Submit your post

Follow Us

पालघर घटना को धार्मिक एंगल देने वालों की खैर नहीं, सरकार ने पहले ही चेता दिया है

महाराष्ट्र का पालघर. यहां एक गांव में 16 अप्रैल की रात भीड़ ने तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी. इन तीन लोगों में दो जूना अखाड़े के साधु थे, एक उनका ड्राइवर. 19 अप्रैल को घटना का वीडियो वायरल हुआ, तो लोगों के तीखे रिएक्शन आने शुरू हुए. इस घटना को ट्विटर पर कुछ लोगों ने धार्मिक एंगल देने की भी कोशिश की. अब इन्हीं लोगों को महाराष्ट्र सरकार ने चेतावनी दी है. महाराष्ट्र के होम मिनिस्टर अनिल देशमुख ने ट्वीट कर कहा,

‘हमला करनेवाले और जिनकी इस हमले में जान गई, दोनों अलग धर्म के नहीं हैं. बेवजह समाज में/समाज के माध्यमों द्वारा धार्मिक विवाद निर्माण करने वालों पर पुलिस और महाराष्ट्र साइबर क्राइम डिपार्टमेंट को कठोर कार्रवाई करने के आदेश दिए गए हैं.’

इस ट्वीट के पहले अनिल देशमुख ने एक और ट्वीट किया था. जिसमें कहा था,

‘मुंबई से सूरत जाने वाले तीन लोगों की पालघर में हुई हत्या के बाद मेरे आदेश से इस हत्याकांड में शामिल 101 लोगों को पुलिस हिरासत में लिया गया है. साथ ही उच्च स्तरीय जांच के आदेश भी दिए गए हैं. इस घटना को विवादास्पद बनाकर समाज में दरार बनाने वालों पर भी पुलिस नज़र रखेगी.’

क्या है पूरा मामला?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जूना अखाड़े के दो साधु 35 साल के सुशील गिरी महाराज और 70 साल के चिकणे महाराज कल्पवृक्षगिरी ड्राइवर निलेश के साथ 17 अप्रैल को मुंबई के कांदिवली से गुजरात के सूरत जा रहे थे. दोस्त के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए. कांदिवली से करीब 120 किलोमीटर का रास्ता भी तय कर लिया था. पीटीआई के अनुसार कुछ लोगों ने तीनों को रोक लिया और उन्हें गाड़ी से निकाल कर पीट-पीट कर मार डाला. भीड़ को इन पर चोर होने का शक था.

पालघर के डीएम कैलाश शिंदे ने बताया कि तीनों कांदिवली से सूरत जा रहे थे. दादरा और नगर हवेली की सीमा के बीच एक गांव है. जहां ये घटना हुई है. गांव वालों के हाथ में कुल्हाड़ी, लकड़ी, पत्थर समेत दूसरे हथियार थे. इन हथियारों से उन्होंने तीनों पर हमला किया. सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची. तीनों को गाड़ी में डाला. पर गांव वालों ने फिर अटैक कर दिया. तीनों को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. घटना में कई पुलिसवाले भी जख्मी हुए हैं.

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार हुए 110 लोगों में से नौ नाबालिग हैं. 101 लोगों को इस महीने की 30 तारीख तक के लिए पुलिस कस्टडी में लिया गया है. इस मामले में जांच अभी जारी है.


वीडियो देखें: महाराष्ट्र के पालघर में मॉब लिंचिंग हुई और पुलिस कुछ नहीं कर पाई!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

आ गया है 28 साल पुराने मामले में फ़ैसला

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

अक्षय कुमार ने भी ट्वीट किया है.

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

सिर्फ़ 6 लोगों की इस मीटिंग के टलने को पी चिदंबरम ने 'अभूतपूर्व' क्यूं कह डाला?

तो क्या इस वक़्त देश के पास अर्थव्यवस्था सही करने का सिर्फ़ एक बटन बचा है?

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.