Submit your post

Follow Us

नेट्स में कैसे बल्लेबाजों को डराते हैं इंडियन पेसर्स?

सेंचुरियन टेस्ट में जीत के बाद केएल राहुल (KL Rahul) ने भारतीय तेज गेंदबाजों के बारे में बड़ा खुलासा किया है. केएल राहुल ने कहा है कि भारतीय तेज गेंदबाज नेट सेशन को बहुत गंभीरता से लेते हैं. वे नेट्स में किसी भी भारतीय बल्लेबाज को अपना साथी खिलाड़ी नहीं समझते हैं. और उनका सामना करने में भी डर लगता है.

बता दें कि सेंचुरियन टेस्ट में टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया. भारत ने साउथ अफ्रीका को 113 रन से हरा दिया. और इस ऐतिहासिक जीत के हीरो भारतीय तेज गेंदबाजों के साथ केएल राहुल भी रहे. जिन्होंने 123 रन की लाजवाब पारी खेली. केएल राहुल को प्लेयर ऑफ द मैच के अवॉर्ड से नवाजा गया.

इस शानदार जीत के बाद केएल राहुल ने साथी तेज गेंदबाजों की तारीफ करते हुए कहा,

‘मोहम्मद शमी, बुमराह, सिराज, ईशांत जैसे तेज गेंदबाजों को नेट्स में खेलना काफी मुश्किल है. खासतौर पर मेरे लिए. वे नेट सेशन के दौरान काफी डराते हैं. और ये हमारे लिए अच्छी बात है. हमारा बोलिंग अटैक बेस्ट है. न सिर्फ सेंचुरियन टेस्ट में बल्कि पिछले कुछ सालों से हमारी फास्ट बोलिंग यूनिट अच्छी गेंदबाजी कर रही है. खुश हूं कि शमी ने शानदार गेंदबाजी की और बाकी गेंदबाजों ने भी उनका अच्छा साथ दिया.’

बता दें कि केएल राहुल के लिए साल 2021 शानदार रहा. उन्होंने इंग्लैंड में सेंचुरी लगाई. और अब बतौर ओपनर उन्होंने साउथ अफ्रीका में भी सेंचुरी लगाकर कई बड़े रिकॉर्ड बना लिए हैं. केएल राहुल भारत के इकलौते ओपनर बल्लेबाज हैं, जिन्होंने साउथ अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में सेंचुरी लगाने का कारनामा किया है. सेंचुरियन टेस्ट में अपनी पारी को लेकर राहुल ने कहा,

‘सेंचुरियन की मुश्किल पिच पर ओपनिंग साझेदारी अहम थी. अपने प्रदर्शन से काफी खुश हूं. मुझे नहीं लगता कि मैंने अपनी तकनीक में ज्यादा बदलाव किया है. ये सिर्फ माइंडसेट की बात है कि मैं पिच पर कितना अनुशासित और शांत रहता हूं. अनुशासित बल्लेबाजी का मेरे खेल में बड़ा योगदान रहा है. विदेश में बल्लेबाजी करने में इससे मदद मिली है. मैं विदेश में शतक बनाकर बेहद खुश हूं.’

बताते चलें कि सेंचुरियन में भारत ने पहली बार टेस्ट जीत हासिल की है. इससे पहले दो दफा भारत ने यहां टेस्ट मैच खेला था. और दोनों मौकों पर टीम को हार मिली थी. इस जीत के साथ ही भारत ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है. अब सीरीज का दूसरा टेस्ट जोहानिसबर्ग में खेला जाएगा.


INDvsSA: विराट कोहली ने आखिरी आठ मिनट में फेल कर दी साउथ अफ्रीका की चालाकी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया, जानिए किस कानून का इस्तेमाल हुआ?

राजीव गांधी के हत्यारे को सुप्रीम कोर्ट ने रिहा किया, जानिए किस कानून का इस्तेमाल हुआ?

वो पेरारिवलन, जिसने राजीव गांधी की हत्या में इस्तेमाल जैकेट के लिए बैटरी सप्लाई की थी

सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद वाले जज सुनेंगे ज्ञानवापी मस्जिद वाला केस!

सुप्रीम कोर्ट में बाबरी मस्जिद वाले जज सुनेंगे ज्ञानवापी मस्जिद वाला केस!

मामला सुप्रीम कोर्ट क्यों गया?

LIC-IPO की लिस्टिंग पर लगी 42,500 करोड़ की चपत, अब क्या करें ?

LIC-IPO की लिस्टिंग पर लगी 42,500 करोड़ की चपत, अब क्या करें ?

ऑफर प्राइस से 8% नीचे लिस्ट हुआ देश का सबसे बड़ा IPO

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

मुंडका अग्निकांड: मृतकों का आंकड़ा 26 तक पहुंचा, बचाव के लिए NDRF को बुलाया गया

इस घटना ने दिल्ली के लोगों को हिलाकर रख दिया है.

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

छत्तीसगढ़ के रायपुर एयरपोर्ट पर सरकारी हेलीकॉप्टर क्रैश, दो पायलटों की मौत

क्रैश का कारण अभी साफ नहीं हो सका है.

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

जम्मू-कश्मीर में एक और कश्मीरी पंडित की हत्या, आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर गोली मारी

मृतक राहुल भट्ट राजस्व विभाग में कार्यरत थे.

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

क्या क्रिप्टो करंसी के बुरे दिन शुरू हो गए हैं ? छह महीने में आधी हो गईं कीमतें

30% इनकम टैक्स के बाद अब 28% जीएसटी लगाने की तैयारी

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

पेट्रोल के दाम घटाने की मांग कर रहे विपक्षी राज्यों को पीएम मोदी ने नवंबर याद दिला दिया

मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल मीटिंग में पीएम मोदी ने नाम ले-लेकर सुनाया.

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

धार्मिक जुलूस की अनुमति की प्रक्रिया जान लो, जहांगीरपुरी हिंसा की वजह समझ आ जाएगी

जानकारों ने जहांगीरपुरी में निकले जुलूस पर सवाल उठाए हैं.

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का सेनाध्यक्ष बनना खास क्यों है?

मौजूदा आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे के रिटायर्ड होने पर पदभार संभालेंगे.