Submit your post

Follow Us

क्या पासपोर्ट के लिए हिंदू-मुस्लिम दंपती ने झूठ बोला था?

देशों के हिसाब से अलग-अलग रंग का पासपोर्ट होता है. लेकिन पासपोर्ट भी धर्म देखकर बनाया जाएगा, ऐसा पहली बार सुनने में आया है. मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ का है. जहां एक कपल ने पासपोर्ट अधिकारी पर आरोप लगाया कि पासपोर्ट के लिए अप्लाई करने वाले पति-पत्नी का धर्म अलग था. तो पासपोर्ट अधिकारी ने उन्हें धर्म बदलकर शादी करने की सलाह दे डाली. वहीं पासपोर्ट अधिकारी का कहना है कि पति-पत्नी ने गलत जानकारी देकर पासपोर्ट हासिल करने की कोशिश की. ऐसा करने से रोकने पर हंगामा खड़ा किया.

अनस और तन्वी जिनके साथ यह बदसलूकी हुई.
अनस और तन्वी जिनके साथ यह बदसलूकी हुई.

क्या है पूरा मामला

# लखनऊ के रहने वाले मोहम्मद अनस सिद्दीकी और तन्वी सेठ ने 2007 में शादी की थी. शादी के बाद भी न किसी ने अपना नाम बदला न ही धर्म बदला. दोनों की एक बेटी भी है.

# इस कपल ने 19 जून को पासपोर्ट के लिए अप्लाई किया. पति का पासपोर्ट रिन्यू होना था जबकि पत्नी का नया पासपोर्ट बनना था. 20 जून को आगे के प्रोसेस के लिए इन दोनों को लखनऊ के रत्न स्क्वायर स्थित पासपोर्ट ऑफिस बुलाया गया.

यहां पर दो राउंड के इंटरव्यू के बाद आगे के प्रोसेस के लिए सी-5 कांउटर पर पहुंचे. यहां पर विकास मिश्रा नाम के पासपोर्ट अधिकारी ने उनके कागजात देखे.

पासपोर्ट ऑफिस लखनऊ में हुई बदसलूकी.
पासपोर्ट ऑफिस लखनऊ में हुई बदसलूकी.

कागजात देखने के बाद विकास मिश्रा ने तन्वी सेठ से पति के नाम के बारे में पूछा. कहा कि शादी के बाद उन्होंने नाम क्यों नहीं बदला. और कहा कि तुम्हें उससे (अनस से) शादी नहीं करनी चाहिए थी.

# फिर पासपोर्ट अधिकारी ने तन्वी के पति अनस से कहा कि तुम अपना धर्म बदलो और फिर फेरे लेकर शादी करो.

# ये सुनकर दोनों ने इस बात का विरोध किया. इस पर पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा भड़क गए और चिल्लाने लगे. उन्होंने कहा कि सारे कागजात लेकर APO ऑफिस चले जाओ.

# अनस और तन्वी ने इसकी शिकायत रीजनल पासपोर्ट ऑफिसर विजय द्विवेदी से की. साथ ही तन्वी सेठ ने इस घटना की शिकायत ट्विटर पर सुषमा स्वराज से की.

तन्वी का सुषमा स्वराज को किया पहला शिकायती ट्वीट.
तन्वी का सुषमा स्वराज को किया पहला शिकायती ट्वीट.
तन्वी का सुषमा स्वराज को किया दूसरा शिकायती ट्वीट.
तन्वी का सुषमा स्वराज को किया दूसरा शिकायती ट्वीट.

# इन दो टवीट्स में उन्होंने लिखा- “हैलो मैम, मेरी आप और न्याय में गहरी आस्था है फिर भी मैं बहुत दुख और गुस्से यह ट्वीट कर रही हूं. रत्न स्क्वायर पर स्थित पासपोर्ट ऑफिस में विकास मिश्रा का बर्ताव इसका कारण है. मैंने एक मुस्लिम से शादी की पर अपना नाम नहीं बदला. इस वजह से वो मेरे से बहुत बदतमीजी से और तेज आवाज में बोला. मैंने कभी इतना अपमानित महसूस नहीं किया. ऑफिस के दूसरे लोग भी उसके असभ्य आचरण के गवाह हैं. 

