्या नियंत्रण से बाहर होती गई. स्टेशन से बाहर इनकी तादाद हज़ारों में थी.

एएनआई का यह ट्वीट देखिए-

वीडियो में लोगों को देखकर ऐसा लग रहा है कि यहां बीते दिनों जैसे ही हालात हो गए. बांद्रा टर्मिनस के बाहर ये भीड़ पश्चिम रेलवे और मुंबई पुलिस के लिए चिंता का कारण बनी रही. फिर जैसे ही स्थिति नियंत्रण से बाहर होने लगी, मुंबई पुलिस ने सुबह 10 बजे भीड़ को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज कर दिया.

दरअसल, इस ट्रेन में यात्रा करने की अनुमति सिर्फ उन लोगों को थी, जिन्होंने खुद को रजिस्टर्ड कराया था. सोमवार, 18 मई की दोपहर तक उनको टिकट भी उपलब्ध करा दिया गया था.

पश्चिम रेलवे के अधिकारिक बयान के अनुसार,

आज (19 मई, 2020) एक श्रमिक स्पेशल ट्रेन जाने वाली थी. लेकिन रजिस्टर्ड यात्रियों के अलावा भी बहुत सारे लोग स्टेशन के आस-पास इकट्ठा हो गए. हालांकि हमने वैध यात्रियों की जांच करके स्टेशन परिसर में प्रवेश करा दिया. यह ट्रेन दोपहर 12 बजे खुली, जिसमें करीब 1700 यात्री अपने परिवार के साथ यात्रा कर रहे हैं. बाद में पुलिस ने बाहर खड़े लोगों को हटा दिया गया.

यह सब कुछ एक महीना के भीतर दोबारा हो रहा है, जब सैकड़ों की संख्या में प्रवासी मजदूर स्टेशन के बाहर घर जाने के लिए इकट्ठा हो गए. स्टेशन पर मची इस अफरा-तफरी और अव्यवस्था के कारण वैध टिकट वाले कई लोग ट्रेन में नहीं चढ़ सके.



वीडियो देखें: बांद्रा में मजदूरों के इकट्ठा होने पर पुलिस को क्या हाथ लगा है?

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लॉकडाउन 4: दफ़्तरों के लिए क्या गाइडलाइंस हैं?

इस लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी गई हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा की 1000 बसों में कुछ नंबर ऑटो और कार के कैसे निकल गए?

हालांकि संबित पात्रा ने भी जिस बस को स्कूटर बताया, वहां एक पेच है.

मज़दूरों की लाश की ऐसी बेक़द्री पर झारखंड के सीएम कसके गुस्साए हैं

घायल मज़दूरों के साथ अमानवीय व्यवहार करने का आरोप.

कोरोना की वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, जल्द ही आखिरी स्टेज का टेस्ट होने की उम्मीद

जुलाई के महीने को लेकर अहम बात भी कह डाली है.

केजरीवाल ने लॉकडाउन 4 में बहुत सारी छूट दे दी हैं

ऑड-ईवन आ गया, लेकिन ट्रांसपोर्ट में नहीं.

लॉकडाउन 4: पर्सनल गाड़ी से शहर या राज्य के बाहर जाने के क्या नियम हैं?

केंद्र सरकार ने इस पर क्या कहा है?

कोरोना संक्रमण के बीच स्विगी ने बहुत बुरी खबर दी है

दो दिन पहले जोमैटो ने भी ऐसा ही ऐलान किया था.

ममता बनर्जी ने लॉकडाउन के नियमों में बहुत बड़ा बदलाव किया है

केंद्र सरकार की नई बात मानने से मना कर दिया!

लॉकडाउन 4.0: सरकार ने जारी की गाइडलाइंस, जानें क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा

31 मई तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया गया है.

घर जाने को लेकर राजकोट में 500 मज़दूरों का सब्र जवाब दे गया, सड़क पर उतरे

हंगामे के बीच पुलिस घायल, किसी तरह शांत हुआ मामला.