Submit your post

Follow Us

अयोध्या: जमीन खरीद मामले में जिन दो लोगों ने काग़ज़ पर साइन किए, उनकी कहानी देखिए

13 जून 2021. अखिलेश यादव सरकार में मंत्री रह चुके सपा नेता पवन पांडेय ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. कुछ कागज दिखाए. जमीन के कागज. पवन पांडेय ने दावा किया कि अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की जमीन खरीद में गड़बड़ी की गई है. पवन पांडेय ने आरोप लगाया कि ट्रस्ट के लिए जमीन जिस दिन खरीदी गई थी, उसी दिन जमीन खरीदे जाने से महज 10 मिनट पहले ही इसी जमीन का दो करोड़ में बैनामा हुआ था. और फिर उसी दिन इसी जमीन का साढ़े 18 करोड़ में ट्रस्ट के नाम अग्रीमेंट कर दिया गया. इसी के आधार पर पवन पांडेय ने सवाल उठाए कि जिस जमीन का 10 मिनट पहले दो करोड़ रुपये में बैनामा हुआ, उसका 10 मिनट बाद साढ़े 18 करोड़ रुपये में अग्रीमेंट कैसे हो गया. यानी 10 मिनट में जमीन की कीमत साढ़े 16 करोड़ रुपये कैसे बढ़ गई?

फिर आयी गवाहों की बारी

इसी साल 18 मार्च को जमीन की दोनों डील हुई. दोनों में मात्र 10 मिनट का अंतर है. लेकिन जो बात सबसे कॉमन है वो हैं गवाह. दोनों डील में दो गवाहों की मौजूदगी दर्ज की गई है. पहला नाम है डॉ. अनिल मिश्रा और दूसरा नाम है ऋषिकेश उपाध्याय का. पवन पांडेय ने पूछा कि ये कैसे संभव है कि ट्रस्टी ने 5-10 मिनट पहले जिस जमीन के 2 करोड़ रुपये के बैनामे पर गवाह के तौर पर दस्तखत किए, उसी जमीन के 10 मिनट बाद साढ़े 18 करोड़ रुपये में गवाह बन गए. गवाहों के नाम एक ही होने से साफ है कि सारा खेल ट्रस्टी और अयोध्या के मेयर को मालूम था.

कौन हैं ये गवाह?

डॉ. अनिल मिश्रा
डॉ. अनिल मिश्रा श्री रामजन्मभूमि ट्रस्ट के सदस्य हैं. होमियोपैथी के डॉक्टर हैं. संघ के समर्पित स्यवंसेवक कहे जाते हैं. मूल रूप से अंबेडकरनगर के निवासी. होमियोपैथी की पढ़ाई फैजाबाद के डॉ. बृजकिशोर होमियोपैथी कॉलेज से की. यहीं संघ के संपर्क में आए. पहले नगर शाखा कार्यवाह और फिर मुख्य शिक्षक का दायित्व संभाला. आगे अवध प्रांत में प्रांत सह कार्यवाह और फिर प्रांत कार्यवाह बने. अनिल मिश्रा संघ के काम के साथ-साथ होमियोपैथी चिकित्सा का काम भी बढ़ाते रहे. वे उत्तर प्रदेश होमियोपैथिक मेडिसिन बोर्ड के रजिस्ट्रार पद के लिए भी नामित हो चुके हैं. 5 फरवरी 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाने की घोषणा की. जिसके बाद ट्रस्ट के 15 सदस्यों के नाम की घोषणा हुई तो इसमें एक नाम डॉ. अनिल मिश्रा का भी था.

श्री रामजन्मभूमि ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय के साथ डॉ. अनिल मिश्र (दाएं)
श्री रामजन्मभूमि ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय के साथ डॉ. अनिल मिश्र (दाएं)

ऋषिकेश उपाध्याय
अयोध्या के पहले मेयर. 2017 में योगी सरकार ने अयोध्या नगर पालिका परिषद और फैजाबाद नगर पालिका परिषद को मिलाकर अयोध्या नगर निगम बनाने का फैसला किया. दिसंबर 2017 में नगरीय निकायों के चुनाव हुए तो बीजेपी उम्मीदवार ऋषिकेश उपाध्याय अयोध्या के पहले मेयर चुने गए. एक डिग्री कॉलेज के संचालक ऋषिकेश उपाध्याय संघ के करीबी माने जाते हैं. कहा जाता है कि ऋषिकेश 2017 में विधानसभा टिकट के लिए भी प्रयासरत थे, लेकिन सफलता नहीं मिली. बाद में मेयर के लिए उम्मीदवार बनाए गए और जीत दर्ज की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय. (फोटो- फेसबुक)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय. (फोटो- फेसबुक)

जमीन की डील में गवाह रहे ऋषिकेश उपाध्याय का कहना है कि तमाम आरोप सियासी साजिश का हिस्सा हैं. आजतक से बात करते हुए उन्होंने कहा,

राम मंदिर ट्रस्ट ने बयान जारी कर साफ कर दिया है वो भूमि पुराने अनुबंध पर थी. उसी के अनुसार उसे अपने नाम कराया गया है. मैं मेयर होने के नाते सभी विषयों में गवाह हूं.

