Submit your post

Follow Us

हैकर्स ने Zoom के पांच लाख से ज्यादा अकाउंट्स बेच दिये, 15 पैसे से भी कम कीमत पर

दुनियाभर के दफ्तरों में वर्क फ्रॉम होम चल रहा है. लॉकडाउन के चलते. वर्क फ्रॉम होम के दौरान मीटिंग और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के लिए जिस ऐप का सबसे ज्यादा इस्तेमाल हो रहा है, वो है ज़ूम मीटिंग ऐप. इस ऐप की सिक्योरिटी को लेकर शुरुआत से ही सवाल उठते रहे हैं. अब साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर्स को पता चला है कि पांच लाख से ज्यादा Zoom अकाउंट या तो बेच दिए गए या फिर फ्री में दिए गए. बिजनेस इनसाइडर ने ब्लीडिंग कंप्यूटर की रिपोर्ट के हवाले से बताया है कि ऐसा डार्क वेब पर हुआ है. डार्क वेब को अभी के लिए इसे इंटरनेट अंडरवर्ल्ड समझ लीजिए. इसे आसान भाषा में फिर कभी बताएंगे. फिलहाल ज़ूम पर लौटते हैं.

साइबर सिक्योरिटी फर्म साइबेले ने क्या कहा?

साइबर सिक्योरिटी फर्म साइबेले ने ब्लिपिंग कंप्यूटर को बताया कि उसने हैकर्स फोरम्स में ज़ूम अकाउंट्स को सर्च करना शुरू कर दिया था. 1 अप्रैल से. ताकि हैकर कम्युनिटी में लोग उन्हें पहचानने लगें. इसके बाद उनके पास टेक्स्ट मैसेज और वॉट्सऐप के जरिए अकाउंट्स की डिटेल्स आने लगीं. इसके बाद साइबेले ने 5 लाख 30 हज़ार अकाउंट्स को 15 पैसे प्रति अकाउंट के रेट पर खरीद लिया.

अकाउंट डिटेल में यूजर्स की ज़ूम ईमेल आईडी, पासवर्ड, पर्सनल मीटिंग URL और छह डिजिट के मीटिंग पिन शामिल थे. साइबेले के मुताबिक, बिक्री के लिए कई बड़ी कंपनियों और यूनिवर्सिटीज़ के ज़ूम अकाउंट भी उपलब्ध थे.

Zoom ने इस डेटा ब्रीच को लेकर कोई जानकारी नहीं दी है. अगर आप ज़ूम का इस्तेमाल करते हैं सुरक्षा नजरिए से बेहतर ये रहेगा कि पासवर्ड बदलकर स्ट्रॉन्ग पासवर्ड रख लें. सुरक्षा और प्राइवेसी को देखते हुए गूगल ने भी अपने कर्मचारियों के लिए ज़ूम ऐप के इस्तेमाल पर बैन लगा दिया था.

इस लिंक पर क्लिक करके, ईमेल आईडी डालकर आप चेक कर सकते हैं कि डेटा ब्रीच में आपकी आईडी हैक हुई है या नहीं.

प्राइवेसी को लेकर ज़ूम का क्या कहना है?

कंपनी का कहना है कि वो एंड टु एंड एन्क्रिप्शन देती है. लेकिन बाद में पता चला कि ये एंड टु एंड एन्क्रिप्शन सिर्फ Zoom पर किए गए टेक्स्ट चैट के लिए है. जबकि ज्यादातर लोग इस ऐप पर वीडियो कॉलिंग करते हैं. वीडियो कॉलिंग के लिए ये कंपनी एंड टु एंड एन्क्रिप्शन नहीं देती है.

Zoom के प्रवक्ता ने कहा है कि फिलहाल वीडियो कॉलिंग के लिए एंड टु एंड एन्क्रिप्शन देना संभव नहीं है. हालांकि कंपनी ने ये भी कहा है कि वीडियो कॉलिंग के लिए TLS एन्क्रिप्शन अभी भी है. यानी यूजर का डेटा जूम के सर्वर और यूजर्स के बीच एन्क्रिप्टेड होता है. एंड टु एंड एन्क्रिप्शन में कोई भी थर्ड पार्टी किसी भी हालत में यूजर का डेटा नहीं हासिल कर सकती है.


विडियो- ज़ूम विडियो कॉलिंग ऐप के इस्तेमाल पर नेशनल साइबर सिक्योरिटी एजेंसी ने उठाए सवाल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

कहा- आर्टिकल 370 को हटाया जाना चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा.

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों तक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

जस्टिस एनवी रमन्ना अगले संभावित चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन सकते हैं.

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

स्टूडेंट्स, अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूल जा सकते हैं.