Submit your post

Follow Us

मणिपुर से आने वाला पहला क्रिकेटर जिसे इंडिया की टीम में जगह मिल गई है

बीते साल यानी 2018 का दिसंबर महीना. अरुणाचल का अनंतपुर मैदान. 18 साल का एक बाएं हाथ का तेज गेंदबाज बॉलिंग कर रहा था. बॉलिंग एक्शन एकदम इरफान पठान जैसा. पहली बार देखने पर लगेगा कि खुद पठान ही बॉलिंग कर रहा है. मगर नहीं, ये बॉलर मणिपुर का रेक्स राजकुमार सिंह है जिसे कूच बिहार अंडर-19 ट्रॉफी के मैच में अरुणांचल के खिलाफ 10 ओवरों में 10 विकेट ले लिए थे. उस मैच में रेक्स के बॉलिंग फिगर्स थे- 9.5-6-10-11. इस बॉलर के 10 शिकारों में 5 बोल्ड आउट हुए, दो एलबीडब्लयू पाए गए और तीन कैच आउट हुए. यही नहीं रेक्स इस दौरान तीन बार हैट्रिक पर भी थे मगर हैट्रिक हो नहीं पाई. इस परफॉर्मेंस के बूते मणिपुर ने अरुणाचल प्रदेश को 10 विकेट से हरा दिया. रेक्स ने पहली पार में भी 5 विकेट लिए थे और दूसरी पारी में 10 विकेट लेकर मैच में 15 विकेट पूरे कर लिए.

मगर आज करीब दो महीने बाद इस बॉलर की बात क्यों? वो इसलिए क्योंकि मणिपुर से आने वाला ये इकलौता क्रिकेटर है जिसे किसी भी इंडिया टीम में जगह मिली है. रेक्स सिंह को इंडिया की अंडर-19 टीम का हिस्सा बनाया गया है जो 20 फरवरी से साउथ अफ्रीका की अंडर-19 टीम के साथ चार-दिन के दो मैच खेलेगी. पूरे नॉर्थईस्ट से रेक्स दूसरे ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्हें किसी भी इंडिया टीम में जगह मिली है. 2006 में अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम में असम के अबु नेचिम अहमद  को जगह मिली थी.  

कैसे बना क्रिकेटर– मणिपुर की राजधानी इंफाल. यहां से तीन किलोमीटर दूर एक जगह है सागोलबंद मोइरांग हनुबा. यहां रेक्स पैदा हुए और अपने घर के पास ही टेनिस बॉल से क्रिकेट खेलना शुरू किया. मगर चूंकि ये मणिपुर है और यहां क्रिकेट के अलावा सारे एथलेटिक गेम खेले जाते हैं, रेक्स ने भी ताइक्वांडो और फुलबॉल में हाथ आजमाया. मगर क्रिकेट कोच रोहेंद्रो सिंह ने रेक्स की बॉलिंग में धार को भांप लिया और लेदर बॉल क्रिकेट खिलवाने लगे. और रेक्स ने पीछे मुड़कर नहीं देखा.

वीडियो देखिए-

खास बात ये भी है कि मणिपुर को पहली दफा इंडिया के डोमेस्टिक क्रिकेट सीजन में खेलने का मौका मिला है. 208-19 से पहले रणजी में मणिपुर की टीम नहीं थी. ये तब संभव हुआ जब जस्टिस लोधा की सिफारिशें बीसीसीआई ने लागू कीं और नॉर्थईस्ट से सात नई टीमों को घरेलू सीजन में शामिल किया गया. रेक्स सिंह ने इसी सीजन अपना रणजी डेब्यू किया था. पारी के 10 विकेट लेने का काम सबसे पहले 1954 में भारतीय लेजेंड्री लेग स्पिनर सुभाष गुप्ते ने किया था. उसके बाद अनिल कुंबले ने भी दिल्ली के फिरोजशाह कोटला मैदान पर पाकिस्तान की पूरी पारी को अकेले निपटाकर रिकॉर्ड स्थापित किया था.

Ourfamily is growing.

जो भी हो, डीसेंट्रलाइजेशन ऑफ क्रिकेट यानी दूर दराज के इलाकों तक इस खेल के पहुंचने से क्या फायदा हो सकता है, इसका एक उदाहरण इस फास्ट बॉलर के रूप सामने आ गया है. उम्मीद करते हैं कि पूरे नॉर्थईस्ट से कई और क्रिकेटर इंडिया के लिए खेलें और इंडिया का क्रिकेट और ज्यादा समृद्ध हो. साथ ही रेक्स सिंह अंडर-19 के रास्ते इंडिया की सीनियर टीम में जगह बनाएं.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.