Submit your post

Follow Us

पत्रकार ने कंगना को झूठा साबित किया, कंगना ने पहले धमकी दी, फिर ट्वीट डिलीट किया और ब्लॉक कर डाला

कंगना रनौत अपनी ही बात में बुरी तरह फंस गईं. एक इंग्लिश न्यूज़ चैनल को दिए इंटरव्यू में कंगना ने कहा था कि उन्हें मजबूरी में शिवसेना को वोट देना पड़ा था क्योंकि उनके पास कोई दूसरा ऑप्शन नहीं था. जब ‘इंडिया टुडे’ के रिपोर्टर कमलेश सुतार ने इसकी पड़ताल की तो पता चला, कंगना का यह दावा तथ्यात्मक रूप से गलत है. झूठ पकड़े जाने के बाद कंगना ने रिपोर्टर को लीगल एक्शन लेने और जेल भिजवाने की धमकी दे डाली. हालांकि बाद में उन्हें अपना ये ट्वीट डिलीट करना पड़ा.

क्या है पूरा मसला?

कंगना रनौत ने टीवी इंटरव्यू में कहा था,

‘जब मैं बांद्रा में वोट डालने गई थी, मैं वोटिंग मशीन के सामने थी, मैं भाजपा समर्थक हूं और मैं सोच रही थी कि बीजेपी का बटन कहां है. फिर मुझे शिवसेना का बटन दबाना पड़ा. मैंने कहा कि मैं भाजपा को वोट देना चाहती हूं. मैं राजनीति नहीं समझती हूं. मुझे इसका अनुभव नहीं है. मुझे नहीं पता, ये गठबंधन क्यों हुआ, पर ये हुआ. मुझे शिवसेना का बटन दबाने पर मजबूर होना पड़ा.’

दरअसल, कंगना विधानसभा चुनाव में ब्रांद्रा वेस्ट और लोकसभा चुनाव में नॉर्थ-सेंट्रल मुंबई से वोट डालती हैं. 2009 से 2019 तक महाराष्ट्र में 3 लोकसभा और इतने ही विधानसभा चुनाव हुए. इन 6 चुनावों में 5 चुनाव शिवसेना और भाजपा ने मिलकर लड़े. सिर्फ 2014 वाले चुनाव में दोनों पार्टियों ने अलग-अलग चुनाव लड़ा. इसके बाद, 2017 में बीएमसी के चुनाव में दोनों दल अलग-अलग मैदान में थे.

जब शिवसेना का कैंडिडेट उतरा ही नहीं तो मजबूरी काहे की

बात को ऐसे समझिए कि गठबंधन के चलते विधानसभा और लोकसभा में ब्रांद्रा वेस्ट और मुंबई नॉर्थ-सेंट्रल सीट भाजपा के खाते में आई. 5 चुनावों में शिवसेना का कोई कैंडिडेट उतरा ही नहीं. फिर कंगना बीजेपी के बजाय शिवसेना को वोट देने पर मजबूर कैसे हो गईं?

इसी आधार पर ‘इंडिया टुडे’ के रिपोर्टर कमलेश सुतार ने कंगना को उनकी गलती बताई. उन्होंने ट्वीट किया-

कौन कहां से कब लड़ा चुनाव?

2019 के विधानसभा चुनाव में भाजपा से आशीष शेलार उम्मीदवार थे. शिवसेना के साथ बीजेपी का गठबंधन था. 2019 के लोकसभा चुनावों में भी भाजपा और शिवसेना ने एकसाथ चुनाव लड़े. इसमें भाजपा की तरफ से पूनम महाजन मुंबई उत्तर-मध्य सीट से खड़ी हुईं. वहीं, साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना एकसाथ मैदान में आए थे. पूनम महाजन कांग्रेस की प्रिया दत्त के खिलाफ खड़ी हुईं. लेकिन 2014 के विधानसभा चुनाव में भाजपा और शिवसेना का गठबंधन टूट गया और दोनों पार्टियां एक-दूसरे के आमने-सामने थीं.

कंगना ने कैसे रिएक्ट किया?

पोल खुलने के बाद कंगना तिलमिला गईं. उन्होंने इंडिया टुडे के रिपोर्टर कमलेश सुतार के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी दे डाली. कमलेश सुतार को रिप्लाई करते हुए कंगना ने लिखा,

‘आप गलत हैं. गलत जानकारी मत फैलाइए. मैं आपको लीगल नोटिस भेजूंगी.आपको यह सब कोर्ट में साबित करना होगा. ये ट्रोलिंग आपको भारी पड़ेगी,आप इसके लिए जेल जाएंगे’

ये उस ट्वीट का स्क्रिन शॉर्ट है जो कंगना रनौत ने 'इंडिया टुडे' के रिपोर्टर कमलेश सुतार को किया था. उनके खिलाफ लीगल एक्शन लेने की धमकी दी थी, मगर बाद में कंगना ने ये ट्वीट डिलीट कर दिया.
ये उस ट्वीट का स्क्रिन शॉट है जो कंगना ने ‘इंडिया टुडे’ के रिपोर्टर को किया था. उनके खिलाफ लीगल एक्शन लेने की धमकी दी थी, मगर बाद में कंगना ने ये ट्वीट डिलीट कर दिया.

