Submit your post

Follow Us

प्रोटेस्ट में 'फ्री कश्मीर' का पोस्टर लेकर खड़ी लड़की ने बताया कि उसने ऐसा क्यों किया

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में हुई हिंसा के बाद देश के कई हिस्सों में इसका विरोध हो रहा है. मुंबई में भी लोगों ने हिंसा के विरोध में प्रोटेस्ट किया. 6 जनवरी के दिन गेटवे ऑफ इंडिया पर भी प्रदर्शन हुआ. लोगों ने नारे लगाए, गाने गाए, पोस्टर्स लेकर खड़े हुए. इन सारे पोस्टर्स के बीच एक पोस्टर कश्मीर के मुद्दे पर भी था. एक लड़की ने हाथ में एक पोस्टर पकड़ा हुआ था, जिस पर लिखा था, ‘Free Kashmir’. लड़की की तस्वीर जमकर वायरल हुई. कई सारे सवाल किए जाने लगे. ये पूछा जाने लगा कि किस बात की आज़ादी?

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी ट्वीट किया. कहा,

‘प्रोटस्ट आखिर किसलिए है? ‘Free Kashmir’ का नारा क्यों? हम मुंबई में इस तरह के अलगाववादी तत्वों को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं? चीफ मिनिस्टर के ऑफिस से दो किलोमीटर की दूरी पर आजादी गैंग ने ‘Free Kashmir’ के नारे लगाए? उद्धव जी आप अपनी नाक के नीचे एंटी-इंडिया कैंपेन के फ्री कश्मीर को बर्दाश्त करने वाले हैं?’

इस मामले पर शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने भी फडणवीस को सफाई दी. कहा, ‘कोई भी भारत से कश्मीर को आजाद करने की बात करे, ये हम बर्दाश्त नहीं करेंगे.’ हालांकि आगे कहा कि पोस्टर को गलत तरीके से समझा गया है. उन्होंने कहा कि उन्होंने अखबार में ऐसा पढ़ा है कि जिस लड़की ने पोस्टर पकड़ा था, वो कश्मीर पर लगे इंटरनेट बैन का विरोध कर रही थी. वहां इंटरनेट की आज़ादी की बात कर रही थी.

सोशल मीडिया पर बहुत से लोगों ने उस लड़की का विरोध किया. किसी ने कहा कि वो देशद्रोही है, किसी ने उसे अलगाववादी बताया. अब इस मामले में उस लड़की ने खुद वीडियो जारी करके सफाई दी है.

लड़की का नाम महक मिर्ज़ा प्रभु है. उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर वीडियो डाला और ‘फ्री कश्मीर’ वाला प्लकार्ड पकड़कर खड़े होने का मकसद भी बताया. महक ने बताया कि लोग सोच रहे हैं कि वो कश्मीर की है, लेकिन वो महाराष्ट्र की ही हैं. आगे बताया कि गेटवे ऑफ इंडिया पर JNU स्टूडेंट्स के जस्टिस के लिए आवाज़ उठाई जा रही थी. इसी प्रोटेस्ट में शामिल होने के लिए वो वहां गई थी. आगे बताया,

‘वहां हर मुद्दे पर प्लकार्ड बन रहे थे. जैसे- NRC, CAA, JNU स्टूडेंट्स के लिए. वहां पर साइड में एक प्लकार्ड पड़ा था, जिस पर ‘फ्री कश्मीर’ लिखा हुआ था. जब मैंने वो देखा, मेरे मन में पहला ख्याल ये आया कि हम यहां पर संविधान में दिए गए मूल अधिकारों की आज़ादी के बारे में बात करने आए हैं और इस वक्त कश्मीर में पिछले 5 महीनों से इंटरनेट पर बैन लगा हुआ है. यानी वहां के लोगों के मूल अधिकार उनके पास अभी नहीं हैं. अगर हम कहते हैं कि वो अपने हैं, तो हमें उन्हें अपने जैसा ट्रीट भी करना चाहिए. उन्हें भी वो अधिकार मिलने चाहिए, जो हमें मिले हुए हैं. उनके पास अपनी बात रखने की आज़ादी होनी चाहिए. बस इसी ख्याल से मैंने वो पोस्टर उठाया. मैं शांति के साथ खड़ी थी. मेरे हाथ में फूल था, जिसका यही मतलब है कि मैं शांति की मांग कर रही थी. उस प्लकार्ड को पकड़ने का मेरा इकलौता मकसद यही था. लेकिन उसे गलत तरीके से लिया गया.’

महक ने ये कहा कि वो किसी गैंग की मेंबर नहीं है और उसे वहां खड़े होने के लिए पैसे भी नहीं दिए गए थे. महक ने आगे कहा कि वो एक साधारण लड़की हैं. यूट्यूब पर वीडियो बनाती हैं. स्टोरी टेलर हैं. यूट्यूब के वीडियो में वो बहुत से मुद्दों पर बात करती हैं. उन वीडियो के जरिए लोग जान सकते हैं कि वो किस तरह की इंसान हैं. आगे कहा,

‘अभी जो कुछ भी कहा जा रहा है, वो डराने वाला है. मैं एक साधारण लड़की हूं. एक औरत के नजरिए से मेरी सुरक्षा को लेकर भी ये डराने वाला है.’

महक ने अपील की है कि उनकी बात को बाकी लोगों तक पहुंचाया जाए, ताकि नफरत न फैले. उन्होंने कहा कि अगर ये उनके साथ हुआ है, तो किसी के भी साथ हो सकता है.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

प्रशांत भूषण ने कही ये बात, तो कोर्ट बोला- हजार अच्छे काम से गुनाह करने का लाइसेंस नहीं मिल जाता

बचाव में उतरे केंद्र की अपील, सजा न देने पर विचार करें, सुप्रीम कोर्ट ने दिया दो-तीन दिन का वक्त

सुशांत पर सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच का आदेश दिया, महाराष्ट्र के वकील को आपत्ति

कोर्ट ने कहा, सारे काग़ज़ CBI को दे दीजिए.

बिहार : महीनों से बिना सैलरी के पढ़ा रहे हैं गेस्ट टीचर, मांगकर खाने की आ गई नौबत!

इस पर अधिकारियों ने क्या जवाब दिया?

सलमान खान की रेकी करने वाला शार्प शूटर पकड़ा गया

जनवरी में रची गई थी सलमान खान की हत्या की साजिश!

रोहित शर्मा और इन तीन खिलाड़ियों को मिलेगा इस साल का खेल रत्न!

इसमें यंग टेबल टेनिस सेंसेशन का भी नाम शामिल है.

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज नहीं रहे

पिछले कुछ समय से अमेरिका में रह रहे थे.

प. बंगाल: विश्व भारती यूनिवर्सिटी में जबरदस्त हंगामा, उपद्रवियों ने ऐतिहासिक ढांचे भी ढहाए

एक फेमस मेले ग्राउंड के चारों तरफ दीवार खड़ी की जा रही थी.

धोनी के 16 साल के क्रिकेट करियर की 16 अनसुनी बातें

धोनी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है.

धोनी के तुरंत बाद सुरेश रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा

इंस्टाग्राम पोस्ट के ज़रिए रिटायरमेंट की बात बताई.

धोनी क्रिकेट से रिटायर, फैंस ने बताया, एक जनरेशन में एक बार आने वाला खिलाड़ी

एक इंस्टाग्राम पोस्ट करके विदा ले ली धोनी ने.