Submit your post

Follow Us

मणिपुर से आने वाला पहला क्रिकेटर जिसे इंडिया की टीम में जगह मिल गई है

16.01 K
शेयर्स

बीते साल यानी 2018 का दिसंबर महीना. अरुणाचल का अनंतपुर मैदान. 18 साल का एक बाएं हाथ का तेज गेंदबाज बॉलिंग कर रहा था. बॉलिंग एक्शन एकदम इरफान पठान जैसा. पहली बार देखने पर लगेगा कि खुद पठान ही बॉलिंग कर रहा है. मगर नहीं, ये बॉलर मणिपुर का रेक्स राजकुमार सिंह है जिसे कूच बिहार अंडर-19 ट्रॉफी के मैच में अरुणांचल के खिलाफ 10 ओवरों में 10 विकेट ले लिए थे. उस मैच में रेक्स के बॉलिंग फिगर्स थे- 9.5-6-10-11. इस बॉलर के 10 शिकारों में 5 बोल्ड आउट हुए, दो एलबीडब्लयू पाए गए और तीन कैच आउट हुए. यही नहीं रेक्स इस दौरान तीन बार हैट्रिक पर भी थे मगर हैट्रिक हो नहीं पाई. इस परफॉर्मेंस के बूते मणिपुर ने अरुणाचल प्रदेश को 10 विकेट से हरा दिया. रेक्स ने पहली पार में भी 5 विकेट लिए थे और दूसरी पारी में 10 विकेट लेकर मैच में 15 विकेट पूरे कर लिए.

मगर आज करीब दो महीने बाद इस बॉलर की बात क्यों? वो इसलिए क्योंकि मणिपुर से आने वाला ये इकलौता क्रिकेटर है जिसे किसी भी इंडिया टीम में जगह मिली है. रेक्स सिंह को इंडिया की अंडर-19 टीम का हिस्सा बनाया गया है जो 20 फरवरी से साउथ अफ्रीका की अंडर-19 टीम के साथ चार-दिन के दो मैच खेलेगी. पूरे नॉर्थईस्ट से रेक्स दूसरे ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्हें किसी भी इंडिया टीम में जगह मिली है. 2006 में अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम में असम के अबु नेचिम अहमद  को जगह मिली थी.  

कैसे बना क्रिकेटर– मणिपुर की राजधानी इंफाल. यहां से तीन किलोमीटर दूर एक जगह है सागोलबंद मोइरांग हनुबा. यहां रेक्स पैदा हुए और अपने घर के पास ही टेनिस बॉल से क्रिकेट खेलना शुरू किया. मगर चूंकि ये मणिपुर है और यहां क्रिकेट के अलावा सारे एथलेटिक गेम खेले जाते हैं, रेक्स ने भी ताइक्वांडो और फुलबॉल में हाथ आजमाया. मगर क्रिकेट कोच रोहेंद्रो सिंह ने रेक्स की बॉलिंग में धार को भांप लिया और लेदर बॉल क्रिकेट खिलवाने लगे. और रेक्स ने पीछे मुड़कर नहीं देखा.

वीडियो देखिए-

खास बात ये भी है कि मणिपुर को पहली दफा इंडिया के डोमेस्टिक क्रिकेट सीजन में खेलने का मौका मिला है. 208-19 से पहले रणजी में मणिपुर की टीम नहीं थी. ये तब संभव हुआ जब जस्टिस लोधा की सिफारिशें बीसीसीआई ने लागू कीं और नॉर्थईस्ट से सात नई टीमों को घरेलू सीजन में शामिल किया गया. रेक्स सिंह ने इसी सीजन अपना रणजी डेब्यू किया था. पारी के 10 विकेट लेने का काम सबसे पहले 1954 में भारतीय लेजेंड्री लेग स्पिनर सुभाष गुप्ते ने किया था. उसके बाद अनिल कुंबले ने भी दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर पाकिस्तान की पूरी पारी को अकेले निपटाकर रिकॉर्ड स्थापित किया था.

Ourfamily is growing.

जो भी हो, डीसेंट्रलाइजेशन ऑफ क्रिकेट यानी दूर दराज के इलाकों तक इस खेल के पहुंचने से क्या फायदा हो सकता है, इसका एक उदाहरण इस फास्ट बॉलर के रूप सामने आ गया है. उम्मीद करते हैं कि पूरे नॉर्थईस्ट से कई और क्रिकेटर इंडिया के लिए खेलें और इंडिया का क्रिकेट और ज्यादा समृद्ध हो. साथ ही रेक्स सिंह अंडर-19 के रास्ते इंडिया की सीनियर टीम में जगह बनाएं.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाडियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.

इस विदेशी सांसद को कश्मीर आने का न्योता दिया फिर कैंसल कर दिया, वजह हैरान करने वाली है

सांसद ने ऐसी शर्त रख दी थी कि विदेशी डेलिगेशन का हिस्सा नहीं बन पाए.

आज ही के दिन यूरोपियन यूनियन के सांसद कश्मीर क्यों पहुंचे? महबूबा मुफ्ती की बेटी ने बताया

आर्टिकल 370 में बदलाव के बाद कश्मीर के हालात का जायजा लेने पहुंचा है 27 सांसदों का दल

BJP नेता से स्कूल ड्रेस ना लेने पर स्कूल टीचर की नौकरी चली गयी!

और बच्चे टीचर को वापिस बुलाने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं.

पाकिस्तान ने सीज़फायर तोड़ा, भारत ने जवाब में मार गिराए पांच पाकिस्तानी सैनिक और कई आतंकवादी

पाकिस्तान ने भी मान लिया कि भारत ने हमला किया है.

अयोध्या : मुस्लिम पक्ष ने कहा, 'केवल हमसे ही सारे सवाल क्यों पूछे जा रहे?'

इस पर हिन्दू पक्ष ने कोर्ट में क्या कह दिया?