# इसके बाद रीजनल पासपोर्ट ऑफिसर ने उनके पासपोर्ट की कार्रवाई को आगे बढ़ाया. दोनों को पासपोर्ट दे दिया गया. साथ ही अभद्रता करने वाले अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया. 

# विदेश मंत्रालय के सचिव डीएम मुलेय ने मामले का संज्ञान लिया. आरोपी अधिकारी का तबादला कर दिया गया और जांच के आदेश दे दिए हैं.

# पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा ने मामले पर सफाई देते हुए कहा,

हमें धर्म से कोई मतलब नहीं है. हमें पासपोर्ट मैनुअल के तहत काम करना होता है. फॉर्म में महिला ने अपना पुराना नाम तन्वी सेठ लिखा था, जो उनके निकाहनामे में लिखे नाम सादिया हसन से मैच नहीं हुआ. वो नोएडा की रहने वाली हैं. इसलिए उनका पासपोर्ट ऑफिस गाजियाबाद लगता है. लेकिन वो लखनऊ का गलत पता देकर पासपोर्ट बनवा रहीं थी. इसलिए उनका केस APO को भेजा गया. जिसके बाद उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया. पुलिस में जाने की धमकी भी दी. जांच के बाद सच बाहर आ जाएगा. 

अब इस मामले की क्या सच्चाई है ये तो जांच के बाद ही पता चलेगी. फिलहाल दंपती को पासपोर्ट मिल गया है. और पासपोर्ट अधिकारी का तबादला कर दिया गया है.


ये भी पढ़ें-

पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI इतनी शातिर है कि उसने CIA को भी मूर्ख बना दिया

‘परमाणु संपन्न’ पाकिस्तान जाने पर एक भारतीय पत्रकार के साथ ऐसा सलूक हुआ था

खालिस्तान मूवमेंट: नोट और डाक टिकट छप चुके थे, बस देश बनना बाकी था

पंजाब की वो तीस हज़ार दुल्हनें, जिन्हें हनीमून के बाद छोड़ दिया गया

वीडियो-पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI इतनी शातिर है कि उसने अमेरिका की CIA को भी मूर्ख बना दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अनलॉक-4 की गाइडलाइंस जारी, मेट्रो चलेगी, जानिए स्कूल खोलने को लेकर क्या कहा गया है

धार्मिक और राजनीतिक कार्यक्रमों को लेकर क्या छूट मिली है?

NEET, JEE आगे बढ़ाने की मांग कर रहे छात्र ये पांच कारण बता रहे हैं

तय समय पर परीक्षा कराने के लिए 150 शिक्षाविदों ने लिखी PM मोदी को चिट्ठी.

कोर्ट ने कहा, ये शर्त पूरी किए बिना अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा पर दिल्ली दंगों में हेट स्पीच का केस नहीं

बीजेपी नेताओं के खिलाफ़ याचिका ख़ारिज करते हुए अदालत ने और क्या कहा, ये भी पढ़िए.

पाकिस्तान के किस बयान में इंडिया ने एक के बाद एक पांच झूठ पकड़ लिए हैं?

पाकिस्तान ने आतंकवाद फैलाने में भारत का नाम ले लिया, बस हो गया काम.

सोनिया-राहुल को पत्र लिखने पर कांग्रेस मंत्री ने नेताओं से कहा, ‘खुल्लमखुल्ला टहलने नहीं दूंगा’

माफ़ी नहीं मांगने पर परिणाम भुगतने की बात कर डाली.

प्रशांत भूषण के खिलाफ़ अवमानना का मुक़दमा सुन रहे सुप्रीम कोर्ट के इन तीन जजों की कहानी क्या है?

पूरी रामकहानी यहां पढ़िए.

महाराष्ट्र: रायगढ़ में पांचमंज़िला इमारत ढही, 50 से ज़्यादा लोग दबे

एनडीआरएफ की तीन टीमें राहत के काम में जुटी हैं.

क्या 73 दिन में कोरोना वैक्सीन आ रही है? बनाने वाली कंपनी ने बताई सच्ची-सच्ची बात

कन्फ्यूजन है कि खुश होना है या अभी रुकना है?

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.