Submit your post

Follow Us

JNU: पढ़िए उमर खालिद के अब्बा के दिल की पूरी बात

जेएनयू इश्यू की किसी भी खबर का इंट्रो अब एक जैसा ही लगने लगा है. ‘विवाद बढ़ता जा रहा है.’ कन्हैया जेल में है. लेकिन जेएनयू विवाद में एक नाम और ऐसा है, जिसकी पुलिस को तलाश है. उमर खालिद काफी दिनों से फरार है. एंटी इंडिया नारे लगाने का आरोप उमर पर है. उमर खालिद का पक्ष अब तक नहीं पता चल पाया. खालिद के अब्बा एसक्यूआर इलियाज ने बेटे के फरार और जेएनयू विवाद पर एक निजी चैनल को इंटरव्यू दिया. जानिए पूरे मामले पर क्या कहते हैं खालिद के अब्बा इलियाज.

‘उमर खालिद कहां हैं. ये पुलिस को मालूम होना चाहिए. हमें खुद नहीं पता वो कहां है. मां-बाप को जैसे अपने बच्चे की चिंता होनी चाहिए. जैसा माहौल तैयार हो रहा है. हमें खालिद की फिक्र हो रही है. खालिद से मेरी आखिरी बात तब हुई, जब वो टाइम्स नाऊ से इंटरव्यू देकर जा रहा था. मैंने खालिद से कहा कि वो घर आए. पर उसने कहा कि वो जेएनयू जा रहा है.

मुझे खालिद की फिक्र इसलिए ज्यादा हो रही है. क्योंकि टीवी चैनल जिस तरह उसकी प्रोफाइलिंग कर रहे हैं. जिस तरह खालिद को देशद्रोही बता रहे हैं. जिस आदमी (उमर खालिद) की पूरी लाइफ देश के लिए हो. जो आदमी देश के दलितों के लिए खड़ा रहता हो. जो आदमी आदिवासियों के लिए खड़ा होता हो. जिसको विदेशों से स्कॉलरशिप का ऑफर आया हो. और उसने ये कहकर रिजेक्ट कर दिया कि उसे देश के लिए काम करना है. जिसने बाहर जाने के लिए पासपोर्ट नहीं बनाया. उस पर इल्जाम लगाया जा रहा है कि वो पाकिस्तान होकर आया है.

खालिद ने जेएनयू से एमए किया. एमफिल किया और आदिवासियों के टॉपिक पर खालिद पीएचडी कर रहा है. खालिद आदिवासियों की समस्याओं को देश के सामने रखना चाहता है. ऐसे खालिद को कहा जा रहा है कि वो देशद्रोही है, वो आतंकवादियों से मिला हुआ है. ये अजीबोगरीब किस्म की प्रोफाइलिंग हो रही है. हमारे देश के अंदर का ये क्या माहौल है. आज मीडिया उसका ट्रायल कर रहा है.’

अफजल गुरु की शान में कसीदे पढ़ने को जायज ठहराएंगे आप?

‘वहां जो नारे लगे हैं, जिन्होंने लगाए हैं, उनकी खोज होनी चाहिए. मैं समझता हूं कि वहां ऐसा नहीं होना चाहिए. अफजल गुरु के मसले पर देश के बड़े चिंतकों ने सवाल नहीं उठाया है. कोर्ट के फैसले का सम्मान करना सही है. पर क्या अपनी राय रखना गलत है. एंटी इंडिया नारों से बिलकुल गुरेज किया जाना चाहिए था. लेकिन एक बात समझने की कोशिश कीजिए. हमारे देश का संविधान है. कानून है. उसकी जांच होनी चाहिए. उमर अगर देशद्रोही होता तो वो चैनलों में जाकर अपनी बात रखता क्या. उसने डेमोक्रेटिक तरीकों का इस्तेमाल किया. फिलहाल उमर क्यों गायब है. मुझे खुद नहीं मालूम. उमर को सामने आना चाहिए. लेकिन आप खुद सोचिए कि देश का माहौल कैसा हो गया है. कन्हैया कुमार पर वकील हमला कर रहे हैं. जिस देश में प्यार मुहब्बत की बात होनी चाहिए, वहां ये सब हो रहा है.

