Submit your post

Follow Us

कंगना ने कहा- शिवसेना को मजबूरी में वोट दिया था, लोगों ने झूठ पकड़ लिया

कंगना रनौत. एक्ट्रेस और प्रोड्यूसर. मुंबई को पीओके जैसा बताने और अपने ऑफिस पर जेसीबी चलवाए जाने को लेकर महाराष्ट्र में सरकार चला रही शिवसेना से उनकी भिड़ंत हो चुकी है. कंगना ने पहले शिवसेना के नेता संजय राउत और फिर सीएम उद्धव ठाकरे तक को निशाने पर ले लिया था. अब शिवसेना को लेकर उनका एक बयान वायरल है. एक इंटरव्यू में कंगना ने कहा है कि उन्हें मजबूरी में मुंबई में शिवसेना को वोट डालना पड़ा था. मगर उनका ये बयान सचाई से कोसों दूर है.

क्या कहा था कंगना ने?

कंगना रनौत ने एक टीवी को इंटरव्यू देते हुए कहा था,

‘जब मैं बांद्रा में वोट डालने गई थी, मैं वोटिंग मशीन के सामने थी, मैं भाजपा समर्थक हूं और मैं सोच रही थी कि बीजेपी का बटन कहां है. फिर मुझे शिवसेना का बटन दबाना पड़ा. मैंने कहा कि मैं भाजपा को वोट देना चाहती हूं. मैं राजनीति नहीं समझती हूं. मुझे इसका अनुभव नहीं है. मुझे नहीं पता, ये गठबंधन क्यों हुआ, पर ये हुआ. मुझे शिवसेना का बटन दबाने पर मजबूर होना पड़ा.’

पड़ताल में सच आया सामने

इंडिया टुडे के रिपोर्टर कमलेश सुतार ने जब पड़ताल की तो पता चला कि दरअसल कंगना विधानसभा चुनाव में बांद्रा वेस्ट और लोकसभा चुनाव में नॉर्थ-सेंट्रल मुंबई में वोट डालती हैं. 2009 से 2019 तक महाराष्ट्र में 3 लोकसभा और इतने ही विधानसभा चुनाव हुए. इन 6 चुनावों में 5 चुनाव शिवसेना और भाजपा मिलकर लड़े थे. मगर 2014 वाले चुनाव में दोनों पार्टियों ने अलग-अलग चुनाव लड़ा.

जब शिवसेना का कैंडिडेट उतरा ही नहीं तो मजबूरी कैसी   बात को ऐसे समझिए कि इस गठबंधन के चलते विधानसभा और लोकसभा चुनावों में बांद्रा वेस्ट और मुंबई नॉर्थ-सेंट्रल सीट भाजपा के खाते में आई. 5 चुनावों में शिवसेना का कोई कैंडिडेट उतरा ही नहीं. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि कंगना शिवसेना को वोट देने पर मजबूर कैसे हुईं?

अगर कंगना 2014 के चुनाव की बात कर रही हैं, तो उस वक्त कंगना के पास बीजेपी को वोट करने का मौका था. इस चुनाव में भाजपा और शिवसेना ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था. साल 2017 के बीएमसी चुनाव भी दोनों पार्टियों ने अलग-अलग लड़े थे.

कंगना ने क्या सफाई दी?

जब ये खबर सोशल मीडिया पर फैलने लगी कि कंगना ने झूठ बोला है, तो वह सफाई देने सामने आईं. उन्होंने कहा कि वो खार वेस्ट से वोट डालने गई थीं. कंगना के फ्लैट की बात करें तो वो मुंबई के खार वेस्ट में 16वीं रोड पर है. जिस बिल्डिंग में कंगना रहती हैं, वो 2008 में बनना शुरू हुई थी. 2012 में ओनर्स को पजेशन दिया गया. सीधा सा मतलब यह है कि कंगना 2012 के बाद ही इस फ्लैट में रहने आई होंगी. उसके बाद 2014 में इलेक्शन हुए. खार वेस्ट का ये इलाका बांद्रा वेस्ट विधानसभा में आता है.


वीडियो:

उर्मिला पर कंगना की बयानबाजी के बाद बॉलीवुड सितारे और फैंस भड़क गए हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

चिराग पासवान के चचेरे भाई सांसद प्रिंस राज पर लगे रेप के आरोप का पूरा मामला है क्या?

आरोप लगाने वाली महिला के खिलाफ प्रिंस ने भी फरवरी में दर्ज कराई थी FIR.

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

किसान आंदोलन में शामिल लोगों पर आरोप- पहले ग्रामीण को शराब पिलाई, फिर जिंदा जला दिया!

बहादुरगढ़ की घटना, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया है.

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

CBSE ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, 12वीं के मार्क्स देने का 30:30:40 फॉर्मूला क्या है

31 जुलाई से पहले फाइनल रिजल्ट जारी करने की जानकारी भी दी है.

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

योगी सरकार के संपत्ति रजिस्ट्री को लेकर लगने वाले स्टाम्प शुल्क के नए नियम में क्या है?

नए नियम के बाद विवादों में कमी आएगी?

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

हरिद्वार कुंभ के दौरान बांटी गयी 1 लाख फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट? जानिए क्या है कहानी

अख़बार का दावा, सरकारी जांच में हुआ ख़ुलासा

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

दिल्ली दंगा : नताशा, देवांगना और आसिफ़ को ज़मानत देते हुए कोर्ट ने कहा, 'कब तक इंतज़ार करें?'

जानिए क्या है पूरा मामला?

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सैन्य ऑपरेशन से जुड़े 25 साल से ज्यादा पुराने रिकॉर्ड सार्वजनिक होंगे

सेना के इतिहास से जुड़ी जानकारियां सार्वजनिक करने की पॉलिसी को मंजूरी

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.