Submit your post

Follow Us

कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया का दो साल पुराना वीडियो ढूंढकर क्यों ट्वीट किया?

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ दी. 9 मार्च को उन्होंने पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. लेकिन सिंधिया ने इस्तीफा 10 मार्च को ट्वीट किया. 18 साल तक कांग्रेस में रहने के बाद अब उनके बीजेपी में जाने की प्रबल संभावनाएं हैं. लंबे समय से कांग्रेस से सिंधिया की नाराजगी की खबरें आ रही थीं. सिंधिया के जाने के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस उन पर हमलावर है. 10 मार्च को रात 10:05 बजे एमपी कांग्रेस ने सिंधिया का दो साल पुराना वीडियो ट्वीट किया. यह वीडियो साल 2018 में कांग्रेस के 84वें अधिवेशन का है.

2 साल पहले कहा था-  गर्दन कट जाए, लेकिन झुकेंगे नहीं

इस वीडियो में ज्योतिरादित्य सिंधिया मोदी सरकार पर जोरदार तरीके से निशाना साध रहे हैं. वे कह रहे हैं-

एक न्यू इंडिया, जहां बेरोजगारी की जब बात की जाती है, तो कहा जाता है कि दो करोड़ रोजगार के अवसर दिए जाएंगे. लेकिन आज जब नौजवान भटक रहा है रोजगार के लिए, तो उसे पकौड़ा तलने की नसीहत दी जाती है. ये है मोदी जी का न्यू इंडिया. जहां संसद में, जिसे लोकतंत्र का मंदिर कहा जाता है. लेकिन संसद के बहुमत को हिटलरशाही और तानाशाही का लाइसेंस लगाकर आवाज दबाने की कोशिश की जाती है. मैं मोदी जी और उनकी सरकार को कहना चाहता हूं कि कांग्रेस पार्टी का एक-एक सांसद और कार्यकर्ता कभी झुका नहीं है. हमारी गर्दन कट जाए, लेकिन हम झुकेंगे नहीं. यह एक संदेश इस अधिवेशन से भेजना चाहते हैं.

इसी के जरिए मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सिंधिया को निशाने पर लिया है. साथ ही लिखा है-

एमपी कांग्रेस ने गिनाए ‘अहसान’ मध्य प्रदेश कांग्रेस ने 11 मार्च को फिर से ट्वीट किया और सिंधिया पर विश्वास तोड़ने का आरोप लगाया. साथ ही सिंधिया को दी गई इज्जत और सम्मान को गिनाया. इसमें लिखा-

सिंधिया जी की 18 साल की राजनीति में कांग्रेस ने : 17 साल सांसद बनाया. 2 बार केंद्रीय मंत्री बनाया. मुख्य सचेतक बनाया. राष्ट्रीय महासचिव बनाया. यूपी का प्रभारी बनाया. कार्यसमिति सदस्य बनाया. चुनाव अभियान प्रमुख बनाया. 50+ टिकट, 9 मंत्री दिये.  फिर भी मोदी-शाह की शरण में ?

 

कांग्रेस प्रवक्ता का भी तीखा ट्वीट

कांग्रेस प्रवक्ता शोभा ओझा ने भी सिंधिया पर तीखा रुख अपनाया. उन्होंने लिखा-

ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को आज मिली “सच्ची आजादी” की बहुत-बहुत बधाई. आज अंचल के उन सभी कांग्रेसजनों के लिए “मुक्ति का पर्व” है, जिनके अधिकारों को अब तक “महल” और उसके चाटुकारों के निजी स्वार्थों की बलि चढ़ाया जा रहा था.

लगातार 4 बार सांसद बने लेकिन 2019 में हार गए

ज्योतिरादित्य सिंधिया मध्य प्रदेश की गुना सीट से चार बार सांसद चुने गए थे. गुना सिंधिया परिवार का पांरपरिक सीट रही है. लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों में ज्योतिरादित्य सिंधिया हार गए. उन्हें बीजेपी के केपी यादव ने हरा दिया. यादव कभी सिंधिया के करीबी थे और सालभर पहले ही बीजेपी में आए थे.

4 महीने बदल लिया था ट्विटर बायो

सिंधिया 2018 में एमपी विधानसभा चुनावों के बाद से ही कांग्रेस आलाकमान से नाराज चल रहे थे. वे पहले एमपी के सीएम बनने की रेस में थे. बाद में वे एमपी कांग्रेस अध्यक्ष की दावेदारी जता रहे थे. लेकिन उन्हें दोनों ही पद नहीं मिले. इसके बाद से उनकी नाराजगी गहरा गई थी. चार महीने पहले उन्होंने ट्विटर पर अपना बायो बदल लिया था. उन्होंने इसमें पूर्व मंत्री और सांसद के बजाय केवल जनसेवक और क्रिकेट प्रेमी लिख लिया.

10 मार्च को आखिर सिंधिया ने कांग्रेस से अलग रास्ता अपना लिया. दिलचस्प बात यह भी रही कि 10 मार्च को उनके पिता माधवराव सिंधिया की जयंती भी होती है.

Video: सिंधिया और विधायकों के इस्तीफे के बाद अब कमल नाथ सरकार के पास आगे क्या रास्ता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.