Submit your post

Follow Us

दिल्ली से मॉस्को की उड़ान, रास्ते में पता चला पायलट को कोरोना है, 1800 किमी जा चुकी फ्लाइट वापस लौटी

दिल्ली से रूस की राजधानी मॉस्को के लिए एयर इंडिया का विमान रवाना हुआ. लेकिन बीच रास्ते ही उसे वापस आना पड़ा. क्यों? क्योंकि फ्लाइट का एक पायलट कोरोना पॉजीटिव पाया गया. पायलट ने कोरोना का टेस्ट पहले कराया था. लेकिन विमान उड़ने के बाद रिजल्ट आया. हालांकि विमान खाली था. इसमें कुल चार पायलट और कुछ क्रू मेम्बर ही थे.

उजबेकिस्तान के आसमान में उड़ रहा था विमान

एयर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी. बताया कि वंदे भारत मिशन के तहत एयर इंडिया का AI-1945 विमान मास्को में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए निकला था. विमान 30 मई (शनिवार) सुबह रवाना हुआ था. लेकिन बाद में पता चला कि विमान में सवार एक पायलट कोरोना वायरस संक्रमित है. जिस वक्त यह जानकारी मिली उस वक्त विमान उजबेकिस्तान के ऊपर से उड़ रहा था. दिल्ली से उजबेकिस्तान की दूरी करीब 1800 किलोमीटर है.

विमान शनिवार को सुबह 12.30 बजे दिल्ली आ गया. विमान के सभी सदस्यों को क्वारंटीन किया गया है.

नक्शे में बैंगनी लाइन मॉस्को के लिए रवाना हुए विमान के जाने और आने का रूट दिखा रही है. (Photo: FlightRadar24)
नक्शे में बैंगनी लाइन मॉस्को के लिए रवाना हुए विमान के जाने और आने का रूट दिखा रही है. (Photo: FlightRadar24)

भारतीयों को लाने दूसरा विमान जाएगा

अधिकारी ने आगे कहा कि विमान मॉस्को में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए जा रहा था. इसलिए निर्णय लिया कि भारतीयों को लाने के लिए दूसरे विमान को मॉस्को भेजा जाएगा.

जांच के आदेश जारी

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने बयान जारी कर कहा कि जांच के लिए आदेश दिए गए हैं. पता लगाया जाएगा कि इस तरह की गलती कैसे हुई?

बता दें कि अभी अंतरराष्ट्रीय विमानों के उड़ने पर प्रतिबंध है. कोरोना वायरस के चलते यह कदम उठाया गया. ऐसे में विदेशों में भारतीयों को लाने के लिए सरकार विशेष विमान भेज रही है.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: इस शराब व्यापारी ने परिवार के चार लोगों के लिए फ्लाइट की 180 सीटें बुक कर ली!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.

जिस मंदिर के पास हजारों करोड़ रुपये हैं, उसके 50 प्रॉपर्टी बेचने के फैसले पर हंगामा क्यों हो गया

साल 2019 में इस मंदिर के 12 हजार करोड़ रुपये बैंकों में जमा थे.

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को हुआ था.

दो महीने बाद शुरू हुई हवाई यात्रा, जानिए कैसा रहा पहले दिन का हाल?

दिल्ली में पहले दिन 80 से ज्यादा उड़ानें कैंसिल क्यों करनी पड़ी?

बलबीर सिंह सीनियर: तीन बार के हॉकी गोल्ड मेडलिस्ट, जिन्होंने 1948 में इंग्लैंड को घुटनों पर ला दिया था

हॉकी लेजेंड और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और कोच बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन.