Submit your post

Follow Us

लखीमपुर केस: फॉर्च्यूनर वाला अंकित दास गिरफ्तार, 22 अक्टूबर तक जुडिशल कस्टडी में भेजा गया

लखीमपुर खीरी केस में पुलिस ने आरोपी अंकित दास को गिरफ्तार कर लिया है. कोर्ट ने उसे 22 अक्टूबर के लिए जुडिशल कस्टडी में भेज दिया है. बुधवार, 13 अक्टूबर को अंकित दास क्राइम ब्रांच के सामने तब पेश हुआ जब उसको लेकर लखनऊ में नोटिस चिपका दिए गए थे. नोटिस के बाद ही अंकित की तरफ से सरेंडर करने की बात कही गई.

अंकित दास के ड्राइवर को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. लखीमपुर हिंसा वाले दिन आशीष मिश्रा की थार गाड़ी के पीछे अंकित दास की फॉर्च्यूनर मौजूद थी. ऐसा आरोप है कि उस गाड़ी को अंकित का ड्राइवर शेखर भारती चला रहा था.

कोर्ट में क्या हुआ?

गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने अंकित दास को कोर्ट में पेश किया. वहां उसने अंकित को 14 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजने की मांग की. पुलिस का कहना था कि क्राइम सीन रीक्रिएट करने के लिए उसे अंकित की कस्टडी चाहिए. वहीं, अंकित दास के वकील ने इस मांग के खिलाफ दलील दी कि सीन रीक्रिएट करने के लिए अंकित को पुलिस रिमांड पर भेजने की जरूरत नहीं है. फिलहाल कोर्ट ने इस मांग पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है.

कोर्ट में अंकित से ये भी पूछा गया कि घटना के समय आशीष मिश्रा वहां मौजूद थे या नहीं. आजतक से जुड़े समर्थ की रिपोर्ट के मुताबिक इस सवाल पर अंकित दास बोला तो कुछ नहीं, बस सिर हिलाकर मना कर दिया. बाद में चैनल से अंकित ने कहा,

‘मैं निर्दोष हूं. मैंने कोई घटनाक्रम नहीं किया है. हम लोग बस फ्लीट में थे. मुझे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है.’

अंकित दास पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास का भतीजा है. अखिलेश दास 18 साल तक राज्यसभा के सांसद रहे थे. मनमोहन सरकार में अखिलेश दास इस्पात मंत्री बनाए गए थे. अप्रैल 2017 में हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई थी.

अंकित दास केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे और इस घटना के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा के साथ लखीमपुर में राजनीतिक रूप से सक्रिय हैं, खासतौर से निघासन इलाके में. बीती 3 अक्टूबर को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के आगमन पर लखीमपुर में जगह-जगह पोस्टर लगाए गए थे. इस पोस्टर में आशीष मिश्रा और अंकित दास की फोटो भी थी.

बता दें कि लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर को हिंसा हुई थी. इसमें 4 किसानों समेत 8 लोगों की मौत हो गई थी. इस हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. उनके खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है. लखीमपुर हिंसा के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो चुके हैं. इनमें साफ दिख रहा है कि कैसे एक महिंद्रा थार गाड़ी शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे किसानों को रौंदते हुए निकल गई थी. आरोप है कि आशीष मिश्रा खुद थार चला रहे थे. वहीं, उनका दावा है कि वो गाड़ी में मौजूद ही नहीं थे.


लखीमपुर हिंसा में जिस अंकित दास का नाम सामने आया, वो आखिर हैं कौन?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.

लखीमपुर: SC ने यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगते हुए ऐसी बात पूछी है कि जवाब देना मुश्किल हो सकता है

विस्तृत रिपोर्ट दाखिल करने के लिए यूपी सरकार को एक दिन का वक्त दिया है.

छत्तीसगढ़: कवर्धा में किस बात पर ऐसी हिंसा हुई कि इंटरनेट बंद करना पड़ गया?

रविवार 3 अक्टूबर की शाम से यहां कर्फ्यू लगा है.

पैंडोरा पेपर्स: लक्ष्मी निवास मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर बड़ी टैक्स चोरी और धोखाधड़ी का आरोप

ब्रिटेन की अदालतों में इन दोनों ने अपनी आय शून्य बताई थी.