Submit your post

Follow Us

कोझीकोड विमान हादसा: राहत-बचाव में कोरोना संक्रमण का डर, अब तक 19 लोगों की मौत

केरल के कोझीकोड में 7 अगस्त को हुए विमान हादसे में अब तक करीब 19 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें पायलट और को-पायलट भी शामिल हैं. 149 लोग अस्पताल में भर्ती हैं. 22 की हालत अभी भी गंभीर बताई जा रही है. चार केबिन क्रू सदस्य सुरक्षित बताए गए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान AXB-1344 बारिश और खराब मौसम के चलते रनवे से आगे निकल गया और 35 फीट गहराई में गिर गया. दुबई से कालीकट के लिए आया ये विमान दो टुकड़ों में बंट गया. मौके पर राहत बचाव कार्य के लिए NDRF के अलावा कई टीम पहुंचीं.

विमान में कुल 190 यात्री सवार थे, जिन्हें ‘वंदे भारत मिशन’ के तहत भारत लाया गया था. फ्लाइट रिकॉर्डर को रिकवर कर लिया गया है. कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर को खोजा जा रहा है. आज 8 अगस्त को मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान घटनास्थल का दौरा करेंगे.

कोरोना संक्रमण का डर

कोझीकोड इंटरनेशनल एयरपोर्ट (कारीपुर एयरपोर्ट) पर हुई इस घटना में 100 से ज़्यादा लोगों के घायल होने की सूचना है. कोझीकोड मेडिकल हॉस्पिटल में उनका इलाज चल रहा है. नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि हमारा काम और मुश्किल हो जाता, अगर प्लेन में आग लग जाती. इस बीच राहत बचाव कार्य में कोरोना संक्रमण का डर भी जताया जा रहा है. केरल स्वास्थ्य मंत्रालय ने 8 अगस्त को घोषणा की कि जो लोग राहत बचाव कार्य में लगे हैं, उन्हें क्वारंटीन करने की ज़रूरत पड़ेगी. कोंडोट्टी इलाका, जहां ये एयरपोर्ट मौजूद है, वो पहले से कंटेनमेंट ज़ोन है. घायल मरीजों का भी कोविड टेस्ट किया जा रहा है.

कहा जा रहा है कि दो टुकड़ों में बंटने के बावजूद आग नहीं लगी वरना हादसा और बड़ा हो सकता है. फोटो: PTI
कहा जा रहा है कि दो टुकड़ों में बंटने के बावजूद आग नहीं लगी वरना हादसा और बड़ा हो सकता है. फोटो: PTI

ASI ने बताया आंखों देखा हाल

आज तक के मुताबिक, घटना के वक्त ASI अजित एयरपोर्ट पर ड्यूटी पर तैनात थे और वो एयरपोर्ट के पेरिमीटर पर पैट्रोलिंग पार्टी को लीड कर रहे थे. उन्होंने बताया कि विमान रनवे पर दौड़ा लेकिन रुका नहीं. उन्होंने विमान को दो हिस्सों में बंटते देखा. अजित बताया कि घटना गेट नंबर 8 के पास हुई. उन्होंने तुरंत कंट्रोल रूम और यूनिट लाइन को सूचना दी. सूचना मिलने पर आस-पास की केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) के 40 जवान, क्विक रिएक्शन टीम, कॉर्डन एंड सर्च ऑपरेशन (CASO) की टीम घटनास्थल पर पहुंची.

पायलट कैप्टन दीपक वसंत साठे 

पायलट कैप्टन दीपक वसंत साठे की भी इस हादसे में मौत हो गई. वो वायुसेना के पूर्व टेस्ट पायलट थे और अनुभवी एरियल ऑपरेटर माने जाते थे. उन्होंने एयर इंडिया के लिए एयरबस 310 उड़ाया था. इसके बाद एयर इंडिया एक्सप्रेस के बोइंग 737 में शिफ्ट हुए. उन्हें एयरफोर्स एकेडमी (AFA) की तरफ से 1981 में स्वॉर्ड ऑफ ऑनर भी मिला हुआ था. वो पुणे की नेशनल डिफेंस एकेडमी (NDA) से निकले थे और जूलियट स्क्वाड्रन की ओर से पुणे NDA के 58वें कोर्स में उन्होंने पहला स्थान हासिल किया था. फाइटर प्लेन पायलट के अलावा वो HAL टेस्ट पायलट थे.

