Submit your post

Follow Us

हे सरकार! 79 पैसे में तो जहर भी नहीं आता जिसे किसान खा ले

सुनने में कितना अच्छा लगता है कि किसानों को उनकी फसल का बीमा मिल जाए तो उन्हें फसल के नुकसान होने का डर नहीं होगा. लेकिन मध्यप्रदेश के किसानों के साथ फसल बीमा के नाम पर खिलवाड़ किया गया है.

बड़वानी जिले के 50 किसानों को बीमा के नाम पर कुल 39 रूपए 92 पैसे मिले हैं. यानी एवरेज निकालें तो हर एक किसान के हिस्से में 79 पैसे आए हैं और ऐसा सिर्फ एक ही जगह का हाल नहीं है.

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को गाजे बाजे के साथ 18 फरवरी, 2016 को शुरू किया गया था. इसके लिए एक भव्य आयोजन हुआ था, जिसमें देश भर से लाखों किसान आए थे. मोदी ने घोषणा की थी कि ‘अन्नदाताओं’ को खरीफ फसल के लिए 2 परसेंट और रबी की फसल के लिए 1.5 परसेंट का प्रीमियम मिलेगा.

पीएम ने इसी इवेंट में कहा था कि इस स्कीम के लिए सब्सिडी में कोई अपर लिमिट नहीं होगी. अब दिसंबर 2016 में 2015 की फसलों के नुकसान के लिए बीमे की रकम बांटी गई है. अब जो ‘बड़ी रकम’ उन्हें मिली है, उस पर नज़र डाल लीजिए.

बड़वानी के बद्री दुधानी को अपनी 12 एकड़ केले की खेती में 80 फीसदी का नुकसान हुआ. उन्हें बीमे के रूप में सिर्फ 79 पैसे मिले थे.

भिंड जिले के 65साल के शंकर दयाल को अपनी 12 बीघे जमीन की फसल के नुकसान के लिए 18.28 पैसे मिले.

10 बीघे जमीन के मालिक राम सिंह कटारे की हालत बाकी लोगों से थोड़ी ‘ठीक’ है. उनकी भी 80 फीसदी फसल बर्बाद हो गई है और उन्हें बीमे में 25 रूपए मिले हैं. इतनी बड़ी रकम वो संभाल पाएंगे या नहीं, पता नहीं.

आगर जिले के पालदा गांव में 50 साल के चंदर सिंह के पास पांच बीघे जमीन है. उनकी पूरी फसल बर्बाद हो गई है और उन्हें भी 25 रूपए मिले हैं. आगर जिले में अकेले एक गांव के 75 किसानों को 250 रूपए मिले हैं.

ये सब तो सिर्फ कुछ वाकये हैं. पूरे प्रदेश में यही हाल है. जितना पैसा किसानों को दिया जा रहा है, उससे ज्यादा पैसा तो इनके चेक छापने में खर्च हो जाता है. किसान बीज खरीदने से लेकर फसल तैयार होने तक जो मेहनत करते हैं, लग रहा है उसका इतना बड़ा इनाम मिला है.

जैसी कि परम्परा है राजस्व मंत्री उमा शंकर गुप्ता ने इसका ठीकरा इंश्योरेंस कंपनी पर फोड़ दिया है.

अंत में सिर्फ इतना ही याद दिलाना था कि पीएम मोदी ने गुजरात में एक रैली में कहा था मैं यहां प्रधानमंत्री के रूप में नहीं, धरती की संतान के रूप में आया हूं.


ये स्टोरी निशांत ने की है. 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र से क्यों कहा- हिंदी में जवाब देना कानून का उल्लंघन?

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र से क्यों कहा- हिंदी में जवाब देना कानून का उल्लंघन?

केंद्र सरकार के अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लेने तक की सलाह दे दी.

अफगानिस्तान: काबुल छोड़ने की कोशिश में प्लेन से गिरकर नेशनल फुटबॉलर की मौत

अफगानिस्तान: काबुल छोड़ने की कोशिश में प्लेन से गिरकर नेशनल फुटबॉलर की मौत

19 साल के जाकी अनावरी अफगानिस्तान के उभरते फुटबॉलर थे.

विकी कौशल की बहुप्रतीक्षित फ़िल्म 'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा'  के साथ बड़ा पंगा हो गया

विकी कौशल की बहुप्रतीक्षित फ़िल्म 'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा' के साथ बड़ा पंगा हो गया

'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा' का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे फैन्स को ये खबर ज़रूर पढ़नी चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सूची में शामिल ये जज देश की पहली महिला CJI हो सकती हैं?

सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सूची में शामिल ये जज देश की पहली महिला CJI हो सकती हैं?

CJI एनवी रमना की अध्यक्षता वाले सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने 9 जजों के नाम की सिफारिश की.

अमरीका में बजी फ़ोन की घंटी और अफ़ग़ानिस्तान से 120 भारतीय नागरिक बचकर इंडिया आ गए!

अमरीका में बजी फ़ोन की घंटी और अफ़ग़ानिस्तान से 120 भारतीय नागरिक बचकर इंडिया आ गए!

भारत की धरती पर उतरते ही यात्रियों ने लगाए भारत माता की जय के नारे.

काबुल से निकलने के लिए लगाई जान की बाजी, हवाई जहाज पर लटके लोग आसमान से गिरे!

काबुल से निकलने के लिए लगाई जान की बाजी, हवाई जहाज पर लटके लोग आसमान से गिरे!

वीडियो में देखिए काबुल एयरपोर्ट के रूह कंपाने वाले हालात.

स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से PM मोदी ने किस-किसका शुक्रिया अदा किया?

स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से PM मोदी ने किस-किसका शुक्रिया अदा किया?

100 लाख करोड़ की गतिशक्ति योजना लॉन्च होगी.

शौर्य चक्र से सम्मानित इन 6 जवानों की कहानियां हर किसी को सुननी चाहिए

शौर्य चक्र से सम्मानित इन 6 जवानों की कहानियां हर किसी को सुननी चाहिए

कैप्टन आशुतोष कुमार को मरणोपरांत शौर्य चक्र मिल रहा है.

पेट्रोल के दाम में भारी कटौती हो गई है!

पेट्रोल के दाम में भारी कटौती हो गई है!

कुछ पैसों की नहीं, पूरे 3 रुपये की कटौती हुई है!

तेज प्रताप यादव पत्रकारों को किस बात पर धमका रहे हैं?

तेज प्रताप यादव पत्रकारों को किस बात पर धमका रहे हैं?

पोस्टर वॉर के पीछे की कहानी क्या है?