Submit your post

Follow Us

चोटिल बेटे को खटिया पर लादकर 900 किमी दूर घर के लिए निकल पड़ा ये मज़दूर

कोरोना वायरस और लॉकडाउन के इस वक्त में तमाम ऐसी तस्वीरें सामने आ रही हैं, जहां मज़दूर अकेले या अपने परिवार के साथ पैदल-पैदल एक जगह से दूसर जगह चले जा रहे हैं. अब ऐसी ही एक और तस्वीर आई है.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है, जिसमें मज़दूर अपने चोटिल बेटे को चरपाई के सहारे कंधे पर लादकर ले जा रहा है. उनके साथ परिवार के कई लोग हैं, कई साथी मज़दूर भी हैं, जो मदद कर रहे हैं. बारी-बारी सब लोग चारपाई पकड़ रहे हैं. ये वीडियो पत्रकार साहिल मुरली ने ट्वीट किया, जिसके बाद सोशल मीडिया पर तेजी से सर्कुलेट होने लगा.

मज़दूर का नाम बृजेश है. वे परिवार और कुछ साथी मज़दूरों के साथ चोटिल बेटे को लेकर पंजाब से निकले हैं. कुल 15 लोग हैं. मध्यप्रदेश जा रहे हैं. करीब 900 किमी की दूरी तय करके. इंडिया टुडे से जुड़े रिपोर्टर रंजय सिंह ने बताया कि ये मज़दूर मध्यप्रदेश के सिंगरौली के रहने वाले हैं. पंजाब में रहकर काम कर रहे थे. लेकिन अब काम नहीं रहा, तो वापस जा रहे हैं. कोई साधन नहीं मिला तो चोटिल बेटे को लादकर पैदल ही पंजाब से मध्यप्रदेश निकल पड़े. जब ये लोग उत्तर प्रदेश में कानपुर के आस-पास पहुंचे, तब ये वीडियो शूट किया गया. यहां से पुलिस ने इन लोगों को घर भेजे जाने की व्यवस्था की.

अलग-अलग सरकारों की तरफ से प्रवासी मज़दूरों को घर भेजे जाने की व्यवस्थाएं की गई हैं. जैसे कि श्रमिक ट्रेन. लेकिन फिर भी ये सुविधाएं भी अभी हर किसी तक पहुंच नहीं पा रही हैं. इसी वजह से लगातार प्रवासियों की इस तरह की तस्वीरें आ रही हैं. 16 मई को कुछ मज़दूर इसी तरह दिल्ली से होकर गुज़र रहे थे, जिनसे कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मुलाकात की थी.


UP के औरैया में ट्रकों की टक्कर में 24 मज़दूरों की मौत, पीड़ित परिवार को सरकार देगी मुआवजा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

बेटियों को टोकरी में बिठाकर ले जा रहे मजदूर ने पुलिस से ऐसी उम्मीद नहीं की होगी

सोशल मीडिया पर वायरल इस फोटो के बारे में जान लीजिए.

मज़दूरों ने कोरोना-कोरोना कहकर अमृत को ट्रक से उतारा, लेकिन दोस्त याकूब ने नहीं छोड़ा साथ

कोरोना का दौर खत्म होना चाहिए, पर ऐसी कहानियों का नहीं.

योगी का एक फैसला और घर जा रहे हज़ारों मज़दूरों को दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर पुलिस ने रोका

सीएम योगी ने जिलाधिकारियों को बसों की व्यवस्था करने के निर्देश दिए थे.

लॉकडाउन: घर का किराया देने के भी पैसे नहीं बचे थे, टीवी एक्टर ने फांसी लगा ली

डिप्रेशन और आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे.

यूपी में पैदल, ट्रक या अवैध वाहन से मज़दूरों की एंट्री पर योगी सरकार ने लगाया बैन

औरैया की घटना के बाद सीएम योगी ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए.

कांग्रेस की कौन सी योजना पीएम मोदी से लागू करने के लिए कह रहे हैं राहुल गांधी

राहुल ने दिल्ली में सड़क पर चलते मजदूरों से मुलाकात की.

निर्मला सीतारमण ने 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की चौथी किश्त में किसे क्या दिया?

वित्त मंत्री ने आठ सेक्टरों से जुड़े ऐलान किए हैं.

वित्त मंत्रालय के मुख्य आर्थिक सलाहकार राहत पैकेज की बातों के बीच ख़िलजी का ज़िक्र क्यों कर रहे हैं

आज तक ई एजेंडा में संजीव सान्याल ने बताया.

मोदी ने CM रहते जो सिफारिशें कीं, 9 साल बाद सीतारमण ने उन्हें लागू किया

मामला मनमोहन सरकार में बनी एक कमिटी से जुड़ा है.

बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ट्विटर पर फेक न्यूज से नफरत फैला रहे थे, दिल्ली पुलिस ने हड़का दिया

हालांकि पुलिस ने कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की.