Submit your post

Follow Us

एमएस धोनी लंबे समय बाद 'मैदान' पर उतरे और आते ही कमाल कर दिया

5
शेयर्स

विश्वकप. 6 जुलाई, 2019 का दिन, 49वें ओवर की तीसरी गेंद पर धोनी की वो तेज़ दौड़. गप्टिल की सीधी थ्रो पर धोनी का रन-आउट होना. यही वो आखिरी तस्वीर है जिसे फैंस याद करते हैं. 6 जुलाई के बाद से धोनी को फिर कभी नीली जर्सी में नहीं देखा गया. कभी सेना के लिए तो कभी ड्रेसिंग रूम में खिलाड़ियों की हौसला अफज़ाई के लिए तो दिखे लेकिन मैदान पर नहीं.

न चयनकर्ता साफ-साफ कुछ कहते हैं और न ही कभी धोनी कि वो आएंगे या अब कभी नहीं आएंगे. लेकिन इस बार धोनी की एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जो भारतीय क्रिकेट और एमएस धोनी के करोड़ों फैंस के दिल को बड़ी ठंडक देगी.

अपने घर में समय बिता रहे धोनी को हाल ही में मैदान पर देखा गया. ये खेल का मैदान तो था लेकिन क्रिकेट का नहीं. ‘एमएस धोनी फैंस ऑफिशियल’ नाम के सोशल मीडिया हैंडल के जरिए धोनी का एक वीडियो और तस्वीरें शेयर की गईं हैं. जिनमें धोनी टेनिस खेलते नज़र आ रहे हैं.

बताया गया कि वो जेएससीए स्टेडियम में एक टेनिस टूर्नामेंट खेलने आए हैं. इस टूर्नामेंट का नाम है ‘कंट्री क्रिकेट क्लब टेनिस टूर्नामेंट’. इसके पहले मैच में धोनी को अपने साथी सुमित कुमार के साथ जीत मिली. धोनी ने इस मुकाबले में माइकल और चेल्स को मेन्स डबल में (6-0,6-0) धूल चटा दी.

इस मैच की एक खास बात और रही. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विश्वकप के पहले मैच में धोनी के हाथ पर लगा पैरा मिलिट्री फोर्स का बलिदान बैज तो आपको याद ही होगा. ऐसा ही बैज लेकर धोनी ये टेनिस मैच खेलने उतरे. इस बार ये बैज उनकी टीशर्ट पर था. धोनी भारतीय टैरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद पर मौजूद हैं. साल 2011 में उन्हें ये उपाधि दी गई थी. तब से अकसर वो भारतीय सेना के लिए कुछ न कुछ करते रहे हैं.

ऐसा भी नहीं है कि धोनी सिर्फ क्रिकेट के मैदान पर सुपरहीरो हैं. इसके अलावा भी वो पहले स्कूल टाइम में अपनी फुटबॉल टीम के गोलकीपर रह चुके हैं. जबकि वो बैडमिंटन और गोल्फ भी खेलते रहे हैं.

2018 में भी इस टूर्नामेंट के चैम्पियन थे माही:

महेन्द्र सिंह धोनी साल 2018 में भी इस टूर्नामेंट में खेले थे. वो इस टूर्नामेंट के फाइनल तक पहुंचे थे और चैम्पियन बने थे.


इंडिया Vs बांग्लादेश: ऋषभ पंत ने पहले गलती की और फिर दूसरी बार में बचा लिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.