Submit your post

Follow Us

नए पासपोर्ट में कमल का फूल क्यों छपा है? विदेश मंत्रालय ने इसका जवाब दिया

संसद का शीतकालीन सत्र चल रहा है. कई अहम बिल पास हो रहे हैं. कई मुद्दों पर चर्चा हो रही हैं. इन सबके बीच 11 दिसंबर के दिन लोकसभा में नए पासपोर्ट का मुद्दा उठा. कोझीकोड से कांग्रेसी सांसद एम.के. राघवन ने सवाल किया कि नए पासपोर्ट में कमल का फूल क्यों बनाया जा रहा है.

दरअसल, हाल ही में कोझीकोड में जो नए पासपोर्ट जारी हुए हैं, उनमें कमल का फूल छपा हुआ है. इस पर ही राघवन ने सवाल उठाया था. एक न्यूज़ पेपर का हवाला देते हुए कहा था कि ये कदम ‘भगवाकरण’ करने के लिए उठाया गया है, क्योंकि कमल का फूल बीजेपी का सिंबल है. उन्होंने सरकार से अपील की थी कि इन पासपोर्ट्स को वापस लिया जाए और इस मामले की जांच की जाए.

कमल का फूल पासपोर्ट में उस जगह बना है, जहां पासपोर्ट अधिकारी साइन करते हैं और सील लगती है.

विदेश मंत्रालय ने क्या वजह बताई
कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने भी इसका विरोध किया था. उन्होंने विदेश मंत्री एस. जयशंकर से जवाब देने की अपील की थी. 12 दिसंबर को विदेश मंत्रालय ने जवाब दिया. कहा कि सुरक्षा बढ़ाने के लिए ये कदम उठाया गया है. साथ ही ये भी कहा कि दूसरे राष्ट्रीय प्रतीकों का इस्तेमाल भी पासपोर्ट में रोटेशनल बेसिस पर किया जाएगा.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने इसके बारे में बताते हुए कहा, ‘कमल हमारा राष्ट्रीय फूल है. फेक पासपोर्ट रोकने के लिए, सुरक्षा को बढ़ाने के लिए हमने पासपोर्ट में इसे छापा है. कमल के अलावा बाकी राष्ट्रीय प्रतीकों का इस्तेमाल भी किया जाएगा. अभी हमने कमल का छापा है. अगले महीने पासपोर्ट में कोई और प्रतीक बनाया जाएगा. ये सारे प्रतीक भारत से जुड़े हुए हैं.’


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

जिस वीडियो में भारत-चीन के सैनिक एक-दूसरे पर मुक्के बरसा रहे हैं, उसका सच क्या है?

वीडियो कब का है, कहां का है?

इंग्लैंड टूर से पहले पाकिस्तान के तीन क्रिकेटर कोविड पॉज़िटिव

अहम टूर से पहले पाकिस्तान को लगा झटका.

पटना के बैंक में दिन-दहाड़े 52 लाख रुपए की डकैती

अपराधियों ने बैंक में लगे CCTV की हार्ड डिस्क तोड़ दी.

अब लद्दाख की पैंगोंग झील के पास चीन की हरकत, भारतीय क्षेत्र में बना रहा है बंकर

सैटेलाइट इमेज एक्सपर्ट की बातें यही इशारा कर रही हैं.

भारतीय सेना के पूर्व अधिकारियों ने किस बात पर आपस में भयानक झगड़ा फ़ान लिया?

गौरव आर्या ने भीड़ से पिट जाने की बात कह डाली.

रेलवे की नौकरी के भरोसे न बैठें, रेलवे की जेबें खाली हैं!

कोरोना लॉकडाउन ने रेलवे का हाल खस्ता कर दिया है.

गलवान घाटी में भारत से लड़ाई पर चीन के लोग किस-किस तरह के सवाल उठा रहे हैं?

चीनी टि्वटर 'वीबो' पर कई पोस्ट लिखी गई हैं.

Exclusive: गलवान घाटी में 15 जून को तीन बार हुई लड़ाई में क्या-क्या हुआ था, विस्तार से जानिए

तीसरी लड़ाई के बाद भारत ने 16 चीनी सैनिकों के शव सौंपे थे.

राज्यसभा की 18 सीटों में से कांग्रेस और बीजेपी ने कितनी जीतीं?

एक और पार्टी है जिसने कांग्रेस जितनी सीटें जीती हैं.

दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन ऑक्सीजन सपोर्ट पर, दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किए गए

कुछ दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव आए थे, अब प्लाज़मा थेरेपी दी जाएगी.