Submit your post

Follow Us

महंत नरेंद्र गिरि की मौत की असली वजह क्या थी, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चल गया है

महंत नरेंद्र गिरि (Mahant Narendra Giri) की मौत की जांच अब सीबीआई करेगी. यूपी सरकार ने सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं. मामले की जांच अब ब्लैकमेलिंग के एंगल से भी की जा रही है. इधर पोस्टमार्टम जांच के शुरुआती नतीजों से सुसाइड की बात सामने आ रही है. इसके अलावा पुलिस ने केस में तीसरी गिरफ्तारी की है. पुलिस पहले नरेंद्र गिरि के शिष्य आनंद गिरि, लेटे हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या तिवारी को गिरफ्तार कर चुकी थी. अब आद्या तिवारी के बेटे संदीप तिवारी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

क्या निकला पोस्टमार्टम रिपोर्ट में?

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में कई अहम बातें अब तक सामने आई हैं. आजतक के अनुसार, महंत नरेंद्र गिरि की शुरुआती पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट जो सामने आई है, वो सुसाइड की तरफ इशारा करती है. शुरुआती पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत की वजह ‘Asphyxia’ लिखा है. यानी वो स्थिति जब व्यक्ति सांस लेने में असमर्थ हो और इस वजह से उसकी मौत हो जाए. इसके अलावा पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के हिसाब से महंत नरेंद्र गिरि की मौत का समय 20 सितंबर को दोपहर 3 से 3:30 बजे के बीच का है. उनके शरीर पर चोट के निशान नहीं मिले हैं.

हालांकि, अब भी बहुत सारी बातें हैं जिनका पता लगाना बाकी है. इनमें प्रमुख हैं-

# सबसे बड़ा सवाल कि महंत नरेंद्र गिरि ने आत्महत्या क्यों की? इसकी जांच की जा रही है. जांच ब्लैकमेलिंग के एंगल पर भी हो रही है कि अगर कोई फोटो है जिससे नरेंद्र गिरि को ब्लैकमेल किया जा रहा था तो वो फोटो कहां है? किसके पास है? इसको लेकर आनंद गिरि से पूछताछ की गई. पुलिस सूत्रों के हवाले से आजतक ने दावा किया कि आनंद गिरि ने फोटो की बात से इनकार कर दिया है.

# महंत नरेंद्र गिरि का जो वीडियो पुलिस के पास है, उसमें भी आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी का नाम है. पुलिस इन तीनों को गिरफ्तार कर चुकी है. वीडियो में सिर्फ नरेंद्र गिरि का चेहरा दिख रहा है. वीडियो उसी कमरे का है जिसमें शव मिला. कपड़े भी वही हैं. वीडियो खुद नरेंद्र गिरी ने बनाया था. हालांकि वीडियो में फांसी का फंदा नहीं दिख रहा है.

13 सितंबर को ही आत्महत्या करना चाहते थे महंत

महंत नरेंद्र गिरि फांसी लगाने से पहले 13 सितंबर को सल्फास की गोली खाकर आत्महत्या करना चाहते थे, इसका पुलिस को शक है. पुलिस को कमरे से सल्फास की गोलियां मिली हैं. इन्हें केमिकल जांच के लिए भेजा गया है. ये महंत नरेंद्र गिरि ने अपने शिष्य से मंगवाई थीं. जिस रस्सी से फांसी लगी, वो भी कुछ दिन पहले उन्होंने शिष्य से मंगवाई थी.

पुलिस ने सुसाइड नोट को भी फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा है. पुलिस को मौके से महंत नरेंद्र गिरि के लिखे कई दस्तावेज भी मिले हैं, जिन्हें कब्जे में लेकर हैंड राइटिंग एक्सपर्ट को सौंपा गया है. रिपोर्ट आने के बाद साफ होगा कि सुसाइड नोट नरेंद्र गिरि ने खुद लिखा या किसी का लिखा है.

ये हो सकती है नरेंद्र गिरि की परेशानी की वजह

आजतक के मुताबिक, महंत नरेंद्र गिरि इस बात से परेशान थे कि जब उन्हें कोरोना हुआ था तो उनका सबसे प्रिय शिष्य आनंद गिरि उनसे मिलने नहीं आया जबकि दूसरे शिष्यों ने उस दौरान उनकी काफी सेवा की थी. पुलिस के मुताबिक, आनंद गिरि ने पूछताछ में बताया है कि मई में गुरु नरेंद्र गिरि से समझौता हो जाने के बावजूद दोनों में दूरियां थीं. दोनों की आपस में बात नहीं होती थी. आनंद गिरि सच बोल रहे हैं या नहीं, इसके लिए पुलिस सीडीआर की जांच कर रही है.

वहीं, हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या तिवारी ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि

“मेरा बेटा संदीप तिवारी आनंद गिरि को गुरु मानता था. आनंद गिरि को ही फॉलो करता था. एक इसलिए दिन महंत नरेंद्र गिरि ने मुझे कहा कि आज से तुम मुख्य पुजारी नहीं रहोगे. आज से तुम भी अन्य पुजारियों की तरह रहोगे, जिन्हें सैलरी मिलती है.”

आद्या तिवारी का कहना है चूंकि संदीप आनंद गिरि को गुरु मानता था इसलिए नरेंद्र गिरि को शक था कि मैं भी आनंद गिरि के साथ मिलकर उन्हें धोखा दे रहा हूं.

Adya Tiwari Mahant Narendra Giri Case
लेटे हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या तिवारी (भगवा कपड़ों में) को कोर्ट ले जाते पुलिसकर्मी. (फोटो पीटीआई)

सभी सुरक्षाकर्मियों को हटाया गया

महंत नरेंद्र गिरि को तकरीबन 10 सुरक्षाकर्मी मिले हुए थे. अब इन सभी पुलिसकर्मियों को हटा दिया गया है. बता दें कि सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी में लापरवाही की बात सामने आई है. एक गनर अजय सिंह की भूमिका सवालों के घेरे में है. आनंद गिरि भी इसके खिलाफ बयान दे चुके हैं. इस पूरे मामले को लेकर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जांच टीम का गठन हो चुका है. नरेंद्र गिरि के गनर्स से पूछताछ हो रही है कि घटना के वक्त वो कहां पर थे.

याद दिला दें कि 20 सितंबर को प्रयागराज में अल्लापुर स्थित बाघंबरी मठ के एक कमरे से महंत नरेंद्र गिरि का शव मिला था. इससे देश भर में सनसनी फैल गई थी. पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी सहित देश के बड़े नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी थी. महंत की इस तरह से मौत के बाद कई सवाल उठ रहे हैं. पुलिस ने शुरुआत में मिले साक्ष्यों के आधार पर इसे आत्महत्या बताया था. लेकिन मौत के 2 दिन बाद अब जांच सीबीआई को सौंप दी गई है. उम्मीद है जल्द ही इस हाई प्रोफाइल केस की पूरी कहानी सामने आ सकेगी.


वीडियो – आनंद गिरि अपने गुरु महंत नरेंद्र गिरि के लिए कैसे चुनौती बन गए?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.