Submit your post

Follow Us

लद्दाख BJP अध्यक्ष ने छोड़ी पार्टी, कहा- लद्दाख के लोगों के बारे में न पार्टी सुन रही, न प्रशासन

लद्दाख. भारत की उत्तरी दिशा का केंद्रशासित प्रदेश. सालभर पहले तक यह जम्मू-कश्मीर राज्य का ही अंग हुआ करता था. लेकिन अनुच्छेद 377 हटाए जाने के बाद इसे केंद्रशासित प्रदेश घोषित कर दिया गया. यहां से बीजेपी के जामयांग त्सेरिंग नामग्याल सांसद हैं. संसद में अपने भाषण के चलते वह सुर्खियों में रहते हैं. लेकिन अभी बात करते हैं लद्दाख में बीजेपी अध्यक्ष रहे चेरिंग दोरजे की. उन्होंने 3 मई को अध्यक्ष पद के साथ ही पार्टी भी छोड़ दी. इस्तीफा उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को भेज दिया.

बीजेपी के लिए उनके इस्तीफे को बड़ा झटका कहा जा रहा है. वे मार्च, 2020 में ही लद्दाख बीजेपी के अध्यक्ष बनाए गए थे.

इस्तीफे का पत्र चेरिंग दोरजे ने मीडिया में जारी किया. इसमें लद्दाख केंद्रशासित प्रदेश के प्रशासन के साथ ही बीजेपी पर भी आरोप लगाए. उन्होंने आरोप लगाया कि कोरोना वायरस और लॉकडाउन के चलते देशभर में लद्दाख के लोग भटक रहे हैं. लेकिन लद्दाख प्रशासन इन्हें लाने पर ध्यान नहीं दे रहा. प्रशासन का रवैया लोगों के प्रति असंवेदनशील है. पार्टी को भी इस बारे में बताया, लेकिन किसी ने नहीं सुनी.

पत्र में दोरजे ने क्या कहा

# लद्दाख के लोग 1948 से ही भारत की सेना के साथ खड़े हैं. उन्होंने साथ में सभी लड़ाइयां लड़ी हैं.
# लद्दाख के देशभक्त लोगों का अनादर और बुरा बर्ताव देखकर मुझे दुख होता है.
# लद्दाख के करीब 20 हजार लोग देश के कई हिस्सों में फंसे हुए हैं. इनमें कई मरीज़, तीर्थयात्री और छात्र हैं. लेकिन इन्हें लाने पर ध्यान नहीं दिया जा रहा.
# इस बारे में कई बार प्रशासन से बात की. लेफ्टिनेंट गवर्नर आरके माथुर के साथ ही बीजेपी उपाध्यक्ष और लद्दाख में पार्टी इंचार्ज अविनाश राय खन्ना से भी बात की, लेकिन कुछ नहीं हुआ.
# लद्दाख सांसद जामयांग त्सेरिंग नामग्याल की बात भी नहीं सुनी जा रही है. वे भी हालात को लेकर चिंतित हैं.
# लद्दाख प्रशासन लेह और कारगिल की ऑटोनोमस हिल काउंसिल को भी काम नहीं करने दे रहा. लद्दाख के लोगों ने इन दोनों जिलों के स्वायत्त शासन के लिए काफी कुर्बानियां दीं.
# मैंने समय पर हाई कमान को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समस्याओं के बारे में बता दिया था.
# मेरी शिकायतों पर हाई कमांड ने कोई जवाब नहीं दिया. ऐसे में मेरे पास पद और पार्टी छोड़ने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा.

कौन हैं चेरिंग दोरजे

वे लद्दाख केंद्रशासित प्रदेश के पहले बीजेपी अध्यक्ष थे. जेपी नड्डा ने मार्च में ही दोरजे को अध्यक्ष बनाया था. इससे पहले वे महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व वाली पीडीपी-बीजेपी सरकार में मंत्री भी थे. पहले उन्हें स्वतंत्र प्रभार का मंत्रालय दिया गया था. बाद में कैबिनेट मंत्री के रूप में प्रमोट किया गया था. साल 2013 से 2015 के दौरान वे लेह बीजेपी के अध्यक्ष पद पर थे.

चेरिंग दोरजे ने राजनीति में कदम कांग्रेस पार्टी के साथ रखा. 1996 में कांग्रेस के टिकट पर लेह से विधायक चुने गए थे. 2002 में वह लद्दाख यूनियन टेरिटरी फ्रंट में शामिल हो गए थे. दोरजे लेह ऑटोनॉमस हिल डवलपमेंट काउंसिल के चेयरमैन भी रह चुके हैं. साल 2005 में वह इस पद पर बैठे थे.

दोरजे के इस्तीफे पर बीजेपी आलाकमान की ओर से अभी बयान नहीं आया है. लद्दाख सांसद जामयांग त्सेरिंग नामग्याल ने भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. हालांकि स्थानीय बीजेपी नेताओं ने बताया कि चेरिंग दोरजे को मनाने की कोशिश की जा रही है.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video:लॉकडाउन में फंसे लोगों के लिए घर लौटने का रास्ता मोदी सरकार ने तैयार कर दिया है!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

'रामायण' और 'महाभारत' एक बार फिर से वापस आ रहे हैं

डेढ़ महीने के भीतर ये 'रामायण' और 'महाभारत' का दूसरा री-रन होगा.

टीम इंडिया में किस विकेटकीपर को मिलना चाहिए मौका, सचिन ने सही बात बोल दी!

सचिन तेंडुलकर ने टीम इंडिया की विकेटकीपर की समस्या पर बात की है.

हिंदवाड़ा में शहीद हुए कर्नल आशुतोष शर्मा की ये कविता किसी को भी भावुक कर देगी!

'उसकी बातों में मेरे सरहद पर होने का गुरूर दिखता है.'

गौतम गंभीर ने किसे दिया रोहित शर्मा के सफल करियर का श्रेय?

रोहित-विराट को धोनी जैसा बनते देखना चाहते हैं गंभीर.

ऋषि कपूर और इरफ़ान की मौत से क्या जरूरी बात सीखने के लिए कहा धर्मेंद्र ने

इन दोनों एक्टर्स के जाने पर धर्मेंद्र ने क्या क्या कहा है?

रोहित शर्मा ने बताया, किस एक गेंदबाज़ ने उड़ाई है उनकी नींद

उल्टा वो गेंदबाज़ खुद रोहित से घबराता रहा.

सुरेश रैना ने सचिन तेंडुलकर को फुटबॉलर लियोनल मेसी जैसा क्यों बताया?

इन दो फनकारों की कौन-सी खूबियां एक जैसी हैं?

ई-पास कौन बनवा सकता है और इसके लिए क्या करना पड़ेगा?

लॉकडाउन-3 में बेहद काम आने वाली चीज़ है ई-पास.

अंबाती रायुडू ने बताया, किस भारतीय ने सिखाई रोहित शर्मा को कप्तानी

इस खिलाड़ी की टीम इंडिया में वापसी के लिए शर्त तक लगाने को तैयार हैं रायुडू.

पाकिस्तानी दिग्गज मोहम्मद यूसुफ ने इस इंडियन स्टार के लिए लिखा, 'नंबर 1'

विराट के मुकाबले में किस कप्तान को बताया बेस्ट?