 

इस मामले में मेयर ऋषिकेश उपाध्याय के अलावा ट्रस्ट की ओर से भी सफाई दी गई है. ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने पत्र जारी कर कहा है कि लोग राजनीतिक विद्वेष से प्रेरित होकर भ्रम फैला रहे हैं. कहा है कि ज़मीन को बेचने वालों ने पहले ही अग्रीमेंट कर लिया था, जिस दाम पर अब जाकर ज़मीन की रजिस्ट्री हुई है. लेकिन सवाल उठाने वालों का कहना है कि अग्रीमेंट का काग़ज़ सामने आए तो तस्वीर साफ़ हो सकेगी.


सपा नेता ने लगाया श्री रामजन्मभूमि ट्रस्ट की जमीन खरीदी में गड़बड़ी का आरोप

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र से क्यों कहा- हिंदी में जवाब देना कानून का उल्लंघन?

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र से क्यों कहा- हिंदी में जवाब देना कानून का उल्लंघन?

केंद्र सरकार के अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लेने तक की सलाह दे दी.

अफगानिस्तान: काबुल छोड़ने की कोशिश में प्लेन से गिरकर नेशनल फुटबॉलर की मौत

अफगानिस्तान: काबुल छोड़ने की कोशिश में प्लेन से गिरकर नेशनल फुटबॉलर की मौत

19 साल के जाकी अनावरी अफगानिस्तान के उभरते फुटबॉलर थे.

विकी कौशल की बहुप्रतीक्षित फ़िल्म 'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा'  के साथ बड़ा पंगा हो गया

विकी कौशल की बहुप्रतीक्षित फ़िल्म 'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा' के साथ बड़ा पंगा हो गया

'दी इम्मोर्टल अश्वत्थामा' का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे फैन्स को ये खबर ज़रूर पढ़नी चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सूची में शामिल ये जज देश की पहली महिला CJI हो सकती हैं?

सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की सूची में शामिल ये जज देश की पहली महिला CJI हो सकती हैं?

CJI एनवी रमना की अध्यक्षता वाले सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम ने 9 जजों के नाम की सिफारिश की.

अमरीका में बजी फ़ोन की घंटी और अफ़ग़ानिस्तान से 120 भारतीय नागरिक बचकर इंडिया आ गए!

अमरीका में बजी फ़ोन की घंटी और अफ़ग़ानिस्तान से 120 भारतीय नागरिक बचकर इंडिया आ गए!

भारत की धरती पर उतरते ही यात्रियों ने लगाए भारत माता की जय के नारे.

काबुल से निकलने के लिए लगाई जान की बाजी, हवाई जहाज पर लटके लोग आसमान से गिरे!

काबुल से निकलने के लिए लगाई जान की बाजी, हवाई जहाज पर लटके लोग आसमान से गिरे!

वीडियो में देखिए काबुल एयरपोर्ट के रूह कंपाने वाले हालात.

स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से PM मोदी ने किस-किसका शुक्रिया अदा किया?

स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से PM मोदी ने किस-किसका शुक्रिया अदा किया?

100 लाख करोड़ की गतिशक्ति योजना लॉन्च होगी.

शौर्य चक्र से सम्मानित इन 6 जवानों की कहानियां हर किसी को सुननी चाहिए

शौर्य चक्र से सम्मानित इन 6 जवानों की कहानियां हर किसी को सुननी चाहिए

कैप्टन आशुतोष कुमार को मरणोपरांत शौर्य चक्र मिल रहा है.

पेट्रोल के दाम में भारी कटौती हो गई है!

पेट्रोल के दाम में भारी कटौती हो गई है!

कुछ पैसों की नहीं, पूरे 3 रुपये की कटौती हुई है!

तेज प्रताप यादव पत्रकारों को किस बात पर धमका रहे हैं?

तेज प्रताप यादव पत्रकारों को किस बात पर धमका रहे हैं?

पोस्टर वॉर के पीछे की कहानी क्या है?