Submit your post

Follow Us

करनाल: लाठीचार्ज से किसान की मौत के आरोप पर पुलिस अलग ही कहानी बता रही है

हरियाणा के करनाल (karnal) में लाठीचार्ज के बाद एक किसान की मौत को लेकर किसानों में काफी गुस्सा है. अखिल भारतीय किसान मजदूर सभा का दावा था कि पुलिस के लाठीचार्ज में सुशील काजल नाम के किसान की जान गई. इस आरोप के बाद से पुलिस अपना दामन बचाने की कोशिश में लगी है. करनाल के एसपी गंगा राम पुनिया ने अब आरोपों को नकारते हुए कहा है कि किसान की मौत लाठीचार्ज से नहीं बल्कि हार्ट अटैक से हुई है.

किसान नेताओं ने क्या आरोप लगाया?

करनाल में 28 अगस्त के दिन किसानों के प्रदर्शन के दौरान वहां के एसडीएम का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह किसानों पर लाठीचार्ज करने का आदेश देते दिख रहे थे. इसके बाद किसानों पर लाठीचार्ज किया गया, जिसमें कई किसानों को चोटें पहुंची थीं. इसी घटना के बाद अखिल भारतीय किसान मजदूर सभा ने दावा किया था कि पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज में किसान की मौत हो गई है. सुशील काजल नाम का ये किसान रामपुर जटा गांव का रहने वाला था.

भारतीय किसान यूनियन के नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने भी 29 अगस्त को ट्वीट करके दावा किया था कि

“भाई सुशील काजल जो डेढ़ एकड़ के किसान थे, 9 महीने से चल रहे आंदोलन में अपनी हिस्सेदारी दे रहे थे. कल (28 अगस्त को) करनाल टोल प्लाजा पर जो पुलिस ने लाठियां चलाईं, उसमें उनको बहुत चोट आई थी. रात को हार्ट फेल के कारण शरीर त्याग कर भगवान को प्यारे हो गए. किसान कौम इनके बलिदान की सदा आभारी रहेगी.”

अखिल भारतीय किसान मजदूर सभा के महासचिव डॉक्टर आशीष मित्तल ने भी आरोपी लगाया कि पुलिस ने एसडीएम के आदेश पर बसताड़ा टोल, करनाल में किसानों पर लाठियां बरसाई थीं. इसी की वजह से शनिवार की रात सुशील की मौत हो गई.

पुलिस ने सफाई में क्या कहा?

अब पुलिस ने अपनी ओर से इस मामले पर सफाई दी है. करनाल के एसपी गंगा राम पुनिया ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि

“वह (किसान) किसी अस्पताल नहीं गए. वह सामान्य हालत में घर गए और सोते समय उनकी मृत्यु हो गई. कुछ लोग कह रहे हैं कि उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई है. पुलिस द्वारा (करनाल में) बल प्रयोग के दौरान लगी चोटों के कारण किसान के मरने की खबरें झूठी हैं.”

 

एसपी ने बताया कि अगर इस बात में कुछ सचाई होती तो परिवार के लोग पुलिस के पास आ जाते. हमें ऐसी कोई सूचना नहीं मिली है. इन दोनों घटनाओं का आपस में कोई संबंध ही नहीं है.


वीडियो – करनाल में CM खट्टर का विरोध करने पहुंचे किसानों पर पुलिस ने लाठियां बरसाईं, वीडियो वायरल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

किसानों पर लाठीचार्ज, सत्यपाल मलिक बोले- बिना खट्टर के इशारों पर ये नहीं हुआ होगा

किसानों पर लाठीचार्ज, सत्यपाल मलिक बोले- बिना खट्टर के इशारों पर ये नहीं हुआ होगा

मेघालय के राज्यपाल ने कहा-सीएम को किसानों से माफी मांगनी चाहिए.

उज्जैन में मुस्लिम युवक से हाथापाई, जबरदस्ती जय श्रीराम के नारे लगवाए

उज्जैन में मुस्लिम युवक से हाथापाई, जबरदस्ती जय श्रीराम के नारे लगवाए

बीजेपी ने कहा-ऐसे वीडियो कांग्रेस को ही क्यों मिलते हैं?

रेप के मामले में पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर पर क्या आरोप है कि यूपी पुलिस ने इस तरह धर लिया?

रेप के मामले में पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर पर क्या आरोप है कि यूपी पुलिस ने इस तरह धर लिया?

रेप का आरोप लगाने वाली महिला ने कुछ दिन पहले आत्मदाह कर लिया था.

डॉ. कफील खान को CAA पर 'भड़काऊ' भाषण देने के मामले में बहुत बड़ी राहत मिल गई है

डॉ. कफील खान को CAA पर 'भड़काऊ' भाषण देने के मामले में बहुत बड़ी राहत मिल गई है

डॉ. कफील खान ने कहा- भारतीय लोकतंत्र अमर रहे!

काबुल एयरपोर्ट के बाहर सीरियल ब्लास्ट में 12 US कमांडो समेत 100 से ज्यादा की मौत, IS ने ली जिम्मेदारी

काबुल एयरपोर्ट के बाहर सीरियल ब्लास्ट में 12 US कमांडो समेत 100 से ज्यादा की मौत, IS ने ली जिम्मेदारी

इन धमाकों में 143 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है.

इस लीक हुए डॉक्यूमेंट की मानें, तो कांग्रेस सोनू सूद को मुंबई का मेयर बनाना चाहती है!

इस लीक हुए डॉक्यूमेंट की मानें, तो कांग्रेस सोनू सूद को मुंबई का मेयर बनाना चाहती है!

बताया जा रहा है 25 पन्नों के इस कथित चुनाव रणनीति डॉक्यूमेंट को मुंबई कांग्रेस के सेक्रेटरी गणेश यादव ने तैयार किया है.

क्या एक केंद्रीय मंत्री को किसी राज्य की पुलिस गिरफ्तार कर सकती है?

क्या एक केंद्रीय मंत्री को किसी राज्य की पुलिस गिरफ्तार कर सकती है?

भारत के इतिहास में तीसरी बार केंद्रीय मंत्री को गिरफ्तार किया गया है. पहले दो कौन थे, जानते हैं?

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे गिरफ्तार किए गए, CM उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने की बात कही थी

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे गिरफ्तार किए गए, CM उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने की बात कही थी

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बयान से महाराष्ट्र की राजनीति उबल रही है.

इनकम टैक्स पोर्टल से जनता इतनी परेशान हुई कि वित्त मंत्री ने इंफोसिस के CEO को तलब कर लिया

इनकम टैक्स पोर्टल से जनता इतनी परेशान हुई कि वित्त मंत्री ने इंफोसिस के CEO को तलब कर लिया

मुलाकात से पहले ही इन्फोसिस ने सारा सिस्टम ठीक कर दिया.

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र से क्यों कहा- हिंदी में जवाब देना कानून का उल्लंघन?

मद्रास हाई कोर्ट ने केंद्र से क्यों कहा- हिंदी में जवाब देना कानून का उल्लंघन?

केंद्र सरकार के अधिकारियों के खिलाफ एक्शन लेने तक की सलाह दे दी.