Submit your post

Follow Us

कोरोना को लेकर केंद्र सरकार की ओर से जारी नई गाइडलाइंस में क्या खास है?

कोविड-19 को लेकर गृह मंत्रालय ने बुधवार 25 नवंबर को नए दिशा-निर्देश जारी किए. इनमें कोरोना की निगरानी, ​​​​नियंत्रण और सावधानी को लेकर निर्देश दिए गए हैं. सरकार के ये नए दिशा-निर्देश एक दिसंबर से प्रभावी होंगे और 31 दिसंबर तक लागू रहेंगे. इसके तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को कड़ाई से कोरोना वायरस की रोकथाम के उपाय करने और भीड़ को सख्ती से नियंत्रित करने को कहा गया है. राज्यों को रात में कर्फ्यू लगाने के भी अधिकार दिए गए हैं.

क्या-क्या है नई गाइडलाइन में?

#राज्य और केंद्र शासित प्रदेश स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशा-निर्देशों के मुताबिक माइक्रो लेवल पर कंटेनमेंट जोन को लेकर फैसला करेंगे.
#जिला कलेक्टर और राज्यों को कंटेनमेंट जोन की लिस्ट वेबसाइट पर जारी करनी होगी. इसे हेल्थ मिनिस्ट्री के साथ भी शेयर करना होगा.
#राज्य को कंटेनमेंट जोन में नियमों का सख्ती से पालन कराना होगा. सर्विलांस सिस्टम को मजबूत करना होगा.
#सिर्फ जरूरी चीजों और मेडिकल जरूरतों के लिए छूट मिलेगी.
#कंटेनमेंट जोन के बाहर किसी प्रकार का लॉकडाउन लगाने से पहले राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों को केंद्र से अनुमति लेनी होगी.
#राज्य कंटेनमेंट जोन के बाहर रात्रिकालीन कर्फ्यू जैसी पाबंदियां लगा सकते हैं.
#सर्विलांस टीम घर-घर जाकर कोरोना के लक्षण वालों की पहचान करेगी, प्रोटोकॉल के हिसाब से टेस्टिंग कराई जाएगी.
#संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने वाले लोगों की लिस्ट बनाई जाए. उनकी पहचान कर ट्रैक किया जाए और क्वारंटीन किया जाए
#संक्रमित व्यक्ति का तुरंत इलाज शुरू किया जाए. होम आइसोलेशन में रखा जाए, जरूरत होने पर अस्पताल में भर्ती किया जाए.
#पाबंदियां लागू करने और नियमों के पालन के लिए लोकल डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन और पुलिस जिम्मेदार होगी.
#फेस मास्क पहनना होगा, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा.
#पब्लिक और वर्क प्लेस पर मास्क नहीं पहनने पर राज्य जुर्माना लगा सकते हैं.
#भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे मार्केट, साप्ताहिक बाजार, पब्लिक ट्रांसपोर्ट आदि के लिए हेल्थ मंत्रालय गाइडलाइंस जारी करेगा, जिनका राज्यों को सख्ती से पालन कराना होगा.
#कंटेनमेंट जोन के बाहर अन्य गतिविधियों की अनुमति होगी, जो पहले से चल रही हैं.
#धार्मिक, सामाजिक खेल या मनोरंजन से जुड़े कार्यक्रमों में 200 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो सकते.
#अगर राज्य सरकारें चाहें तो इस संख्या को 100 या उससे भी कम पर सीमित कर सकती हैं.
#जिन शहरों में साप्ताहिक केस पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत से ऊपर रहेगी, वहां दफ्तरों, फैक्ट्रियों, दुकानों आदि में वर्किंग आवर अलग-अलग समय पर करने की सलाह दी गई है.
#एक राज्य से दूसरे राज्य या किसी राज्य के ही भीतर लोगों और सामानों की आवाजाही पर कोई रोक नहीं रहेगी.
#आवाजाही के लिए अलग से किसी भी तरह के परमिट/ई-परमिट की जरूरत नहीं होगी.
#सीनियर सिटीजन, 10 साल के छोटे बच्चों और प्रेग्नेंट महिलाओं को घर में ही रहने को कहा गया है.

यूपी में छह महीने के लिए एस्मा लागू

केंद्र सरकार की इन गाइडलाइंस के अलावा यूपी सरकार ने भी कोरोना के मद्देनजर एक अहम आदेश जारी किया है. इसके जरिए उत्तर प्रदेश में अगले छह महीने के लिए आवश्‍यक सेवा अनुरक्षण कानून (एस्मा एक्ट) लागू कर दिया गया है. यानी अगले छह महीने तक प्रदेश में किसी भी तरह की हड़ताल पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है. इस एक्ट के लागू होने के बाद आवश्यक सेवाओं में लगे सरकारी कर्मचारी किसी तरह की हड़ताल पर नहीं जा सकेंगे. अगर कोई भी कर्मचारी हड़ताल करेगा तो उस पर सख्त एक्शन लिया जा सकेगा.

राज्य या केंद्र सरकार जरूरत के हिसाब से एस्मा एक्ट को लागू करती हैं. इस कानून को ऐसे वक्त में लागू किया जाता है, जब राज्य में कर्मचारियों की जरूरत अधिक हो. इससे पहले मार्च में भी यूपी सरकार की ओर से कोरोना काल में ऐसा ही फैसला लिया गया था.


विडियो: कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर मोदी सरकार की तैयारी कहां तक पहुंची है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीने तक कोविड-19 से लंबी जंग लड़ी

पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने दुख जताया.

कंगना-रंगोली पर सेडिशन केस की सुनवाई करते बॉम्बे हाईकोर्ट ने बहुत ज़रूरी बात कही है

"क्या हम अपने नागरिकों के साथ ऐसा व्यवहार करेंगे?”

दिल्ली दंगा : चार्जशीट में फ़ोटो लगाकर पुलिस ने कहा, 'ये दंगे को लेकर सीक्रेट मीटिंग हुई है'

इसके अलावा वाट्सऐप चैट को लेकर दिल्ली पुलिस ने क्या दावा किया?

दंगे की चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने कहा, 'पटना में बैठकर उमर ख़ालिद ने दिल्ली में दंगा भड़काया'

दिल्ली पुलिस ने किस सीक्रेट ऑफ़िस की बात की है?

डॉक्टर कर रहे थे दिमाग की सर्जरी और मरीज टीवी पर देख रहा था 'बिग बॉस'!

चौंक गए ना आप? चलिए बताते हैं कि आखिर ये मामला क्या है.

ड्रग्स केस: कॉमेडियन भारती सिंह को तीन घंटे की पूछताछ के बाद NCB ने गिरफ्तार किया

मुंबई स्थित घर से एजेंसी ने गांजा बरामद किया था.

मुकेश भाई की रिलायंस के दिए 19 किलो सोने से सजा कामख्या मंदिर देख लो

गुवाहाटी के इस मंदिर की गिनती देश के सबसे पुराने शक्त पीठों में होती है.

नाम से नफरत थी, शिवसेना के नेता ने दे डाला 'कराची स्वीट्स' को अल्टिमेटम

दुकानदार ने साइन बोर्ड पर छिपा दिया 'कराची' शब्द

एक और प्राइवेट बैंक का बंटाधार? RBI को लगानी पड़ी पैसे निकालने की लिमिट

PMC और यस बैंक की तरह ही अब इस बैंक पर भी लगा मोरेटोरियम.

तबलीगी जमात पर सरकार के किस जवाब से सुप्रीम कोर्ट खफा हो गया

तुषार मेहता से सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?