Submit your post

Follow Us

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप (Lakshadweep) पिछले कुछ दिनों से खबरों में है. नया मामला है एक स्थानीय फ़िल्म निर्माता आयशा सुल्ताना (Aisha Sultana) पर राजद्रोह के मुक़दमे का. लक्षद्वीप में प्रशासक के ख़िलाफ़ लोगों के विरोध प्रदर्शनों का एक बड़ा चेहरा हैं आयशा सुल्ताना. आयशा लक्षद्वीप के चेट्टीआथ आइलैंड की रहने वाली हैं. सुलताना पेशे से मॉडल भी रही हैं और उन्होंने कई मलयालम फिल्मों में काम किया है. आयशा लंबे समय से वहां सरकार के खिलाफ अपनी आवाज मुखर करती रही हैं.

गुरुवार यानी कि 10 जून को लक्षद्वीप पुलिस ने आयशा के ख़िलाफ़ प्रशासक प्रफुल खोड़ा पटेल को केंद्र सरकार का  “बायो-वेपन” कहने के लिए उनपर राजद्रोह का मुक़दमा दर्ज किया है.

ये मुक़दमा बीजेपी के लक्षद्वीप इकाई के अध्यक्ष सी अब्दुल खादर हाजी के शिकायत पर दर्ज़ किया गया. मामला कवरत्ती पुलिस थाने में IPC की धारा 124(A) के तहत दर्ज़ हुआ.

खादर की शिकायत में लक्षद्वीप के प्रस्तावित क़ानूनों पर चल रहे मलयालम टीवी न्यूज़ चैनल ‘मीडियावन टीवी’ पर हालिया बहस का हवाला दिया गया है. जिसमें आएशा ने कथित तौर पर कहा था कि केंद्र सरकार प्रफुल्ल पटेल को लक्षद्वीप पर एक “बायो-वेपन” की तरह इस्तेमाल कर रही है.

इस टिप्पणी का बीजेपी की केरल इकाई ने भी विरोध किया है. बीजेपी कार्यकर्ताओं ने केरल में भी आएशा के खिलाफ शिकायत की है.

आयशा ने अपने बयान का बचाव किया

आयशा सुल्ताना ने विवादास्पद बयान को सही ठहराते हुए फ़ेसबुक पर एक पोस्ट किया है. आयशा ने लिखा है,

“मैंने टीवी चैनल की बहस में बायो-वेपन शब्द का इस्तेमाल किया था. मैंने महसूस किया है कि पटेल और उनकी नीतियों ने एक बायो-वेपन के रूप में काम किया है. पटेल और उनके क़ानूनों की वजह से ही लक्षद्वीप में कोविड-19 फैला. मैंने पटेल की तुलना सरकार या देश से नहीं, बल्कि एक बायो-वेपन के रूप में की है… आपको समझना चाहिए. मैं उन्हें और क्या कहूं.

लक्षद्वीप साहित्य संघ आयशा के समर्थन में उतरा

लक्षद्वीप साहित्य प्रवर्तक संगम ने आयशा के समर्थन में एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की. आयशा की बात दोहराते हुए द्वीप में कोरोना वायरस फैलने के लिए प्रफुल पटेल और उनकी नीतियों को ज़िम्मेदार ठहराया. मलयालम भाषा में जारी इस प्रेस रिलीज़ में संगठन के प्रवक्ता के बहिर ने कहा,

“उन्हें(आयशा) देशद्रोही के रूप में चित्रित करना गलत है. उन्होंने प्रशासक के अमानवीय रवैये के खिलाफ प्रतिक्रिया दी थी. पटेल के हस्तक्षेप ने ही लक्षद्वीप को कोविड प्रभावित क्षेत्र बना दिया. लक्षद्वीप में सांस्कृतिक समुदाय उनके साथ खड़ा है. ”

Lakshadweep Sathiya Union Statement
लक्षद्वीप साहित्य प्रवर्तक संगम का आएशा के समर्थन में जारी प्रेस विज्ञप्ति.

वहीं दूसरी तरफ़ लक्षद्वीप के प्रशासक पटेल इन विवादास्पद प्रस्तावों का बचाव कर रहे हैं. उनके मुताबिक़ ये प्रस्तावित बदलाव लक्षद्वीप को मालदीव जैसा टूरिस्ट सेंटर बना देंगे. और ये सब कुछ सिर्फ़ लोगों की भलाई के लिए किया जा रहा है, इसका कोई और अन्य उद्देश्य नहीं है.


लक्षद्वीप पर चल रहे पूरे विवाद को समझने के लिए यह वीडियो देखिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

बीजेपी को सबसे ज्यादा चंदा देने वालों के नाम सुनकर हैरान रह जाएंगे

लगातार 7वें साल बीजेपी को मिला सबसे ज्यादा चंदा, कांग्रेस से 5 गुना ज्यादा.

असम के सीएम ने आबादी घटाने के लिए मुस्लिमों से क्या अपील कर डाली?

सीएम हिमंत बिस्व सरमा ने इस अपील के पीछे की वजह भी बताई.

चेतन साकरिया से किसने कहा था- ऐसे फेंकते रहे तो इंडिया कैप दूर नहीं

टीम इंडिया में सेलेक्ट होकर भावुक हुए चेतन साकरिया.

ATM का ज्यादा इस्तेमाल अब पड़ेगा ज्यादा महंगा, RBI ने फीस बढ़ा दी है

ATM से ज्यादा बार पैसे निकालने के लिए अब कितने पैसे चुकाने होंगे?

श्रीलंका टूर के लिए टीम इंडिया की घोषणा ने किसका दिल तोड़ दिया?

धवन की कप्तानी में घोषित हुई टीम.

UP: बांदा एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में 15 प्रोफेसरों में से 11 ठाकुर नियुक्त, बवाल के बाद जांच के आदेश

यूनिवर्सिटी ने अपनी सफाई में क्या कहा, वो भी जान लीजिए.

सागर धनखड़ हत्याकांड के चश्मदीद सोनू महाल ने बताई हत्या वाली रात की पूरी कहानी

पहलवान सागर धनखड़ के दोस्त सोनू के साथ भी मारपीट हुई थी.

लॉकडाउन में स्कूल बंद हुए तो इस गांव ने घरों की दीवारों को ही बना दिया किताब

इंटरनेट की पहुंच से गांव दूर, लेकिन स्कूल बंद होने पर भी लॉकडाउन में नहीं रुकी पढ़ाई.

लक्षद्वीप में लोगों के विरोध के बीच किस कानून को वापस लेने का ऐलान किया गया है

लक्षद्वीप के निवासी क्या कहकर नए कानून का विरोध कर रहे हैं.

साउथ के सुपरस्टार सूर्या ने अपने फैनक्लब के 250 मेंबर्स की अनोखी मदद कर दी

ऐसा केस रेयर देखने को मिलता है.