Submit your post

Follow Us

IPL से कैसे जुड़ने वाले हैं मैनचेस्टर यूनाइटेड और क्रिस्टियानो रोनाल्डो?

मैनचेस्टर यूनाइटेड. दुनिया के सबसे बड़े फुटबॉल क्लबों में से एक जिसके लिए आजकल क्रिस्टियानो रोनाल्डो खेलते हैं. इंग्लैंड के इस क्लब का मालिकाना हक़ मशहूर अमेरिकी कारोबारी परिवार ग्लेज़र्स के पास है. और अब रिपोर्ट्स हैं कि ये परिवार IPL में शामिल होने वाली दो टीमों में से एक को खरीदने में दिलचस्पी दिखा रहा है. स्पोर्ट्समेल के मुताबिक ग्लेज़र्स ने अगले हफ्ते के ऑक्शन से पहले एक फ्रेंचाइजी को खरीदने के लिए टेंडर डॉक्यूमेंट भी खरीद लिया है.

हालांकि एक बात साफ है कि इंविटेशन टू टेंडर (ITT) खरीदने का मतलब ये नहीं है कि ग्लेज़र्स IPL टीम के लिए बिड करेंगे ही. बता दें कि इन टीमों के लिए अडाणी ग्रुप, टोरेंट फार्मा, अरबिंदो फार्मा, आरपी-संजीव गोयनका ग्रुप, हिंदुस्तान टाइम्स मीडिया, जिंदल स्टील, रॉनी स्क्रूवाला और तीन प्राइवेट प्लेयर्स ने भी बिड डॉक्यूमेंट खरीदे हैं.# IPL में Glazers

BCCI द्वारा इशू किए गए ITT में कुछ कड़े क्लॉज शामिल हैं. जैसे कि टीमों के लिए बिड करने वाली कंपनी का ऐवरेज टर्नओवर 3,000 करोड़ होना चाहिए. और अगर यह व्यक्तिगत है तो उस व्यक्ति की पर्सनल नेटवर्थ 2500 करोड़ होनी चाहिए. साथ ही इसमें एक नियम यह भी है कि बिड करने वाली पार्टी को इस बात का ध्यान रखना होगा कि अगर वे जीतते हैं तो उन्हें भारत में एक कंपनी सेटअप करनी होगी.

इस बारे में एक सोर्स ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा,

‘जाहिर तौर पर, टेक्निकली विदेशी इंवेस्टर अगर इन शर्तों पर खरे उतरते हैं तो वह बिड कर सकते हैं. हमें अभी सच में नहीं पता कि मैनचेस्टर यूनाइटेड के मालिक बिडिंग टेबल पर आएंगे. लेकिन एक चीज पक्की है कि उन्होंने इंट्रेस्ट दिखाया है.’

इस मसले पर ANI ने एक सोर्स के हवाले से दावा किया कि ग्लेज़र्स द्वारा इंट्रेस्ट दिखाने के चलते ही बोर्ड ने ITT की डेडलाइन आगे बढ़ाई थी. सोर्स ने कहा,

‘हां, यह सच है कि उन्होंने इंस्ट्रेस्ट दिखाया था और शायद यह BCCI द्वारा डेडलाइन आगे बढ़ाने के कारणों में से एक था. IPL सिर्फ भारत तक सीमित नहीं है, अब यह वैश्विक हो चुका है. आमतौर पर कई लोग भविष्य के प्लांस को समझने के लिए टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदते हैं. जैसे कि अगर डिज़्नी ने टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदा तो जरूरी नहीं है कि वे एक फ्रेंचाइजी खरीदने में इंट्रेस्टेड हैं. वे डॉक्यूमेंट पढ़ेंगे क्योंकि उन्हें अपने मीडिया राइट्स लैंडस्केप को प्लान करना होगा.’

बता दें कि साल 2022 से IPL में 10 टीमें खेलेंगी. BCCI ने हाल ही में दो टीमें बढ़ाने के प्रपोजल को अप्रूव किया था. 5 खरब रुपयों से ज्यादा की ब्रैंड वैल्यू वाली आठ टीमों की इस लीग ने इस साल रिकॉर्ड टेलीविजन और डिजिटल व्यूअरशिप बटोरी थी.

ग्लेज़र्स की बात करें तो उनके पास अमेरिकन फुटबॉल की टैम्पा बे बकनीर्स नाम की टीम भी है. इसमें एक क्रिकेट टीम के जुड़ने से जाहिर तौर पर उन्हें एक नया मार्केट मिलेगा. साथ ही इससे पहले से ही बहुत पॉपुलर मैनचेस्टर यूनाइटेड की पॉपुलैरिटी भी और बढ़ेगी.


2007 में टी-20 वर्ल्ड कप जिताने वाले खिलाड़ी आजकल क्या कर रहे हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?