कैप्टन दीपक वसंत साठे अनुभवी पायलट थे. फाइल फोटो: India Today
कैप्टन दीपक वसंत साठे अनुभवी पायलट थे. फाइल फोटो: India Today

बताया गया है कि हादसे का शिकार हुए विमान में पायलट लैंडिंग के वक्त विजिबिलिटी 2000 मीटर थी. विमान की लैंडिंग का ये दूसरा प्रयास था. रिपोर्ट के मुताबिक, कैप्टन साठे ने दुर्घटना से ठीक पहले विमान का इंजन बंद कर दिया ताकि यात्रियों की जान बचाई जा सके. को-पायलट अखिलेश कुमार के साथ कैप्टन साठे का शव कोझीकोड के MIMS अस्पताल में रखा गया है.

हादसे में मारे गए को-पायलट अखिलेश कुमार. फोटो: PTI
हादसे में मारे गए को-पायलट अखिलेश कुमार. फोटो: PTI

असुरक्षित टेबलटॉप रनवे

टेबलटॉप रनवे को भी विमान हादसे की एक वजह माना जा रहा है. ये रनवे ऊंचाई पर होते हैं और इनके इर्द-गिर्द खड्डा होता है. इन्हें आम तौर पर पहाड़ियों को काटकर बनाया जाता है. टेबलटॉप एयरपोर्ट सुरक्षित नहीं माने जाते. यहां लैंडिंग जटिल होती है, क्योंकि रनवे से चूकने पर प्लेन के खड्डे में गिरने की संभावना होती है. 2010 में केरल के ही मेंगलुरू में टेबलटॉप रनवे की वजह से बड़ा विमान हादसा हुआ था. इसमें विमान में आग लग गई थी और 158 लोगों की मौत हुई थी. कोझीकोड एयरपोर्ट को भी सुरक्षित नहीं माना गया था और 2010 में DGCA ने बड़े विमानों की लैंडिंग पर रोक लगाई थी, क्योंकि उन्हें लैंडिंग के बाद रुकने के लिए लंबी दूरी की ज़रूरत होती है. इस एयरपोर्ट की असुरक्षा को लेकर DGCA ने 2019 में भी चेतावनी दी थी.


भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 20 लाख के पार, कहां हो रही चूक?

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

दिल्ली दंगा : मरा है या नहीं, ये चेक करने के लिए ज़िंदा शाहबाज़ पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी गयी!

कोर्ट में सुनवाई में दिल्ली पुलिस ने क्या बताया

अयोध्या भूमिपूजन से पहले मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की 'धमकी' का क्या सुप्रीम कोर्ट लेगा संज्ञान?

AIMPLB ने Tweet पर विवाद देख डिलीट कर लिया है.

दिशा सालियान की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने खुलासा किया कि मौत की असली वजह क्या थी

मुंबई में एक बिल्डिंग के 14वें माले से गिरकर दिशा की जान गई थी.

दिशा सालियान केस में मुंबई पुलिस अब लोगों से क्या मदद मांग रही है?

बीजेपी सांसद नारायण राणे ने गंभीर आरोप लगाए थे.

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के UPSC निकालने वाले कैंडिडेट्स ने बताया एग्ज़ाम की तैयारी कैसे की

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 16 कैंडिडेट ने परीक्षा पास की है.

अयोध्या : भूमिपूजन में नरेंद्र मोदी और सारे गेस्ट्स की इन तस्वीरों को देखिए!

राम मंदिर का भूमिपूजन.

UPSC रैंकर जिसकी तुलना 'पाताल लोक' के इमरान अंसारी से हो रही है

दिल्ली पुलिस परिवार से पांच लोगों ने इस बार UPSC एग्ज़ाम क्रैक किया है.

इमरान खान ने तमाम छेड़छाड़ करके पाकिस्तान का एक नया नक्शा पेश किया है

उनकी कैबिनेट ने वो नक्शा पास कर दिया है.

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने अधिकारियों से कहा, सुशांत की मौत से जुड़ी जानकारी किसी से भी शेयर नहीं करना!

उस मीटिंग में और क्या कहा मुंबई के पुलिस कमिशनर ने?

फ़रवरी में ही परिवार ने मुंबई पुलिस से सुशांत को बचाने की अपील की थी, पुलिस ने कहा, 'नहीं मिली कम्प्लेन'

सुशांत के जीजा ने DCP को लिखे अपने मैसेज में और क्या बताया?