उसके बाद क्या हुआ?

कंगना की इस धमकी के बाद ‘इंडिया टुडे’ के रिपोर्टर ने लिखा कि वह कोई ट्रोल करने वाले शख्स नहीं हैं, बल्कि रिपोर्टर हैं. भारी पड़ेगा.. जैसी बातें करके धमकाने की कोशिश न करें. बात बढ़ी तो कंगना ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया. उसके बाद रिपोर्टर को ब्लॉक भी कर दिया. रिपोर्टर कमलेश सुतार ने इस बारे में बताया और लिखा- लोकतंत्र जिंदाबाद!!

So here is the latest update . @KanganaTeam has deleted all the ‘threatening’ tweets and has blocked me !!

I stand by my story ! Long live Democracy !!

Thank you all for the support !! #KanganaRanaut pic.twitter.com/gWOjm5148d

— Kamlesh Sutar (@kamleshsutar) September 18, 2020


वीडियो:

उर्मिला पर कंगना की बयानबाजी के बाद बॉलीवुड सितारे और फैंस भड़क गए हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हरसिमरत कौर बादल ने किसानों से जुड़े मुद्दे को लेकर मोदी सरकार से इस्तीफा दिया

हरसिमरत कौर बादल ने किसानों से जुड़े मुद्दे को लेकर मोदी सरकार से इस्तीफा दिया

हरसिमरत कौर केंद्र सरकार में फूड प्रॉसेसिंग इंडस्ट्रीज मिनिस्टर थीं.

20 सैनिकों की मौत के बाद भारत सरकार ने चीन में मौजूद बैंक से कई हज़ार करोड़ रुपए उधार लिए

20 सैनिकों की मौत के बाद भारत सरकार ने चीन में मौजूद बैंक से कई हज़ार करोड़ रुपए उधार लिए

सरकार ने ये जानकारी दी तो कांग्रेस ने इसे हथियार बना लिया

संसद सत्र से पहले दो जगह कराई कोरोना जांच, रिपोर्ट देखकर चकरा गए सांसद महोदय

संसद सत्र से पहले दो जगह कराई कोरोना जांच, रिपोर्ट देखकर चकरा गए सांसद महोदय

मॉनसून सत्र से पहले हुई जांच में 17 MP कोविड पॉजिटिव मिले हैं.

बिहार: 70 साल के इस शख्स ने दशरथ मांझी जैसा काम कर दिया है

बिहार: 70 साल के इस शख्स ने दशरथ मांझी जैसा काम कर दिया है

और इस नेक काम में उन्हें 30 साल लगे.

कोरोना से ठीक होने के बाद अगले कुछ दिनों तक क्या करें, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया

कोरोना से ठीक होने के बाद अगले कुछ दिनों तक क्या करें, स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया

प्रोटोकॉल जारी किया है, पढ़ लें.

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का एम्स में निधन

पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का एम्स में निधन

तीन दिन पहले लालू की पार्टी छोड़ी थी.

दिल्ली दंगा: पुलिस ने कहा-चार्जशीट में योगेंद्र यादव और येचुरी का नाम है पर आरोपी के रूप में नहीं

दिल्ली दंगा: पुलिस ने कहा-चार्जशीट में योगेंद्र यादव और येचुरी का नाम है पर आरोपी के रूप में नहीं

मीडिया में चल रही खबरों पर दिल्ली पुलिस ने स्थिति स्पष्ट की है.

जो काम खुद बाल ठाकरे करते थे, शिवसेना वालों ने उसी के लिए एक्स नेवी ऑफिसर को पीट दिया!

जो काम खुद बाल ठाकरे करते थे, शिवसेना वालों ने उसी के लिए एक्स नेवी ऑफिसर को पीट दिया!

पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

क्या यूपी में कोविड किट खरीद में घोटाला हुआ है? जांच के लिए SIT बनी

क्या यूपी में कोविड किट खरीद में घोटाला हुआ है? जांच के लिए SIT बनी

बीजेपी नेताओं ने ही घोटाले का आरोप लगाया है. ताजा मामला सहारनपुर से आया है.

जोकोविच ने अंपायर को गेंद मार घायल किया, उसके बाद जो हुआ वो क्रिकेट फैन्स के लिए सीख है

जोकोविच ने अंपायर को गेंद मार घायल किया, उसके बाद जो हुआ वो क्रिकेट फैन्स के लिए सीख है

और इंडिया के बड़े सुपरस्टार्स के लिए भी.