Submit your post

Follow Us

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी के लॉकडाउन के फैसले पर ये क्या बोल दिया?

उद्धव ठाकरे. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री. 24 मई को उन्होंने राज्य की जनता के नाम संदेश दिया. इसमें उन्होंने लॉकडाउन, कोरोना वायरस को लेकर बात की. उद्धव ने देश में अचानक से लॉकडाउन लगाने पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. हालांकि उन्होंने ऐसा करते हुए केंद्र सरकार का नाम नहीं लिया.

एकदम से लॉकडाउन हटाना ठीक नहीं

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, उन्होंने कहा कि एकदम से लॉकडाउन कर देना गलत था. ऐसे में अब एक एकदम से लॉकडाउन हटाया नहीं जा सकता. एक बार में लॉकडाउन हटा देना उतना ही गलत होगा जितना एक बार में लगा देना था. यह लोगों पर दोहरी चोट होगी. बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को रात 8 बजे लॉकडाउन का ऐलान किया था. उन्होंने लॉकडाउन के बीच चार घंटे का ही वक्त दिया था. इसके बाद से देश में लॉकडाउन चल रहा है.

मानसून में एक्स्ट्रा सावधान रहें लोग

उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र की जनता से संभलकर रहने को कहा. उन्होंने कहा कि गर्मियों में संक्रमण से दूर रहने में कामयाब रहे. उसी तरह मानसून में अतिरिक्त सावधानी बरतनी होगी. बारिश का मतलब अधिक संक्रामक रोग, ऐसे में बाहर निकलने से बचें. अभी मानसून आने वाला है. ऐसे में कोरोना का खतरा फिर से बढ़ सकता है.

पैैकेज को लेकर केंद्र पर ताना

अपने भाषण के दौरान महाराष्ट्र के सीएम ने पैकेज को लेकर भी मोदी सरकार पर तंज कसे. कहा,

कुछ लोग पूछते हैं कि हम पैकेज क्यों नहीं दे रहे हैं. तो मैं बता दूं कि हम पैकेज देंगे. लेकिन कोरोना से लड़ना अभी हमारी पहली प्राथमिकता है. अभी लाखों-करोड़ों रुपयों के कई पैकेज घोषित हो चुके हैं. यह दिखने में अच्छे हैं. लेकिन इनके अंदर कुछ नहीं है. हमारी सरकार खोखले पैकेज के साथ नहीं आएगी.

‘संकट में राजनीति उनकी संस्कृति नहीं’

सीएम उद्धव ने आगे कहा कि यह संकट का समय है. किसी को भी राजनीति में शामिल नहीं होना चाहिए. वे ऐसा कुछ नहीं करेंगे. वे ईमानदारी से काम कर रहे हैं. संकट के समय राजनीति करना उनकी संस्कृति नहीं है. उन्होंने कहा,

हमें अभी भी जीएसटी रिफंड मिलने का इंतजार है. क्या मैं इसे मुद्दा बनाऊं? पहले पीपीई किट नहीं आ रही थी. अभी भी दवाओं की कमी है. क्या इस बारे में चिल्लाऊं? हमें अभी तक ट्रेनों का पैसा नहीं मिला. यदि हम मुद्दा बनाने लगे तो यह मानवता नहीं होगी.

उन्होंने कहा कि केंद्र की टीम ने अनुमान लगाया था कि मई के अंत तक महाराष्ट्र में कोरोना के 1.15 लाख मामले सामने आ सकते हैं. लेकिन अभी तक राज्य में कोरोना के अब तक 47,190 केस रिपोर्ट हुए, जिनमें से 13,000 मरीज ठीक हो चुके हैं. यह सब जनता की मदद से ही हुआ. वह लोगों को घर के अंदर रहने और बाहर नहीं जाने के लिए कहते हैं, ऐसे में कई बार खुद को तानाशाह महसूस करते हैं. लेकिन ऐसा करना भी समय की जरूरत है.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: नीति आयोग के CEO ने कहा- प्रवासी मज़दूरों के मामले सरकार और अच्छे से हैंडल कर सकती थी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लद्दाख में तकरार बढ़ी, तीन जगह चीनी सेना ने मोर्चा लगाया, तंबू गाड़े

दोनों ओर के सैनिकों ने मोर्चा संभाला.

पाताल लोक वेब सीरीज में फोटो से छेड़छाड़ पर BJP विधायक ने की अनुष्का से माफी की मांग

प्रोड्यूसर अनुष्का शर्मा पर रासुका के तहत कार्रवाई की मांग की.

कानपुर स्टेशन पर ट्रेन रुकी और खाने को लेकर आपस में भिड़ गए प्रवासी मज़दूर

दो कोचों के मज़दूर आपस में झगड़ पड़े. कुछ को खाना मिला, बाकी जमीन पर गिर गया.

दुनिया का सबसे तेज़ इंटरनेट, एक सेकेंड में 1000 एचडी मूवी डाउनलोड का दावा

ऑस्ट्रेलिया की तीन यूनिवर्सिटी के टेक रिसर्चर्स ने मिलकर ये कनेक्शन तैयार किया है.

केंद्र से अक्सर लड़ने वाली ममता बनर्जी की पीएम मोदी ने किस बात पर तारीफ की?

पश्चिम बंगाल दौरे पर पीएम मोदी ने 'अमपन' को लेकर एक हज़ार करोड़ रुपए की मदद का ऐलान किया.

रिज़र्व बैंक ने एक बार फिर रेपो रेट घटाया, EMI से तीन महीने और छुटकारा

मार्च और अप्रैल महीने में रिज़र्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट घटाया था.

प्लेन और ट्रेन से जाने के लिए टिकट और किराए के नियम सरकार ने बताए हैं

जानिए, रेलवे के ऑफलाइन टिकट कहां से मिल सकते हैं.

क्या गुजरात में खराब वेंटीलेटर की वजह से 300 कोरोना मरीज़ों की मौत हो गई?

कांग्रेस ने विजय रूपाणी सरकार पर वेंटीलेटर घोटाले का आरोप लगाया है.

अब इस तारीख से देश के अंदर फ्लाइट्स से यात्रा कर सकेंगे

इससे पहले 200 नॉन एसी ट्रेन चलने की सूचना दी गई थी.

'अम्फान' आ चुका है, पश्चिम बंगाल में दो की मौत, कई घरों को नुकसान

ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में अपना असर दिखा रहा है.