Submit your post

Follow Us

कानपुर: शहीद पुलिसवालों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता चला, किस तरह की हैवानियत हुई थी

कानपुर के विकास दुबे मुठभेड़ में शहीद हुए आठ पुलिसकर्मियों की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है. रिपोर्ट से पता चला है कि..

# हमलावरों ने पुलिस पर तमंचों के साथ-साथ एके-47 राइफल से भी गोलियां बरसाई थीं. शहीद सिपाही जितेंद्र पाल के शरीर से एके-47 की गोली मिली.

# चार पुलिसकर्मियों के शरीर से गोलियां आर-पार निकल गई थीं. वहीं कॉन्स्टेबल बबलू, राहुल और सुल्तान के शरीर से 315 और 312 बोर कारतूस के टुकड़े मिले हैं. मंधना चौकी इंचार्ज अनूप सिंह को सबसे ज्यादा सात गोलियां मारी गईं.

# बिल्हौर सीओ देवेंद्र मिश्रा के चेहरे, सीने और पैर पर बंदूक सटाकर गोली मारी गई. उनका सिर और गर्दन का हिस्सा उड़ गया था. इसके बाद उनके पैर और कमर पर कुल्हाड़ी से भी वार किए गए. पैर काटने की कोशिश की गई.

# सिपाही जितेंद्र के पैर, हाथ, सीने और कमर में पांच गोलियां मारी गईं. दो गोलियां शरीर के आर-पार निकल गई थीं.

# सिपाही बबलू की कनपटी, चेहरे, सीने पर गोली लगी. सिपाही राहुल की पसली, कमर, कोहनी और पेट में गोली लगी, जो आर-पार निकल गईं. सुल्तान की कमर, कंधे और सीने पर पांच गोलियां मारी गईं.

# शवों से बरामद हुए कारतूस व उनके टुकड़ों को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है.

विकास दुबे के गुंडों ने सिपाही सुल्तान और बबलू के शहीद होने के बाद मौके पर पड़ी उनकी राइफल और थाना प्रभारी महेश यादव और दरोगा अनूप की पिस्टलें लूट लीं.

शव को जलाना भी चाहते थे विकास और उसके गुंडे

पुलिस की जांच में ये भी पता चला है कि पुलिसवालों की हत्या के बाद विकास दुबे और उसके गुंडों का इरादा शवों को जलाने का था. इसके लिए गांववाले भी उसकी मदद कर रहे थे. आज तक की खबर के मुताबिक- खूनखराबे के बाद जब पुलिस पहुंची तो कई पुलिसवालों के शव एक के ऊपर एक पड़े हुए थे. घर में मौजूद ट्रैक्टर से तेल निकालकर आग लगाने की तैयारी थी. लेकिन दूसरी पुलिस टीम के पहुंचने की वजह से बदमाश भाग गए.

गांव के लोगों में विकास का काफी डर है. इतने बड़े हत्याकांड के बाद भी किसी ने अब तक विकास के बारे में कोई जानकारी नहीं दी. यहां तक कि 4 जुलाई को जब प्रशासन ने विकास के घर को तोड़ा तब भी गांव का एक भी आदमी घर के बाहर नहीं आया.


कानपुर में उस रात क्या-क्या हुआ था, विकास दुबे की मामी ने पूरी कहानी बताई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

श्रीलंका का ये क्रिकेटर हत्या के आरोप में गिरफ्तार

44 टेस्ट, 76 वनडे और 26 टी20 खेल चुका है.

लेह में दिए अपने भाषण में पीएम मोदी ने चीन का नाम लिए बिना क्या-क्या कहा?

जवानों पर, बॉर्डर के विकास पर, दुनिया की सोच पर बहुत कुछ बोला है.

ICMR ने एक महीने में कोरोना की वैक्सीन लॉन्च करने का झूठा दावा किया है!

क्या वैक्सीन के ट्रायल में घपला हो रहा है?

भारत-चीन के तनाव के बीच पीएम मोदी ने लद्दाख़ पहुंचकर किससे बात की?

पहले राजनाथ सिंह जाने वाले थे, नहीं गए.

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!

इस साल के आख़िर तक मिलने लगेगी कोरोना की 'मेड इन इंडिया' वैक्सीन!

भारत बायोटेक के अधिकारी ने क्या बताया?

'कोरोनिल' पर पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह यू-टर्न मार गए!

पतंजलि का दावा था कि 'कोरोनिल' दवा कोरोना वायरस ठीक करने में कारगर होगी.

चीन के ऐप तो बैन हो गए, पर उन भारतीयों का क्या जो इनमें काम करते हैं

चीनी ऐप के कर्मचारियों में घबराहट है.

चीनी ऐप पर बैन के बाद चीन ने भारत के बारे में क्या बयान दिया है?

भारत को कैसी जिम्मेदारी याद दिलाई चीन ने?

लगभग 16 मिनट के राष्ट्र के नाम संदेश में नरेंद्र मोदी ने क्या काम की बात की?

संदेश का सार यहां पढ़िए.