Submit your post

Follow Us

क्या BMC ने दोगुनी कीमत पर खरीदे कोरोना मृतकों के लिए बॉडी बैग?

बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (BMC) पर फ़िज़ूलखर्ची और भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं. बीएमसी लाशों को रखने वाले बैग वेदांत इन्नोटेक नाम की कंपनी से खरीद रही थी. कीमत थी 6917 रुपए प्रति बैग. ये कीमत दूसरे राज्यों में मिलने वाले इसी क्वालिटी के बॉडी बैग से करीब डबल बताई जा रही है. जैसे ही इन आरोपों पर छानबीन की बात उठी, बीएमसी ने ऑर्डर ही रद्द कर दिए हैं.

किस आधार पर दिया गया टेंडर?   

बीएमसी ने अप्रैल में टेंडर जारी किया था. मास्क, दस्ताने, पीपीई किट और बॉडी बैग सहित सुरक्षा उपकरण खरीदने के लिए. बॉडी बैग उपलब्ध करवाने का टेंडर मिला वेदांत इन्नोटेक प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी को. उन्होंने हरेक बैग की कीमत लगाई 6,719 रुपए.

सोशल एक्टिविस्ट अंजलि दमानिया ने आपत्ति जताई कि बॉडी बैग्स की वास्तविक लागत बहुत कम है. ‘इंडिया टुडे’ से बात करते हुए उन्होंने कहा-

“जब मैंने कंपनी की वेबसाइट की जांच की, तो मुझे पता चला कि यह कंपनी धातुओं की ढलाई के काम से संबंधित है और बॉडी बैग से संबंधित इसकी कोई विशेषज्ञता नहीं है. उन्हें इतना बड़ा कॉन्ट्रैक्ट कैसे मिल सकता है? हालांकि अब यह टेंडर रद्द कर दिया गया है, तो सभी को पता होना चाहिए कि ये बॉडी बैग 600 रुपये से 1200 रुपये में आसानी से उपलब्ध हैं. बीएमसी इन्हें 6,719 रुपए की लागत से खरीद रही थी. ये बेहद घिनौना और अस्वीकार्य है.”   

बीएमसी ने अपने बचाव में इन बैग की उच्च क्वालिटी का हवाला दिया है. कहा कि बाकी कंपनियों के बैग लीक टेस्ट में फेल हो गए थे. अब 6719 रुपए प्रति बैग इतनी कम कीमत भी नहीं है कि क्वालिटी की बात कर आरोपों को सिरे से नकारा जा सके. राज्य सरकार को मामले में जांच का आदेश देना ही पड़ा. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा-

“कुछ एक्टिविस्ट 300 रुपये मूल्य की बात कर रहे हैं, जो कि संभव नहीं है. लेकिन यदि कीमतें सामान्य से अधिक हैं, तो हम जांच करेंगे और कार्रवाई की जाएगी.”

BMC की दाढ़ी में तिनका?

जैसे ही स्वास्थ्य मंत्री ने जांच का आदेश दिया, बीएमसी ने टेंडर रद्द कर दिया. बीएमसी कमिश्नर आईएस चहल ने ‘इंडिया टुडे’ से कहा-

“पहले इस कंपनी को ठेका दिया गया था, क्योंकि टेंडर प्रक्रिया में भाग लेने वाली अन्य कंपनियों के प्रोडक्ट लीक टेस्ट में फेल हो गए थे. हमने दिल्ली और जयपुर में भी पूछताछ की, जहां इसी गुणवत्ता के बैग 2500 से 3000 के बीच बहुत कम कीमत पर खरीदे गए. इसलिए हमने टेंडर रद्द करके दोबारा ​टेंडर जारी करने का निर्णय लिया है.”

बीएमसी के टेंडर रद्द करने को अंजलि की जीत के रूप में देखा जा रहा है. इस पर उन्होंने कहा-

“यहां तक कि अमेरिका में भी ऐसे बॉडी बैग 51 डॉलर के मूल्य पर उपलब्ध हैं, जो कि करीब 3900 रुपये होते हैं. हालांकि टेंडर रद्द कर दिया गया है, लेकिन इस टेंडर में जो पैसा खर्च किया, उसे वापस वसूलना चाहिए और दोषियों को दंडित किया जाना चाहिए.”

आपको बता दें कि भारत में महाराष्ट्र राज्य में कोरोना के सबसे ज़्यादा मामले हैं. वहां इस महामारी की वजह से 3590 लोगों की मौत हो चुकी हैं.


वीडियो देखें: ट्विटर ने 1.7 लाख एकाउंट बंद कर दिए हैं, कारण जान कर आपको आश्चर्य होगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना टेस्टिंग पर यूपी सरकार को घेरने वाले पूर्व IAS की पूरी कहानी जानिए!

सूर्यप्रताप सिंह, जिन पर FIR दर्ज हुई.

ज्योतिरादित्य सिंधिया की दूसरी कोरोना जांच रिपोर्ट में क्या निकला?

पिछले दिनों सिंधिया और उनकी मां को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था.

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.