Submit your post

Follow Us

पकड़ा गया बच्चा चोरी गैंग, 15 दिन का बच्चा चोरी कर साढ़े 5 लाख में बेच दिया था

उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद में बच्चों की चोरी और तस्करी का एक बड़ा गैंग पकड़ा गया है. काफी समय से ये लोग अलग-अलग घटनाओं को अंजाम दे रहे थे. गैंग ने हाल ही में 15 दिन के बच्चे को चोरी कर साढ़े 5 लाख रुपये में लखनऊ में बेच दिया था. इस बच्चे को चोरी होने के बाद पुलिस ख़ासी सक्रिय हुई. किडनैपिंग के खुलासे के लिए SP देहात डॉक्टर इरज राजा और लोनी क्षेत्र के SHO ओम प्रकाश सिंह के नेतृत्व में पुलिस की टीम लगाई गई. आखिरकार एक सूचना के आधार पर लोनी थाना पुलिस ने बच्चे को लखनऊ से बरामद किया. बच्चा सुरक्षित है. साथ ही बच्चों की तस्करी, उनकी खरीद-फरोख़्त करने वाले गैंग का भी भंडाफोड़ किया है. अभी तक कुल 14 लोगों का गैंग पता चला है. इनमें महिलाएं भी शामिल हैं. 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. 3 अभी भी फरार हैं. तलाश जारी है.

इंडिया टुडे रिपोर्टर तनसीम हैदर की रिपोर्ट के मुताबिक- 12 मई को लोनी के रहने वाली फातिमा ने पुलिस में शिकायत की थी कि दोपहर करीब 12 बजे एक पुरुष और एक महिला उनके घर आए. किराये पर मकान देखने के लिए. बातों-बातों में ही दोनों लोगों ने फातिमा को कुछ नशीला पदार्थ दे दिया और उनका 15 दिन का बच्चा लेकर फरार हो गए.

कैसे पकड़ा गया गैंग?

SSP अमित पाठक ने बच्चे की बरामदगी के लिए पुलिस टीम गठित की. सूचना मिली कि लखनऊ के आलमबाग से आलोक अग्निहोत्री नाम के व्यक्ति के पास से बच्चा बरामद किया गया है. आलोक अग्निहोत्री को गिरफ्तार किया गया तो उसने पुलिस को बताया कि शादी के बाद उसकी कोई औलाद नहीं थी. इसके चलते उसने यह बच्चा साढ़े 5 लाख रुपये में दिल्ली की अश्मित कौर और उसके पति गुरमीत से खरीदा है. अब पुलिस अश्मित और गुरमीत तक पहुंची. दोनों को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया. पूछताछ करने पर दोनों ने इस पूरे गैंग से जुड़े तमाम लोगों के नाम लिए और बताया कि किस तरह अलग-अलग तमाम लोगों से होते हुए ये बच्चा अश्मित, गुरमीत के पास पहुंचा. अश्मित ने बताया कि उसका नंबर एक वेबसाइट पर पड़ा है. जिसको बच्चे की आवश्यकता होती है, वह उसे फोन करके बताता है और फिर ये लोग बच्चे की व्यवस्था करके उपलब्ध कराते हैं.


सोशल मीडिया पर नर बलि के लिए बच्चा चोरी की अफ़वाहों ने मॉब लिंचिंग करवाई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

छत्तीसगढ़ में वैक्सीन सर्टिफिकेट से हटाई गई पीएम मोदी की तस्वीर

BJP ने कांग्रेस सरकार पर लगाया ये आरोप.

बाबा रामदेव ने ऐलोपैथी पर क्या कह दिया कि IMA ने केस दर्ज करने की मांग की है

पूछा है कि हेल्थ मिनिस्ट्री की साख पर सवाल उठाना क्या एंटीनेशनल नहीं है?

संबित सहित तमाम BJP नेताओं के ट्वीट को भ्रामक बताने पर केंद्र ने ट्विटर को तगड़ी डोज़ दे दी

क्या होता है मैनिपुलेटेड मीडिया टैग?

बंगाल: नंदीग्राम से चुनाव हार चुकीं ममता बनर्जी अब इस सीट से लड़ेंगी!

सोवनदेब चट्टोपाध्याय ने अपनी सीट छोड़ी.

चिपको आंदोलन के मशहूर पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का कोरोना से निधन

94 वर्षीय सुंदरलाल बहुगुणा कोरोना संक्रमण के कारण 8 मई से एम्स ऋषिकेश में भर्ती थे.

विदेश जाने वाले भारतीय लोग क्यों Covishield की वैक्सीन लगवाना चाहते हैं?

विदेशों में काम करने और पढ़ने के लिए जाने वालों की टेंशन समझिए?

अजय, सलमान, अमिताभ बच्चन जैसे सितारों के घर, दफ्तर, सेट आए ताउ’ते की चपेट में

अजय देवगन के 'मैदान' का सेट एकदम तहस-नहस हो गया.

यूपीः पंचायत चुनाव ड्यूटी में लगे शिक्षकों की मौत- हकीकत और सरकारी दावे की पड़ताल

शिक्षकों की मौत के आंकड़े क्या बता रहे हैं?

अगर कोरोना हुआ है तो ठीक होने के 3 महीने बाद ही लगवा सकेंगे वैक्सीन

जानिए वैक्सीनेशन से जुड़े अहम सवालों के जवाब.

पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश के जिस कोरोना मॉडल की तारीफ़ की उसकी सच्चाई क्या है?

डेटा के साथ खिलवाड़ कर रही शिवराज सरकार?