Submit your post

Follow Us

उपवास से पहले BJP नेता 'खाना खाते' दिखे थे, वीडियो बनाने वाले पत्रकार पर केस हो गया

किसान आंदोलन के साथ-साथ सतलुज-यमुना लिंक (SYL) का मुद्दा भी लगातार खबरों में है. SYL के सपोर्ट में 19 दिसंबर को हरियाणा के कुछ BJP नेताओं ने उपवास रखा था. यहां तक तो ठीक है. लेकिन गड़बड़ी वहां से शुरू हुई, जब इन्हीं नेताओं का ‘खाना खाते’ हुए एक वीडियो वायरल हो गया. आरोप लगे कि खाना खाकर नेता लोग उपवास पर बैठे. वीडियो जमकर वायरल हुआ. नेताओं की किरकिरी हुई. अब जिस पत्रकार ने कथित तौर पर ये वीडियो बनाया था, उस पर महीनों पुराने एक मामले में केस दर्ज कर दिया गया है.

समाचार एजेंसी PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, पत्रकार का नाम राजिंदर सनेही है. एक वेब चैनल के लिए काम करते हैं. उन पर हरियाणा के कुरुक्षेत्र में IT एक्ट के सेक्शन 67 के तहत 22 दिसंबर को केस दर्ज किया गया. ये केस थनेसर मार्केट कमिटी के पूर्व चेयरमैन सुरेश सैनी द्वारा 10 महीने पहले दी गई शिकायत के आधार पर किया गया.

क्या कहती है पुलिस?

कुरुक्षेत्र SHO मंदीप सिंह ने मामले की और जानकारी दी. बताया कि सैनी ने आरोप लगाया है कि पत्रकार ने उनके खिलाफ झूठी और मनगढ़ंत खबर सोशल मीडिया पर फैलाई थी. करीब दस महीने पहले. इस झूठी खबर के चलते उनकी छवि खराब हुई थी.

कई पत्रकारों ने विरोध जताया

पत्रकार राजिंदर के खिलाफ केस दर्ज होने पर कई पत्रकारों ने इसका विरोध किया. कुरुक्षेत्र प्रेस क्लब के बैनर तले कई पत्रकारों ने SP ऑफिस के सामने विरोध प्रदर्शन किया. मांग रखी कि राजिंदर के खिलाफ हुई FIR रद्द की जाए. प्रेस क्लब प्रेसिडेंट राजेश शांडिल्ड ने आरोप लगाया कि पुलिस ने BJP नेताओं के दबाव में आकर ये कार्रवाई की. कहा कि पुलिस ने पत्रकार के खिलाफ पुराने मामले में केस दर्ज किया, जबकि दस महीने पहले ही दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया था.

वीडियो में क्या दिख रहा है और नेताओं ने क्या सफाई दी?

जिस वायरल वीडियो पर इतना हंगामा मचा है, उसमें सांसद नायब सिंह सैनी और थनेसर विधायक सुभाष सुधा खाना खाते दिख रहे हैं. साथ में कुछ अन्य लोग भी मौजूद हैं. और ये खाना उन्होंने कथित तौर पर उपवास वाले प्रदर्शन के तुरंत पहले खाया था. खैर, जब वीडियो वायरल हुआ, तो नेतागण सफाई देने सामने आए. PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, नायब सिंह और सुभाष सुधा, दोनों ने ही खाना खाने के दावे को खारिज कर दिया है. उनका कहना है कि उपवास वाले दिन उन्होंने खाना नहीं खाया, केवल प्रसाद खाया. नायब सिंह ने कहा कि वो सुभाष सुधा के साथ उपवास वाले प्रदर्शन में बैठने से पहले गीता ज्ञानम संस्थान गए थे, जहां उन्हें प्रसाद ऑफर किया गया, उन्होंने केवल प्रसाद खाया. आगे कहा कि उपवास पर बैठने से पहले खाना खाने का कोई सवाल ही नहीं उठता.

वीडियो को हमने कई बार देखा, तथाकथित प्रसाद की जितनी मात्रा नेताओं की प्लेट पर है, उतनी तो हमें कभी किसी मंदिर में नहीं दी गई. लगता है इतना सारा प्रसाद खाने कुरुक्षेत्र के गीता ज्ञानम संस्थान जाना होगा.

इसी तरह के उपवास की एक खबर 2018 में कांग्रेस की तरफ से भी आई थी. दलितों पर हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ कांग्रेस पार्टी के कुछ नेता उपवास पर बैठे थे, लेकिन फिर उन्हीं नेताओं की छोटे-भटूरे खाती हुई तस्वीर सामने आई थी.


वीडियो देखें: सोशल लिस्ट: आम आदमी पार्टी वाले ‘डर गया योगी’ क्यों ट्रेंड करा रहे थे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हाथरस के मंदिर में रात को 3 लोग आए, 5 बार हाथ जोड़े और वॉशिंग मशीन, दानपेटी उठा ले गए

पुलिस का दावा है कि मामला चोरी का नहीं है

UP की फैक्ट्री में बड़ा हादसा, दो लोगों की मौत हो गई और 15 लोग घायल हैं

अमोनिया गैस लीक होने के चलते हुए हादसा.

कभी कृषि कानूनों की पक्षधर रहीं पार्टियों ने अब यूटर्न क्यों ले लिया है?

जानिए पहले क्या था इन राजनीतिक दलों का स्टैंड

क्या बढ़िया फ्रिज न होने के कारण इंडिया में कोरोना वैक्सीन लगने में और लेट हो सकती है?

कोल्ड चेन का पूरा तिया पांचा यहां समझिए.

साल 2015 के बाद गुजरात, केरल, बंगाल, महाराष्ट्र और बिहार के बच्चों में बढ़ा कुपोषण

सर्वे का दावा, बच्चों की लम्बाई और वज़न ख़तरनाक तरीक़े से घट रहे

क्या कोरोना की नई वैक्सीन लगवाने के बाद लोगों को लकवा मार जा रहा है?

वैक्सीन लगवाने पर कुछ लोगों में एलर्जी की समस्या भी सामने आई है.

किसान आंदोलन के समर्थन में वैज्ञानिक ने केंद्रीय मंत्री के हाथ से अवॉर्ड लेने से मना कर दिया

पत्र में कहा, 'ये मेरी अंतरात्मा के खिलाफ़ है'

350 करोड़ का स्कैम उजागर करने वाले RTI एक्टिविस्ट की मौत पर पुलिस और फ़ैमिली अलग कहानी क्यों बता रहे?

पुलिस ने कहा कि दुर्घटना में मौत हुई, परिवार हत्या का आरोप लगा रहा

एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज ने कहा, 'ऐसा ही चलता रहा तो कोई भी शिकार बन सकता है'

हैदराबाद के ICFAI लॉ स्कूल में रूल ऑफ लॉ पर लेक्चर दे रहे थे जस्टिस चेलमेश्वर.

कोरोना का ट्रायल वैक्सीन लेने वाले हरियाणा के मंत्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए

कोरोना की वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल के दौरान टीका लगाया गया था.