देश को तोड़ने वाली भाषा उमर ने इस्तेमाल नहीं की. एक वीडियो सामने आ चुका है कि एबीवीपी वालों ने नारे लगाए थे. नारे लगाने वालों में 50 से ज्यादा लोग शामिल थे. आप एक ही आदमी को क्यों टारगेट कर रहे हैं. जांच एजेंसियों को वॉइस सैंपल लेने चाहिए. टैंपरिंग हो रही है. वीडियो गलत तरीके से लाए जा रहे हैं. मैं अपील करता हूं कि खालिद को सामने आना चाहिए. और ट्रायल को फेस करना चाहिए. सिर्फ खालिद ही नहीं, जो जो लोग इसमें शामिल रहे थे. सबको सामने आना चाहिए. उमर खालिद की फिक्र कश्मीर के लोगों के साथ थी. वो कश्मीर के लोगों को साथ रखना चाहता था. नारे लगाना देशद्रोह नहीं है. खालिद बाहर नहीं आ रहा है, कैसे आ जाए. इतना माहौल खराब है. खुलेआम हमले किए जा रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट भी कह रहा है कि अदालत सेफ नहीं है.

अगर कोई स्टूडेंट इस तरह बोलता है तो इसे उस तरह ही रखिए. कोई नेता या मैच्योर नहीं बोला था वो सब. और जेएनयू में इस तरह के संवाद होते रहे हैं. आप इसको सिंगल आउट मत कीजिए. आपको ये जानने की कोशिश करनी चाहिए कि असली दोषी कौन है. वीडियो की टैंपरिंग हो रही है. नजर आ रहा है. हमें कानून के रास्ते से ही चलना चाहिए. उमर खालिद कानून से नहीं भाग रहा है. उसे बिलकुल बाहर आना चाहिए. आप मेरा दर्द समझने की कोशिश कीजिए. बात का बतंगड़ मत बनाइए. मुझे ज्यूडशरी में यकीन है. देश अलग-अलग भावनाओं का देश है. मैं खुद आपके माध्यम से अपील करता हूं कि उमर खालिद को सामने आना चाहिए. कानून में यकीन करना चाहिए.’

उमर खालिद की तरफ से माफी मांगना चाहिए?

 ‘अगर जेएनयू में गलत शब्दों का इस्तेमाल हुआ है. तो ये पहले साफ होना चाहिए कोर्ट के जरिए. दूध का दूध पानी का पानी होना दीजिए. कि देशद्रोह हुआ है या नहीं. बाप-बेटे के बीच विचारधाराओं का मतभेद हो सकता है. पर मैं अपने बेटे को जानता हूं. वो आदिवासियों, किसानों के लिए लड़ता है. मैं आपसे चाहता हूं कि कोर्ट को फैसला करना दीजिए.’

उमर खालिद के अब्बा का पूरा इंटरव्यू

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

नसीम शाह की ये बॉल देखते ही सब बोल पड़ेंगे- भई वाह!

गज़ब की बॉल पर गिरा जो रूट का विकेट.

CPL के मैच देख सबसे ज्यादा खुशी KKR और DC को हो रही होगी

दोनों टीमों के प्लेयर्स ने गदर काट रखा है.

नेट में धोनी ने चलाया ऐसा बल्ला, खुद को सीटी बजाने से नहीं रोक पाए रैना

अगर ऐसे ही खेल रहे हैं, तो फिर धोनी को संन्यास की क्या ज़रूरत पड़ गई!

आम आदमी पार्टी को लाखों का चंदा देने वाले CA को पुलिस ने किस मामले में गिरफ्तार किया है?

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज़ की ओर से पुलिस को क्या शिकायत मिली थी?

'आदिपुरुष' में प्रभास जो रोल करने वाले हैं, उससे रामभक्त खुश हो जाएंगे

प्रभास की लास्ट फिल्म 'साहो' थी.

उस ऑस्ट्रेलियन ने लिया संन्यास, जिसका पहला और आखिरी, दोनों विकेट सचिन ही रहे!

इंडिया में डेब्यू करने आया था, लेकिन करियर खत्म करवाकर लौटा.

बिपाशा का खुलासा, किस तरह एक टॉप प्रोड्यूसर ने उन पर डाली थी बुरी नजर

ये भी बताया कि उनकी एक 'गलती' से प्रोड्यूसर की बोलती कैसे बंद हो गई

कोरोना काल में कैसे डाले जाएंगे वोट, चुनाव आयोग ने गाइडलाइन जारी की

कोरोना पॉजिटिव कैसे देंगे वोट, इस सवाल का भी जवाब है.

11 साल की लड़की को सेक्सुअलाइज़ करने वाले पोस्टर पर नेटफ्लिक्स को माफी मांगनी पड़ी

'क्यूटीज़' एक फ्रेंच फिल्म है, जो 9 सितंबर को नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ होगी.

वर्ल्ड कप जीतने वाला क्रिकेटर सब्जी बेच रहा है!

सरकार से नौकरी की उम्मीद थी, लेकिन वो उम्मीद दरक रही है.