Submit your post

Follow Us

ओवैसी की पार्टी के विधायक ने 20-25 समर्थकों के साथ कोरोना वाले अस्पताल में डॉक्टर को लात घूसा मारा!

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन यानी AIMIM. असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी. इस पार्टी के विधायक हैं मौलाना मुफ्ती इस्माइल. मालेगांव से जीत हासिल की है. आरोप है कि अपने समर्थकों के साथ सिविल अस्पताल पहुंचकर उन्होंने डॉक्टर से ना सिर्फ गाली गलौज की बल्कि हाथापाई भी की.

कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों के मामले में महाराष्ट्र पहले नंबर पर है. यहां 100 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. राज्य में धारा 144 लागू है. लॉकडाउन है. आरोप है कि इस बीच विधायक अस्पताल पहुंच गए. और डॉक्टर किशोर डांगे के साथ हाथापाई की. विधायक अपने 20-25 समर्थकों के साथ अस्पताल पहुंचे थे. उन्होंने डॉक्टर को गाली दी, उनसे बदतमीजी की और लात घूसे भी चलाए.

इस घटना के बाद अस्पताल का स्टाफ नाराज हो गया. दो घंटे के लिए काम रोक दिया. डॉक्टर धरने पर बैठ गए. हालांकि डॉक्टर डांगे ने मामले को संभाल लिया. कृषि मंत्री दादा भुसे के समझाने पर धरना खत्म कर दिया गया, जिस अस्पताल की ये घटना है वहां कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों को रखा गया है.

लेकिन विधायक को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ा. उन्होंने ऐसे समय में भी डॉक्टर के साथ अभद्र व्यवहार किया. हिंसा की.

दरअसल AIMIM विधायक के समर्थक रिजवान शेख के घर पर एक शख्स ने फायरिंग की थी. कोर्ट के आदेश पर वह अस्पताल में इलाज करा रहा है. विधायक का गुस्सा इस बात को लेकर है कि इस व्यक्ति को तय समय के बाद भी अस्पताल में क्यों रखा गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, विधायक को गिरफ्तार कर लिया गया है.  डॉक्टरों के साथ इस तरह पेश आने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए. खासकर उन लोगों के साथ जो कानून बनाते हैं.

देशभर में महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा केस हैं. राज्य में तीन लोगों की मौत हो चुकी है. महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने राज्य के लोगों से कहा है,

यह विश्वयुद्ध ही है और युद्ध के दौरान आप घर से बाहर न निकलें. हम नहीं जानते कि कोरोना वायरस कहां से हमला कर सकता है. मुझे उम्मीद है कि लोग अब गंभीरता समझने लगे हैं. हमारे पास खाने और जरूरी चीजों का स्टॉक है. चिंता करने की कोई बात नहीं है. एसेंशियल सर्विस वाली दुकानें नहीं बंद होने वाली हैं.

हाल ही में महाराष्ट्र के एक झुग्गी बस्ती में कोरोना वायरस के संक्रमण की खबर आई थी. इसके बाद से भारी आबादी वाले इलाके में वायरस के फैलने की आशंका बनी हुई है.


 

पाकिस्तान के अफसरों को कोरोना वायरस पॉजिटिव पेशेंट के साथ सेल्फ़ी लेना महंगा पड़ा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बिहार में कोरोना का इलाज कर रहे डॉक्टरों को मास्क और सैनिटाईज़र तक नहीं मिला

और कोरोना के लक्षण वाले 83 डॉक्टर अब भी इलाज कर रहे?

पूरा देश लॉकडाउन है और हरियाणा के इस कॉलेज में लेक्चर पर लेक्चर हो रहे हैं

कॉलेज वाले कह रहे सरकार ने कोई ऑर्डर नहीं दिया!

सरकार ने दिया कोरोना पर राहत पैकेज, 80 करोड़ को मुफ्त अनाज और बहुत कुछ

वित्त मंत्री ने कहा, हर व्यक्ति के हाथ में अन्न और धन हमारी पहली प्राथमिकता.

कोरोना के बीच सरकार ने गठिया वाली दवा के एक्सपोर्ट पर रोक क्यों लगा दी?

इस दवा का कोरोना के इलाज में क्या रोल है?

रात को लॉकडाउन के कायदे बताने के बाद सुबह हुजूम के बीच कहां निकल गए सीएम योगी?

सीएम ने लोगों से कहा था, 'घर पर ही रहें, बाहर न निकलें.'

21 दिन के लॉकडाउन में आपको कौन-कौन सी छूट मिलेगी, यहां जान लीजिए

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरा देश 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा.

आज आधी रात से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन, पीएम बोले- एक तरह से ये कर्फ्यू ही है

कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे बड़ा फैसला.

कोरोना वायरस: उत्तर प्रदेश के 17 नहीं, अब पूरे 75 जिलों को लॉकडाउन कर दिया गया है

देश में कोरोना वायरस इंफेक्शन के मामले 500 से ऊपर जा चुके हैं.

3 महीने तक ATM से पैसे निकलना फ्री, अब मिनिमम बैलेंस का भी झंझट नहीं

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐलान किया.

कोरोना वायरस की वजह से अब जो काम रुका है, उसका असर 17 राज्यों पर पड़ेगा

क्या मतलब निकला इतनी उठा-पटक का?