Submit your post

Follow Us

KBC में पूछे गए इस सवाल का जवाब और इसके पीछे की कहानी आपको पता होनी चाहिए

अमिताभ बच्चन के सबसे पॉपुलर शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का 12वां सीज़न शुरू हो चुका है. कितने लोगों का करोड़पति बनने का सपना सच होगा, ये तो वक्त ही बताएगा. बीते बुधवार को इस शो के आठवें एपिसोड में अस्मिता माधव गोरे हॉट सीट पर बैठीं. अस्मिता ने 12 सवालों के सही जवाब दिए, मगर 13वें सवाल पर अटक गईं. यह सवाल 25 लाख रुपये का था. आइए इसके बारे में बताते हैं.

यह सवाल था- सन् 1905 में बंगाल पार्टिशन के विरोध और लोगों में एकता को दिखाने के लिए इनमें से किस दिन को विशेष रूप से मनाया गया था?
ऑप्शन थे – दशहरा, रक्षाबंधन, ईद और ईस्टर संडे.

सही जवाब था – रक्षा बंधन.

अब बताते हैं, रक्षा बंधन कैसे बना एकता का प्रतीक?

साल 1905 में भारत के तत्कालीन वाइसराय लॉर्ड कर्ज़न ने धार्मिक आधार पर बंगाल के विभाजन का आदेश दिया था. जून 1905 में असम में लॉर्ड कर्ज़न और एक मुस्लिम प्रतिनिधिमंडल के बीच हुई बैठक हुई. इसमें बंगाल के बंटवारे का निर्णय लिया गया. मुसलमान अपनी पहचान बनाए रखने के लिए अलग राज्य के विचार के प्रति आश्वस्त थे.

रवींद्रनाथ टैगोर ने बंगाल को विभाजित करने के ब्रिटिश सरकार के फैसले पर एक विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया.
रवींद्रनाथ टैगोर ने बंगाल को विभाजित करने के ब्रिटिश सरकार के फैसले के विरोध का नेतृत्व किया.

16 अक्टूबर को था रक्षाबंधन

बंगाल विभाजन का आदेश अगस्त 1905 को पारित हुआ. 16 अक्टूबर 1905 को ये लागू हुआ. हिंदू कैलेंडर के हिसाब से उस साल 16 अक्टूबर को श्रावण मास की पूर्णिमा थी. ईसी दिन रक्षाबंधन मनाया जाता है. उस समय रवींद्रनाथ टैगोर ने बंगाल को धार्मिक आधार पर विभाजित करने के ब्रिटिश सरकार के फैसले के खिलाफ एक विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया. इसमें हिंदुओं और मुसलमानों ने एक-दूसरे के बीच एकता और एकजुटता व्यक्त करने के लिए एकदूसरे की कलाई पर राखी बांधी थी. टैगोर के इस अभियान के बाद कलकत्ता, ढाका और सिलहट में सैकड़ों हिंदू और मुस्लिम एकता की निशानी के रूप में राखी के धागे बांधने निकले.

अस्मिता की कहानी सुन इमोशनल हुए बिग बी

बंगाल विभाजन से जुड़े इस सवाल का जवाब अस्मिता को नहीं पता था. उन्होंने केबीसी गेम को क्विट किया और 12 लाख 50 हज़ार रुपये लेकर गईं. अमिताभ बच्चन ने बताया कि सीमा महाराष्ट्र के लातूर रीजन से हैं. उनके पिता पूरी तरह से दृष्टिबाधित हैं. उनकी मां सिर्फ 40 प्रतिशत तक ही देख सकती हैं. जीते हुए रुपयों से अस्मिता अपने भाई-बहनों की एजुकेशन को पूरी करना चाहती हैं. शो पर ही अस्मिता के पिता ने बताया कि कैसे उनके वह दो-ढाई साल के थे तो उनकी आंखों की रोशनी चली गई थी. कहानी सुनकर अमिताभ इमोशनल हो गए.


वीडियो: मिर्ज़ापुर-2: ट्रेलर देख लिए तो अब ये खास बातें भी जान लीजिए!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

स्टूडेंट्स, अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूल जा सकते हैं.

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे हैं राहुल-प्रियंका.

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

सभी पक्ष-विपक्ष वालों का पॉलीग्राफी टेस्ट भी होगा.

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

सभी आरोपियों को बरी करते हुए कोर्ट ने कहा - इन्होंने बाबरी मस्जिद को बचाने की कोशिश की थी

आ गया है 28 साल पुराने मामले में फ़ैसला

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

हाथरस के कथित गैंगरेप मामले पर विराट कोहली ने क्या कहा?

अक्षय कुमार ने भी ट्वीट किया है.