Submit your post

Follow Us

साइकिल पर सवार होंगे BSP के बागी लालजी वर्मा और रामअचल राजभर!

बसपा से निष्कासित नेता लालजी वर्मा और रामअचल राजभर समाजवादी पार्टी जॉइन कर सकते हैं. दोनों नेताओं ने 24 सितंबर को सपा मुखिया और सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की. इसके बाद कयासबाजी तेज है कि दोनों जल्द सपा से जुड़ सकते हैं. अगर ऐसा हुआ तो ये 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले बड़ा पॉलिटिकल डेवलपमेंट होगा. दोनों नेता वर्तमान में विधायक हैं. लालजी वर्मा अंबेडकर नगर के कटेहरी से और राजभर अकबरपुर सीट से विधायक हैं.

बता दें कि जून 2021 में दोनों नेताओं को बसपा से हटा दिया गया था. तब पार्टी ने बयान जारी कर कहा था कि –

“दोनों विधायकों को उनके द्वारा पंचायत चुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने के कारण पार्टी से निष्कासित किया जा रहा है.”

बसपा के लिए झटका?

दोनों नेताओं का सपा में जाना बसपा के लिए एक झटका भी हो सकता है. ये दोनों नेता कांशीराम से लेकर मायावती तक के करीबियों में शुमार रहे हैं. 2017 तक समीकरण इन दोनों नेताओं के पक्ष में थे. तभी इनको विधायकी का टिकट मिला भी और दोनों ने भाजपा के जबरदस्त प्रदर्शन के बीच सीट भी निकाली.

छात्र राजनीति से राजनीतिक करिअर की शुरुआत करने वाले लालजी वर्मा बसपा के बनने के साथ ही इससे जुड़े. 1986 में वे पहली बार MLC बने. तबसे लेकर अब तक 5 बार विधायकी जीत चुके हैं. 1991, 1996, 2002, 2007 और 2017 में. 2014 में उन्होंने श्रावस्ती सीट से लोकसभा चुनाव भी लड़ा था, लेकिन हार गए थे. इसके बाद वापस विधानसभा का रुख़ कर लिया था. बसपा की सरकारों में मंत्री भी रहे. वित्त तक का प्रभार संभाला. वर्तमान में बर्ख़ास्तगी से पहले वे बसपा के विधायक दल के नेता थे.

वहीं रामअचल राजभर 1993 में पहली बार विधायक बने थे. इसके बाद 1996, 2002, 2007 और 2017 में विधायकी जीती. लेकिन रामअचल राजभर की इससे भी बड़ी पहचान ये है कि ये नेता 2 जून 1995 को मायावती के साथ था. ये तारीख़ उत्तर प्रदेश के चर्चित गेस्ट हाउस कांड की है.

क्यों हुए थे निष्कासित?

इसी साल हुए उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के वक्त ख़बरें आईं कि लालजी वर्मा अपनी पत्नी सहित कुछ करीबियों के लिए टिकट चाहते थे. पत्नी को तो टिकट मिला, लेकिन बाकियों को नहीं. इससे ख़फा लालजी ने पंचायत चुनाव से पूरी तरह कन्नी काट ली.

वहीं रामअचल भी कथित तौर पर पूर्व ब्लॉक प्रमुख शारदा राजभर के लिए टिकट चाहते थे. नहीं मिला तो उन्होंने भी पंचायत चुनाव में पार्टी की कोई मदद नहीं की. इन्हीं बातों से ख़फा होकर दोनों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई और पार्टी से निष्कासित कर दिया गया.


उत्तर प्रदेश में हुए उपचुनाव के बाद मायावती ने UP प्रदेश अध्यक्ष ही बदल डाला

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

असम में बॉडी के ऊपर कूदता रहा 'कैमरामैन', पुलिस के अतिक्रमण हटवाने में 2 की मौत

असम के दरांग में हुई इस हिंसा के दृश्य विचलित करने वाले हैं.

पाकिस्तान ने तालिबान के लिए कुर्सी मांगकर झगड़ा करा दिया, SAARC बैठक रद्द

अफगानिस्तान की पूर्व लोकतांत्रिक सरकार के शामिल होने के खिलाफ है पाकिस्तान.

गोवा घूमने गई 25 साल की एक्ट्रेस की कार एक्सीडेंट में डेथ

गोवा में पुल से नीचे गिरी कार, पानी में डूबने से हुई डेथ.

नरेंद्र गिरि कथित आत्महत्या: आरोपी आनंद गिरि को किस महंत ने 'हिस्ट्रीशीटर' कहा?

यूपी पुलिस ने आनंद गिरि को गिरफ्तार कर लिया है.

रूस की यूनिवर्सिटी में अंधाधुंध गोलीबारी, 8 की मौत, आरोपी की उम्र हैरान कर देगी

इस यूनिवर्सिटी में भारत के भी कई छात्र पढ़ते हैं.

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

केंद्रीय मंत्री पद से हटाए जाने के बाद भाजपा छोड़ी थी.

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

कहानी में एक और किरदार सामने आया है, राज फौजदार.

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

पुलिस ने बीकानेर, जयपुर, पाली और उदयपुर से 17 लोगों को गिरफ्तार किया है.

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर कई दावे किए हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीर ने ये भी कहा कि कई मुस्लिम अपने पिता को बाबा भी कहते हैं.