Submit your post

Follow Us

बीवी की जीभ काट दी! बहाना, 'किस करते हुए जीभ फंस गई'

5
शेयर्स

46 साल के अयूब मंसूरी ने अपनी बीवी की जीभ काट दी. पुलिस ने पूछा तो बताया, ‘किस करते हुए जीभ चिपक गई थी. मजबूरी में जीभ काट देनी पड़ी.’

ये तो था अचंभे वाला पार्ट था. अब घटनाक्रम पर आइए. टाइम्स ऑफ इंडिया में ख़बर छपी. अहमदाबाद के जुहापुरा की. 9 अक्टूबर को एक आदमी ने अपनी बीवी की जीभ चाकू से काट दी. अयूब नाम का ये आदमी इत्र बेचा करता था. बीवी का नाम तसलीम, जो एक अस्पताल में काम करती थी. दोनों कमरे में सोए थे, अयूब ने रात में फ्रेंच किस की बात कही. बीवी ने जैसे ही जीभ बाहर निकाली. अयूब ने चाकू से जीभ का एक हिस्सा काट दिया. घर बंद किया भाग गया.

बीवी ने अपनी बहन को कॉल किया, घटना बताई. मदद मांगी. हल्ला भी मचाया, जिससे आसपास वाले इकट्ठा हो गए. डुप्लीकेट चाभी से तसलीम बाहर निकलीं. सरदार वल्लभभाई अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया. भागा हुआ अयूब दो दिन बाद शुक्रवार को पकड़ा गया.

चौंकाने वाली बात गिरफ्तारी के बाद कही गई 

जब वेजलपुर पुलिस ने पूछताछ की. अयूब ने बताया,

‘किस करते हुए दोनों उत्तेजित हुए, उस दौरान पता लगा कि दोनों की जीभ आपस में फंस गई है. जीभ अलग करने की बहुत कोशिश की. इसी दौरान पत्नी की जीभ कट गई.’

(आपको पढ़ने में जितना वल्गर बहाना लग रहा है, मुझे लिखने में उससे 20% ज़्यादा ही घटिया लगा था!)

बाकी भागने वाली बात पर ये बताया कि बहुत खून बह गया था, इसलिए घबराहट में वो मौके से भाग गया. पुलिस वाले इस थ्योरी पर भरोसा नहीं कर रहे. पत्रकारों से कह रहे हैं कि शायद ये पुलिस को धोखा देने की कोशिश कर रहा है.

तसलीम बोल नहीं पा रही हैं.लिक्विड डाईट पर हैं. शेष इस आदमी का इतिहास भी बहुत सही नहीं है. तसलीम की ये दूसरी शादी थी और अयूब की तीसरी. ( जैसा कि नवभारत टाइम्स में लिखा मिला!) अयूब पर अपनी पहली बीवी परवीन को ज़िंदा जलाकर मारने के आरोप हैं. दूसरी शादी में भी वो घरेलू हिंसा करता था, जिस कारण दूसरी बीवी ने अयूब को छोड़ दिया. तीसरी शादी मार्च 2018 में हुई. वहां भी अयूब काम को लेकर ढिलाई बरतता था. बीवी से झगड़ा करता था, और अब ये अपराध कर डाला.

अहमदाबाद मिरर की रिपोर्ट में उसकी गिरफ्तारी का ज़िक्र है. गिरफ्तारी के समय वो अजीब-अजीब सी हरकतें कर रहा था. कभी आसमान घूरता, कभी नाक में उंगली करता. शायद ये दिखाने की कोशिश कर रहा था उसकी मानसिक स्थिति सही नहीं है. फिलहाल वो साबरमती जेल में बंद है. तसलीम का इलाज़ हो रहा है. देखिए इस बेहूदा से बहाने के बाद पुलिस की जांच में क्या सच सामने आता है और इस केस का क्या नतीज़ा निकलता है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

JNU : जिस समय आइशी घोष को पीटा जा रहा था, उसी वक़्त उन पर FIR हो रही थी

और नक़ाबपोश गुंडों का न कोई नाम, न कोई सुराग

बवाल हुआ तो JNU प्रशासन ने मंत्रालय से कैम्पस को बंद करने की मांग उठा दी

मंत्रालय ने भी ये जवाब दिया.

5 जनवरी की रात तीन बजे तक JNU कैम्पस में क्या-क्या हुआ?

जेएनयू कैम्पस में 5 जनवरी को नकाबपोशों ने स्टूडेंट्स और टीचर्स पर हमला किया.

2015 और इस बार के दिल्ली विधानसभा चुनाव में क्या अंतर है?

चुनाव के नतीजे 11 फरवरी को आएंगे.

JNU छात्रों पर हमले के बाद VC एम जगदीश कुमार क्या बोले?

नकाबपोश गुंडों ने कैंपस में मारपीट की थी.

जानिए, 5 जनवरी की दोपहर और शाम JNU कैंपस में क्या हुआ?

दो-तीन दिनों से कैंपस में तनाव था. अगले सेमेस्टर के रजिस्ट्रेशन पर स्टूडेंट्स में झड़पों की भी ख़बरें आईं थीं.

कोर्ट के आदेश के बाद वो 3 मौके, जब योगी सरकार ने 'दंगाइयों' से जुर्माना नहीं वसूला

और सवाल उठ रहे कि इस बार ही क्यों?

मोदी के जिस ड्रीम प्रोजेक्ट पर सरकार ने करोड़ों खर्च किये वो फ्लॉप हो गया

इसके प्रचार के लिए सरकार ने जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगवाए थे.

नए साल की पहली खुशखबरी आ गई, रेलवे का किराया बढ़ गया

सेकंड क्लास, स्लीपर, फ़र्स्ट क्लास, एसी सबका किराया बढ़ा है रे फैज़ल...

CAA Protest : यूपी पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाने वालों को पुलिस ने क्यों ब्लॉक किया?

यूपी पुलिस की इस कार्रवाई का क्या मतलब है?