Submit your post

Follow Us

कांवड़ियों पर 'पुष्पवर्षा' के लिए किराए पर आए हेलिकॉप्टर पर तगड़ा खर्च आया

सावन का महीना चल रहा है. भोले के भक्त विभिन्न रूपों में उन्हें प्रसन्न करने निकले हैं. पुलिस प्रशासन भी मुस्तैद है. कहा जा रहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने सीमा से बाहर जाकर इंतजाम किए. भोले को प्रसन्न करने की आस लिए भक्तों को प्रसन्न करने के लिए मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने भी हवाई निरीक्षण किया. लेकिन अब उनकी छीछालेदर हो रही है. क्योंकि उन्होंने ड्यूटी पर रहते हुए कांवड़ियों पर फूल बरसाए. वो भी सरकारी खर्चे पर लिए हेलिकॉप्टर से. और इस हेलिकॉप्टर के लिए उनके डिपार्टमेंट ने 14.31 लाख रुपए खर्च किए हैं.

इकॉनमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक यूपी सरकार ने मेरठ और नजदीकी जिलों में हवा से नजर रखने के लिए किराए पर हेलिकॉप्टर लिया. स्टेट के गृह विभाग की ओर से 4 तारीख को ये आदेश जारी हुआ था. 7 से 9 अगस्त तक सतर्क निगरानी करने के लिए ये कवायद की जा रही थी. एयर चार्टर सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड से 14.31 लाख रुपये पर हेलिकॉप्टर लिया गया. उसी हेलिकॉप्टर से मेरठ जोन के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक यानी एडीजी प्रशांत कुमार ने फूल बरसाए.

एडीजी प्रशांत कुमार के साथ दूसरे अफसर भी नजर आए
एडीजी प्रशांत कुमार के साथ दूसरे अफसर भी नजर आए

जिस डिपार्टमेंट में हेलिकॉप्टर किराए पर लेने को कहा था उसने कांवड़ियों पर पुष्पवर्षा का आदेश नहीं दिया था. ऐसा कोई स्पष्ट निर्देश अब तक सामने आया नहीं है. जब एडीजी साहब के सामने मीडिया वाले दनादन माइक घुसेड़ने लगे तो उन्होंने जवाब भी दिया. न्यूज एजेंसी ANI को बताया कि इसके धार्मिक एंगल न दिया जाए. लोगों का स्वागत करने के लिए फूलों का इस्तेमाल किया गया. शासन प्रशासन तो सभी धर्मों का सम्मान करता है और हम गुरुपर्व, ईद बकरीद, जैन त्योहार सबमें हिस्सा लेते हैं.

ये थी खबर और उस पर एडीजी की सफाई. और अब सवाल. कि पुलिस की ड्यूटी व्यवस्था दुरुस्त कराना है या ड्यूटी के दौरान अपनी आस्था साबित करना. एडीजी ने फूल बरसाए, कुछ पुलिस अफसर लोग कांवड़ियों की सेवा करते भी दिखे. सवाल ये उठता है कि उनको इसकी जरूरत कैसे पड़ गई. घायलों को पट्टी वट्टी करने का काम डॉक्टर्स का है. रास्तों में शिविर लगे रहते हैं, जिनमें लोकल लोग और कांवड़ियों के साथी पूरा खयाल रखते हैं. पुलिस का काम व्यवस्था संभालना है. कि आम जनता की वजह से कांवड़ियों को या कांवड़ियों की वजह से आम जनता को दिक्कत न हो.

शामली पुलिस का ट्वीट गौर करने लायक है. उन्होंने अपने जिले में आ रहे कांवड़ियों को पंपलेट बांटे. जिसमें कांवड़ियों को क्या करना है और क्या नहीं करना- दोनों साफ लिखा था. अगर वो इसका पालन नहीं करते हैं तो मनवाना किसकी जिम्मेदारी है? जाहिर है पुलिस की.

कांवड़ियों ने अगर पुलिस के निर्देशों का पालन किया होता तो कार उलटने वाला वीडियो या ये वीडियो देखने को नहीं मिलते.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

'रामायण' ने टीवी के पिछले पांच साल के सारे रिकॉर्ड्स को तहस-नहस कर दिया है!

और इसमें रामायण मीम्स का बहुत बड़ा हाथ है.

कोई लाख दे रहा है, कोई करोड़... गौतम गंभीर ने अपनी दो साल की सैलरी डोनेट कर दी

पहले 50 लाख दिए, फिर करोड़...अब गंभीर कर रहे हैं इतना डोनेट.

कोरोना से हो चुकी हैं कुल 56 मौतें, मृतकों में तबलीगी जमात के कितने लोग हैं?

500 कन्फर्म मामले तबलीगी जमात से जुड़े हुए.

लॉकडाउन के बीच घर जाने के लिए 500 Km पैदल चला था, लेकिन अब कभी घर नहीं पहुंच पाएगा

1300 किलोमीटर का सफर तय करना था.

'आइसोलेशन वॉर्ड में जमाती नंगे घूमते हैं, अश्लील इशारे करते हैं' CMO ने पुलिस को बताया

ये भी कहा कि वो इस तरह इलाज नहीं कर पाएंगे.

पीएम मोदी ने देश से अपनी अपील में 5 अप्रैल को 9 मिनट क्यों मांगे हैं?

इस रविवार को फुल दिवाली वाली फ़ील आने वाली है आपको.

लॉकडाउन के बीच तेलंगाना के दो मंत्रियों ने जो किया, उसे देखकर आप कहेंगे- हद कर दी आपने!

तेलंगाना में कोरोना से नौ लोगों की मौत हो चुकी है.

कोरोना: 500 के नोटों का ऐसा इस्तेमाल किया कि पुलिस को उसे खोजकर गिरफ़्तार करना पड़ा

वायरल वीडियो में शख्स कोरोना को 'अल्लाह का अजाब' बता रहा था.

लॉकडाउन की वजह से एयर इंडिया के 200 कर्मचारियों की नौकरी चली गई

कोरोना के चलते नौकरियों पर संकट की आशंका जताई गई थी.

कोरोना वायरस : शाहरुख़ ख़ान ने कोविड-19 से जंग में मदद का ऐलान कर दिया है

उनका कौन सा संगठन कैसे काम करने वाला है, जान लीजिए.