Submit your post

Follow Us

दिल्ली डेयरडेविल्स को आखिर वो मिल गया, जिसके लिए वो 10 साल से तरस रही थी

2011 वर्ल्डकप का फाइनल याद करिए. वीरेंद्र सहवाग मैच की दूसरी बॉल पर आउट हो गए. सचिन तेंदुलकर भी साथ छोड़ गए. मगर एक खिलाड़ी हार मानने को तैयार ही नहीं था. जूझा जा रहा था. 19वें ओवर में उनका लिया गया दूसरा रन. मुरलीधरन की बॉल पर जब वो सुपरमैन बन गया. दीन-दुनिया और शरीर की फिक्र छोड़कर उड़ गया. वो उड़ान कभी न भूलने वाली थी. ये रन हर हाल में पूरा करना जो था. जिंदगी मौत का सवाल था. रन पूरा हुआ. बात कर रहे हैं गौतम गंभीर की. फाइटर गौतम गंभीर की. उस मैच में 97 रन बनाने वाले गंभीर. 122 गेंदों पर. ये 97 रन बनाए नहीं गए थे. कमाए गए थे. रचे गए थे. सेंचुरी पूरी न हो सकी मगर जब गंभीर लौट रहे थे तो उनका बहता पसीना और मिट्टी से रंगी टीशर्ट सब बयां कर रही थी. टीम इंडिया वर्ल्डकप मैच जीती. मैन ऑफ द मैच धोनी रहे मगर इसके आर्किटेक्ट गंभीर थे.

वर्ल्डकप के फाइनल में लिया गया गंभीर का वो रन.
वर्ल्डकप के फाइनल में लिया गया गंभीर का वो रन.

ये फाइटर फिर हाथ लगा कोलकाता नाइट राइडर्स के. और आईपीएल की कतार में सबसे नीचे दिख रही ये टीम अचानक टॉप पर आ गई. छा गई. गंभीर के हाथ लगते ही सोना हो गई. दो बार आईपीएल की चैंपियन बनी. 2012 और 2014. ये गंभीर की कप्तानी का ही कमाल था. काहे से उससे पहले के सीजंस में टीम में प्लेयर तो एक से एक बड़का-बड़का वाले थे, मगर लीडर नहीं था. गंभीर आए तो लीडर भी मिला और ओपनर भी. शानदार ओपनर. रन बनाने वाला. मैच जिताने वाला. पर अपने इस फाइटर कप्तान को 2018 में रिलीव कर कोलकाता ने गंभीर को ही नहीं, पूरे क्रिकेट प्रेमियों को चौंका दिया. खबरें आईं कि गंभीर ने 2018 के ऑक्शन में भी कोलकाता से मना कर दिया है कि उन्हें ना खरीदें. गंभीर के इस फैसले का फायदा मिला दिल्ली डेयरडेविल्स को. उन्हें कप्तान मिल गया और एक तगड़ा ओपनर भी.

बताओ जब ये सब हो रहा था, तो सबसे ज्यादा खुश कौन था. दिल्ली वाले. क्योंकि उनका लाडला वापस घर लौट रहा था. दिल्ली वालों को अब कंफ्यूज नहीं होना पड़ेगा. काहे से पहले जब दिल्ली और कोलकाता का मैच होता था तो दिल्ली वाले समझ नहीं पाते थे गंभीर का समर्थन करते हुए कोलकाता को जितवाएं या अपनी घरेलू टीम को चीयर करें. पर अब तो टीम भी अपनी है, कप्तान भी अपना. गंभीर ने भी आईपीएल 2018 के अपने पहले ही मैच में बता दिया कि दिल्ली ने फायदे का सौदा किया है. पंजाब के खिलाफ. मोहाली में. फिफ्टी मारकर. अपनी 36वीं आईपीएल फिफ्टी. 55 रन बनाए 42 बॉलों पर.

गंभीर ने फिफ्टी मार दी है.
गंभीर ने फिफ्टी मार दी है.

पर मैच अभी बाकी है. स्टार प्लेयर्स से भरी पंजाब की टीम की बैटिंग अभी बाकी है. गंभीर की कप्तानी का इम्तेहान अभी बाकी है. इसके साथ ही अभी पूरा आईपीएल भी बाकी है. उनके पास साबित करने का मौका है कि अब भी उनमें बहुत दम बाकी है. कोलकाता ने गलती की है उन्हें छोड़कर. एक और मौका है, दिल्ली पर लगे कलंक को मिटाने का. कलंक ये कि इस टीम ने एक बार भी आईपीएल टाइटल नहीं जीता है. सो देखने वाला होगा कि दिल्ली का ये लड़का अपनी घर वापसी पर दिल्ली वालों को ये इनाम दे पाता है या नहीं.


ये भी पढ़ें –

धोनी अपनी जगह हैं, लेकिन युवराज जैसी ये एंट्री कौन मार सकता है?

पंजाब के इस स्पिनर को कहां छुपा के रखा था, पहले ही मैच में बवाला मचा दिया

मुंबई मैच हार गई, मगर एक खुशखबरी उसको मैच के चौथे ओवर में मिल गई थी

रोहित शर्मा के बल्ले पर बने गैंडे का क्या मतलब है?

धोनी जिस चीज को IPL में नहीं चाहते थे, उसका सबसे पहला फायदा उन्हें ही मिला है

आईपीएल शुरू होने के ठीक पहले सरकार ने मैच देखने का बढ़िया जुगाड़ बना दिया है

शोएब अख्तर ने इंडिया-पाकिस्तान रिश्तों पर पहले ट्वीट किया और फिर हटा दिया

आईपीएल से सबसे ज़्यादा पैसे कौन कमा रहा है, लिस्ट आ गई है

लल्लनटॉप वीडियो देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?