Submit your post

Follow Us

जन्म की सलाह देने वाले मां के डॉक्टर पर बेटी ने केस किया, लाखों का हर्जाना जीता

लंदन की एक लड़की ने उसे जन्म देने की सलाह देने वाले डॉक्टर पर ही केस कर दिया. 20 साल की यह लड़की रीढ़ की हड्डी से जुड़ी एक गंभीर बीमारी से पीड़ित है. इसके लिए वह डॉक्टर को जिम्मेदार मानती है. इस लड़की ने आरोप लगाया है कि अगर डॉक्टर ने उसकी मां को सही सलाह दी होती, तो उन्हें आज इस बीमारी के साथ नहीं जीना पड़ता. लंदन हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए लड़की के पक्ष में फैसला सुनाया है. कोर्ट ने लड़की को एक बड़ा मुआवजा देने का आदेश भी दिया है.

क्या है मामला

एवी टूंब्स लंदन की रहने वाली हैं. वे बचपन से ही रीढ़ की हड्डी की गंभीर बीमारी स्पाइना बिफिडा से ग्रसित हैं. इस कारण उन्हें हॉस्पिटल के लगातार चक्कर काटने पड़ते हैं. उनका दावा है कि अगर डॉक्टर उनकी मां को सही सलाह देते तो उनका ना ही जन्म होता और ना ही उन्हें जिंदगी भर इस तरह की परेशानियों को झेलना पड़ता.

डॉक्टर पर किया केस

इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक एवी टूंब्स ने लंदन हाईकोर्ट में अपनी मां को सलाह देने वाली डॉक्टर फिलिप मिचेल के खिलाफ केस किया था. अपनी याचिका में उनका कहना था कि जब वह अपनी मां के गर्भ में थीं, तब डॉक्टर फिलिप ने उनकी मां को बच्चे की रीढ़ की हड्डी में दिक्कत कम करने के लिए फोलिक एसिड की गोली खाने की सलाह दी थी. एवी के मुताबिक ऐसी सलाह देने की की बजाए डॉक्टर को प्रेगनेंसी में देरी करने की सलाह देनी चाहिए थी. एवी की मां ने भी डॉक्टर पर आरोप लगाते हुए कहा है कि अगर उन्हें पहले ही अच्छा खाना खाने की सलाह दी जाती तो उन्हें कभी भी फोलिक एसिड की गोली खाने की जरूरत नहीं पड़ती.

कोर्ट ने क्या कहा?

लंदन हाईकोर्ट ने इस मामले की सुनवाई करते हुए एवी टूंब्स के हक़ में फैसला सुनाया. कोर्ट ने उनके तर्क को सही ठहराते हुए कहा,

“अगर किसी महिला के प्रेगनेंसी के दौरान वैसे हालात हैं, जैसे एवी की मां के थे, तो प्रेगनेंसी में देरी करना ही सही है. डॉक्टर का फर्ज है कि वह अपने मरीज को सही सलाह दे, ताकि एक सेहतमंद बच्चा इस दुनिया में जन्म ले सके.”

लंदन हाईकोर्ट कोर्ट ने डॉक्टर द्वारा एवी को बड़ा मुआवजा देने का आदेश भी दिया है. मुआवजे को लेकर एवी के वकील ने मीडिया को बताया कि मुआवजा कितना होना चाहिए, यह अभी कैलक्युलेट नहीं किया गया है, लेकिन निश्चित तौर पर यह रकम इतनी बड़ी होगी जिससे पूरी जिंदगी एवी की देखभाल अच्छे से हो सके.

(ये खबर हमारे साथी ईश ने लिखी है)


वीडियो- तो क्या अंबानी भारत छोड़ लंदन में बस जाएंगे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?