Submit your post

Follow Us

ख़जाना खाली, एक बार फिर RBI के दरवाज़े पर पहुंची मोदी सरकार!

देश की अर्थव्यवस्था ठीक नहीं है. आर्थिक विकास दर 11 साल के न्यूनतम स्तर 5 फीसदी पर पहुंचने का अनुमान लगाया गया है. सरकार का रेवेन्यू तेजी से घट रहा है. इस बीच खबर आ रही है कि मोदी सरकार एक बार फिर आरबीआई का दरवाजा खटखटाने जा रही है. केंद्र सरकार रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से 45 हजार करोड़ की मदद मांग सकती है. न्‍यूज एजेंसी रॉयटर्स के हवाले से खबर आई है.

अभी अगस्त की ही तो बात है, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया यानी आरबीआई ने सरकार को 1.76 लाख करोड़ रुपए दिए थे. इनमें से चालू वित्त वर्ष के लिए 1.48 लाख करोड़ रुपये थे. इस वित्त वर्ष में अब तक 1,23,414 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं, जो अब तक एक साल में किए गए ट्रांसफर में सबसे ज्यादा है. इसके अलावा रिजर्व बैंक ने 52,637 करोड़ रुपये अलग से ट्रांसफर किए थे. इसे लेकर विवाद भी हुआ था.

फिर से पैसे की जरूरत क्यों पड़ रही है?

रॉयटर्स को एक अधिकारी ने बताया कि चालू वित्त वर्ष काफी मुश्किल है. इस साल आर्थिक सुस्ती के चलते विकास दर 11 साल के सबसे निचले स्तर पर रह सकती है. ऐसे में आरबीआई से मिली वित्तीय मदद से सरकार को राहत मिल सकती है. सूत्र ने कहा कि सरकार को 35 से 45 हजार करोड़ रुपये तक के मदद की जरूरत है.
क्यों आया ये संकट?

वित्त वर्ष 2019-20 के लिए सरकार ने रेवेन्यू का लक्ष्य 19.6 लाख करोड़ रुपये रखा है. लेकिन मंदी की वजह से उम्मीद के मुताबिक कमाई नहीं हो रही है. कॉरपोरेट टैक्स रेट में कटौती के कारण हर साल खजाने पर 1.5 लाख करोड़ का बोझ बढ़ा है. इसके अलावा जीएसटी से भी हर महीने उम्मीद के मुताबिक कमाई नहीं हो पा रही है.

पहली बार जब सरकार ने आरबीआई से पैसा मांगा तो उसने देने से इंकार कर दिया. फिर सरकार ने बिमल जालान की अध्यक्षता में कमिटी बना दी. कमिटी ने बताया कि आरबीआई सरकार को कितना पैसा दे सकता है. हालांकि सरकार को बिमल जालान कमिटी से ये उम्मीद थी कि सरकार को ज्यादा पैसे मिलेंगे. पहले 3.96 लाख करोड़ की मांग की गई थी. लेकिन आरबीआई ने लाल झंडी दिखा दी थी. इसके बाद 1.76 करोड़ लाख देने पर सहमति बनी थी.

आरबीआई के पास कितना पैसा है?

रिज़र्व बैंक के पास 4 तरह के खाते होते हैं. RBI के 2017-18 के आंकड़ों के मुताबिक उसके पास करीब 9 लाख 60 हजार करोड़ रुपए का रिज़र्व है. ये चार खाते हैं :

करेंसी एंड गोल्ड रिजर्वः RBI के पास करीब 6.95 लाख करोड़ रुपए का मुद्रा और गोल्ड स्टॉक है. मतलब इतने रुपए के मूल्य का सोना और नोट-सिक्के आरबीआई के पास हैं.

एसेट डेवलपमेंट फंडः इस खाते में आरबीआई के पास 22,811 करोड़ रुपए हैं.

निवेश खाताः इस अकाउंट में 13,285 करोड़ रुपए हैं.

कंटिंजेंसी फंडः इस खाते को आकस्मिक निधि अकाउंट बोला जाता है. ये सबसे अहम अकाउंट है. रिज़र्व बैंक अपने कामकाज से जो लाभ कमाता है. उसका एक हिस्सा कंटिंजेंसी फंड में आता है. RBI की कमाई का दूसरा हिस्सा सरकार को लाभांश यानी डिविडेंड के रूप में दिया जाता है. करेंसी एंड गोल्ड रिजर्व के बाद इसी खाते में सबसे ज्यादा पैसा है.

RBI की आमदनी कैसे होती है?

1.रिजर्व बैंक खुले बाजार से सरकारी बॉन्ड खरीदता है. इनके बदले उसे एक तय ब्याज मिलता है. और ये ब्याज RBI की आमदनी होता है.
2.सरकार और बैंक रिज़र्व बैंक से उधार लेते हैं. इसकी फीस और ब्याज से भी रिज़र्व बैंक की कमाई होती है.
3.रिज़र्व बैंक विदेशी करेंसी अपने पास रखता है. उस करेंसी को लोकल करेंसी से एक्सचेंज भी करता है. इसके बदले RBI को कमीशन मिलता है.


अर्थात: आयुष्मान भारत योजना के बावजूद क्यों हेल्थ सेक्टर अगले दशक का सबसे बड़ा चैलेंज है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गैंगस्टर विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया

एक दिन पहले ही उज्जैन के महाकाल से पकड़ा गया था विकास दुबे.

कानपुर कांड : आरोपी की गिरफ़्तारी में सच कौन बोल रहा? यूपी पुलिस या आरोपी के घरवाले?

वीडियो में क्या कहा कानपुर कांड के आरोपी ने?

विकास दुबे को बचाने के लिए अपने ही साथियों को धोखा देने वाले दो पुलिसवाले धर लिए गए हैं

घटना में आठ पुलिसवाले शहीद हुए थे.

PM Cares के पैसों से बने वेंटिलेटर पर सवाल उठे तो बनाने वाले ने राहुल गांधी को घेर लिया

कहा कि राहुल गांधी के सामने डेमो दिखा सकता हूं.

क्या गलवान में पीछे हटकर चीन 1962 वाली चाल दोहरा रहा है?

58 साल पहले भी ऐसा ही हुआ था. पहले चीन गलवान में पीछे हटा और कुछ दिन बाद भारत पर हमला कर दिया.

सरकार ने वो आदेश दिया है कि कंपनियां मास्क और सैनिटाइज़र के दाम में मनचाहा बदलाव कर सकती हैं

राज्यों ने शिकायत नहीं की, तो सरकार ने आदेश निकाल दिया

बुरी खबर! 'मेरे जीवनसाथी', 'काला सोना' जैसी फ़िल्में बनाने वाले प्रड्यूसर हरीश शाह नहीं रहे

कैंसर से जारी जंग आखिरकार हार गए.

दिल्ली की जेल में सजा काट रहे सिख दंगे के दोषी नेता की कोरोना से मौत हो गई

विधायक रह चुके इस नेता की कोरोना रिपोर्ट 26 जून को पॉज़िटिव आई थी.

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.