Submit your post

Follow Us

बेंगलुरु के बाद अब लखनऊ में कोरोना के 1119 मरीज़ लापता हो गए हैं

कुछ दिनों पहले कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु से एक खबर आई थी. वो ये कि शहर में 3,338 कोरोना पॉजिटिव लोग ‘लापता’ हो गए थे. वहां के प्रशासन का कहना था कि कई लोग टेस्टिंग के दौरान अपनी सही जानकारी नहीं दे रहे हैं. अब ऐसा ही मामला यूपी की राजधानी लखनऊ से आया है. यहां भी कोरोना संक्रमित लोगों ने न तो अपना सही पता दिया है और न ही सही मोबाइल नंबर. और ऐसा करने वालों की संख्या है 2290.

हालांकि पुलिस ने 1171 कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की तलाश कर ली है. पर 1119 मरीज़ों की अभी भी खोज़ जारी है. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, 23 जुलाई से 31 जुलाई के बीच इन मरीज़ों का कोरोना टेस्ट हुआ था. इस दौरान इन्होंने जो अपना फोन नंबर और घर का पता दिया था, वो फर्ज़ी निकले. इसके बाद मामले की जांच पुलिस को सौंपी गई थी.

जानकारी के मुताबिक, लख़नऊ प्रशासन की तरफ से इंट्रीग्रेटेड कोविड-19 कमांड एंड कंट्रोल सेंटर बनाया गया था. इसमें सर्विलांस की मदद से कोरोना संक्रमित मरीज़ों की पहचान और उनकी हिस्ट्री नोट की जाती थी. पर गलत फोन नंबर और एड्रेस के चलते उन मरीज़ों तक पहुंचना मुश्किल हो रहा है. उधर, पुलिस के मुताबिक, कोरोना संक्रमित पाए जाने वाले लोगों के संपर्क में कौन लोग आए हैं, इसकी जांच के लिए एक सेल भी बनाई गयी है. पुलिस को छानबीन में पता चला कि कोरोना की जांच कराने के लिए आने वाले लोग अपनी पहचान छिपा रहे हैं. यही नहीं, मोबाइल नंबर तक लोगों ने गलत दर्ज कराए हैं.

मामले की गंभीरता को देखते हुए कोरोना सेल ने छानबीन शुरू कर की, तो 1171 संक्रमित लोगों की पहचान हुई. सेल ने  इंटीग्रेटेड कोविड-19 कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से ई-मेल के माध्यम से लिस्ट मांगी थी. जिसके जरिए इनका पता लगाया गया.


कोरोना के मामले अब तक कितने बढ़े-


वीडियो देखें : कर्नाटक: तीन हज़ार से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज़ों को प्रशासन ट्रेस क्यों नहीं कर पा रहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कृषि कानून पर फैसले के बाद वो सवाल जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट को देने चाहिए

कृषि कानून पर फैसले के बाद वो सवाल जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट को देने चाहिए

SC ने फैसले में ऐसा क्या कह दिया जिस पर सवाल उठ रहे हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमिटी बनाई है, क्या उनमें ज्यादातर कृषि कानूनों के समर्थक हैं?

सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमिटी बनाई है, क्या उनमें ज्यादातर कृषि कानूनों के समर्थक हैं?

किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से किसे ख़ुश होना चाहिए?

क्या सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों को ग़लत माना?

क्या सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों को ग़लत माना?

क्या सुप्रीम कोर्ट कृषि कानूनों को होल्ड पर रखने जा रही है?

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

फ़ेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम ने ट्रम्प पर बैन लगा दिया है.

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

BJP, AAP और कांग्रेस मंदिर ढहाने का ठीकरा एक दूसरे पर फोड़ रही हैं.

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

किसान नेताओं ने क्या ऐलान किया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

मध्य प्रदेश में बीजेपी विधायक के बेटे ने दर्ज करवाया था केस.

तीसरे टेस्ट से पहले टीम इंडिया के पांच खिलाड़ियों को आइसोलेट क्यों कर दिया गया?

तीसरे टेस्ट से पहले टीम इंडिया के पांच खिलाड़ियों को आइसोलेट क्यों कर दिया गया?

इसमें रोहित शर्मा का नाम भी शामिल है.

देश के स्वास्थ्य मंत्री बोले सबको फ्री देंगे वैक्सीन, फिर ट्वीट करके कुछ और बात कह दी

देश के स्वास्थ्य मंत्री बोले सबको फ्री देंगे वैक्सीन, फिर ट्वीट करके कुछ और बात कह दी

जानिए देश में कहां-कहां वैक्सीन का ड्राई रन चल रहा है.

BCCI अध्यक्ष और पूर्व क्रिकेटर सौरव गांगुली अस्पताल में भर्ती

BCCI अध्यक्ष और पूर्व क्रिकेटर सौरव गांगुली अस्पताल में भर्ती

ममता बनर्जी का ट्वीट-गांगुली को हल्का कार्डियक अरेस्ट आया है.