Submit your post

Follow Us

मनीष गुप्ता मर्डर केस: होटल का CCTV फुटेज सामने आया और सब साफ हो गया!

मनीष गुप्ता कथित हत्याकांड से जुड़ा एक CCTV फुटेज सामने आया है. फुटेज गोरखपुर के उसी होटल का है, जहां मनीष गुप्ता अपने दो दोस्तों के साथ रुके थे. इसमें पुलिसवाले मनीष गुप्ता को होटल में उनके कमरे से बाहर लाते देखे जा सकते हैं. इस दौरान मनीष गुप्ता अधमरी हालत में थे.

क्या है CCTV फुटेज में?

CCTV फुटेज में दिख रहा है कि मनीष को होटल के कमरे से जब लाउंज में लाया गया, तब मौके पर आरोपी इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह भी मौजूद थे. उन्होंने ही बेजान से पड़े मनीष को दूसरे दरोगा और अन्य पुलिसकर्मियों के साथ लिफ्ट से नीचे भिजवाया.

आजतक के गजेंद्र त्रिपाठी की रिपोर्ट के मुताबिक, रामगढ़ताल चौकी के तत्कालीन इंचार्ज अक्षय मिश्रा रूम नंबर 512 से मनीष को बाहर लेकर आए थे. उस समय उनके शरीर में कोई हरकत नहीं थी. अक्षय मिश्रा के साथ मौजूद दूसरे दरोगा ने अन्य पुलिसकर्मियों और होटल के दो स्टाफ की मदद से मनीष के हाथ-पैर पकड़े और उन्हें होटल की लिफ्ट से नीचे उतारा.

फुटेज में एक पुलिसकर्मी मनीष के कमरे से लाया गया एक तौलिया रिसेप्शन पर खड़े शख्स को देता दिखा है. बता दें कि पिछली रिपोर्टों में ये बताया गया था कि 512 नंबर कमरे से खून से सना एक तौलिया मिला था. अब सवाल किया जा रहा है कि कहीं ये वही तौलिया तो नहीं है. ये भी पता चला है कि उस समय के और भी CCTV फुटेज SIT के पास हैं.

SIT ने बयान दर्ज किए

उधर, SIT ने मनीष गुप्ता के दोनों दोस्तों के बयान दर्ज कर लिए. आजतक के संतोष कुमार की रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार 6 अक्टूबर को SIT मनीष गुप्ता के घर पहुंची थी. वहीं उसने मनीष के दोस्त हरवीर और प्रदीप सिंह के बयान लिए. पत्नी मीनाक्षी का भी बयान लिया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, जांच टीम सुबह साढ़े 11 बजे मनीष के घर पहुंची थी. इसके बाद अगले 7 घंटों तक बयान दर्ज करने की प्रक्रिया चलती रही. शाम साढ़े 6 बजे ये प्रक्रिया खत्म हुई.

क्या बयान दर्ज किए?

रिपोर्टर संतोष कुमार को मिली जानकारी के मुताबिक, SIT ने हरवीर से पूछताछ करते हुए उनका बयान लिया. उनसे पूछा गया कि पुलिस होटल में कब और कैसे घुसी, उनके रूम में कौन-कौन आया और कैसे एक सिपाही हरवीर को जबरन कमरे के बाहर ले गया. ये पूरा घटनाक्रम उनके बयान में शामिल किया गया है.

हरवीर के साथ प्रदीप सिंह से भी टीम ने पूछताछ की कि आखिर कमरे में घुसते ही पुलिस ने किस तरह का बर्ताव किया. फिर बेड पर सो रहे मनीष से किस बात को लेकर बहस हुई. SIT की टीम ने हरवीर और प्रदीप से गोरखपुर जाने की वजह भी पूछी. मनीष गुप्ता को गोरखपुर बुलाने पर भी सवाल किया. SIT हरविंदर प्रदीप से पूछताछ के बाद अब चंदन सैनी के बयान दोबारा दर्ज कर सकती है, जिसके बुलावे पर मनीष हरवीर और प्रदीप गोरखपुर गए थे.

वहीं चश्मदीद हरवीर सिंह ने आजतक से बातचीत में कहा कि होटल में कमरा खुलवाने पर मारपीट की शुरुआत पहले दरोगा अक्षय और जेएन सिंह ने की थी. उन्होंने कहा,

अक्षय ने पहले मुझे थप्पड़ मारा. इसके बाद जेएन सिंह ने मनीष को थप्पड़ मारा. फिर और पुलिसवाले कमरे में घुस आए और मारने लगे. मनीष का कमरा मैंने खुलवाया था.

27 सितंबर की देर रात गोरखपुर के कृष्णा होटल में कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता अपने दोस्तों के साथ ठहरे हुए थे. आरोप है कि पुलिस कमरे में घुसी और पूछताछ करने लगी. इस दौरान मनीष की उनसे बहस हो गई. इस पर पुलिसवालों ने कथित तौर पर मारपीट की जिससे मनीष की मौत हो गई. राज्य सरकार ने इस मामले की CBI जांच की भी सिफारिश की है, लेकिन अब तक केंद्रीय जांच एजेंसी ने इस मामले में जांच शुरू नहीं की है.


दी लल्लनटॉप शो: मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी ने क्यों कहा कि CM योगी से ये बात कहना भूल गई?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.