Submit your post

Follow Us

टैगोर ने किसे खत लिखा और गांधी जी को अनशन समाप्त करना पड़ा?

7 मई को गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर (Rabindranath Tagore) का जन्मदिवस होता है. इस मौके पर लेखक, बिज़नेसमैन जॉय भट्टाचार्य (Joy Bhattacharjya) ने टैगोर और महात्मा गांधी से जुड़ा एक किस्सा ट्वीट किया. ये ट्वीट देखिए और फिर इसका हिंदी अनुवाद पढ़िए.

वे दोनों (टैगोर और गांधी) कई बातों पर असहमत रहते थे. ख़ासकर खाने को लेकर. गांधीजी ने एक बार कहा – ‘आटे को घी या तेल में तलकर पूड़ी बनाना गेहूं को ज़हर में बदलने जैसा होता है.’ इस पर रवींद्रनाथ टैगोर बोले – ‘हो सकता है कि ये एक धीमा ज़हर हो. लेकिन मैं तो ज़िंदगी में जमकर पूड़ी खाता रहा हूं और अभी तक तो मुझे कोई नुकसान नहीं हुआ.’ गुरुदेव अक्सर महात्मा गांधी के मना करने के बाद भी उनकी मदद के लिए तैयार रहते थे.

जब गुरुवायुर मंदिर में हरिजनों के प्रवेश को लेकर महात्मा अनिश्चितकालीन उपवास पर चले गए तो गुरुदेव ने Zamorin of Calicut (कालीकट – वर्तमान में कोझिकोड – के राजा) को चुपचाप एक ख़त लिख डाला कि वे हरिजनों के प्रवेश की मंजूरी दे दें ताकि गांधीजी के जीवन को बचाया जा सके.

जब 1932 में कम्युनल अवॉर्ड के ख़िलाफ गांधी जी आमरण अनशन पर गए तो टैगोर भी फौरन अपने दोस्त के पास पूना पहुंच गए. जब पूना पैक्ट की घोषणा हुई तो गांधी जी ने टैगोर और कस्तूरबा के हाथों जूस पीकर गीतांजलि की पंक्तियां गाते हुए व्रत तोड़ा.

नोबेल विजेता अमर्त्य सेन ने किताब ‘Argumentative Indian’ में ‘टैगोर और उनका भारत’ में टैगोर की राष्ट्रीयता और देशभक्ति से जुड़ी बातें बताईं हैं. ये बातें उन्होंने सामाजिक कार्यकर्ता और पादरी सी एफ एंड्रूज के हवाले से लिखी हैं. एंड्रूज महात्मा गांधी और टैगोर के करीबी मित्रों में से एक थे. लेकिन वे बताते हैं कि गांधी और टैगोर के विचार एक-दूसरे से अलग थे.इसके बाद भी दोनों एक-दूसरे का बेहद सम्मान करते थे.

टैगोर मानते थे कि देशभक्ति चारदीवारी से बाहर विचारों से जुड़ने की आजादी से हमें रोकती है. दूसरे देशों की जनता के दुख दर्द को समझने की स्वतंत्रता भी सीमित कर देती है. वह अपने लेखन में राष्ट्रवाद को लेकर आलोचनात्मक नजरिया रखते थे. गांधी जी के राष्ट्रवाद के सिद्धांत इससे कुछ अलग ज़रूर थे, लेकिन राष्ट्रवाद को देश की सीमाओं में वे भी नहीं तोलते थे. उनके लिए राष्ट्रवाद ‘वसुधैव कुटुंबकम’ से प्रेरित था.


इमरान खान ने रवींद्र नाथ टैगोर की बात खलील जिब्रान की बताकर ट्वीट कर दी, लोगों ने मजे ले लिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दक्षिण में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं, कर्नाटक और केरल में टॉप नेता सवालों में क्यों हैं?

दक्षिण में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं, कर्नाटक और केरल में टॉप नेता सवालों में क्यों हैं?

मामला इतना बढ़ गया कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को दखल देना पड़ा है.

आसिफ को भीड़ ने पीटकर मार डाला तो आरोपियों की रिहाई के लिए महापंचायतें क्यों हो रही हैं?

आसिफ को भीड़ ने पीटकर मार डाला तो आरोपियों की रिहाई के लिए महापंचायतें क्यों हो रही हैं?

करणी सेना के नेता धमकी दे रहे- जो भी हमें रोकेंगे, उन्हें ठोक देंगे.

तमिल नेता ने अमेज़न से कहा 'फैमिली मैन 2' को बंद करो, वरना...

तमिल नेता ने अमेज़न से कहा 'फैमिली मैन 2' को बंद करो, वरना...

अमेज़न प्राइम वीडियो की हेड को लेटर लिख दी है खुली चेतावनी.

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

वेस्ट बंगाल पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है.

अलीगढ़ शराबकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी ऋषि शर्मा गिरफ्तार

अलीगढ़ शराबकांड का मुख्य आरोपी और एक लाख का इनामी ऋषि शर्मा गिरफ्तार

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जहरीली शराब से अब तक 108 लोगों की मौत हो चुकी है.

ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया, कुछ ही घंटे में रिस्टोर किया

ट्विटर ने उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया, कुछ ही घंटे में रिस्टोर किया

पर्सनल अकाउंट से हटा था ब्लू टिक, ट्विटर ने वजह बताई.

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

यूपीः भाजपा नेताओं ने हिस्ट्रीशीटर को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाकर भगा दिया, पुलिस अब तक तलाश रही है

कानपुर की घटना, पुलिस ने शुरुआती FIR में बीजेपी नेताओं का नाम ही नहीं लिखा.

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

राजस्थान में क्या सचमुच कोरोना वैक्सीन की जमकर बर्बादी हो रही है?

अशोक गहलोत सरकार का इनकार, लेकिन आंकड़े कुछ और ही बता रहे.

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

रिटायर्ड जस्टिस अरुण मिश्रा को मोदी सरकार ने NHRC चेयरमैन बनाया तो बवाल क्यों हो रहा है?

लोग जस्टिस अरुण मिश्रा को इस पद के लिए चुने जाने का बस एक ही कारण गिना रहे हैं.

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

क्या कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को लेकर मोदी सरकार झूठ बोल रही है?

अलग-अलग आंकड़े क्या कहानी बताते हैं?