Submit your post

Follow Us

भड़काऊ नारेबाजी मामले में अश्विनी उपाध्याय को कोर्ट ने क्या कहकर जमानत दे दी?

BJP के नेता अश्विनी उपाध्याय को जमानत मिल गई है. उन्हें दिल्ली के जंतर-मंतर पर आयोजित एक कार्यक्रम में भड़काऊ नारेबाजी के मामले में गिरफ्तार किया गया था. दिल्ली की एक अदालत ने बुधवार 11 अगस्त को 50 हजार रुपये के निजी निजी मुचलके पर अश्विनी उपाध्याय को बेल दे दी. पुलिस ने अश्विनी उपाध्याय के अलावा विनोद शर्मा, दीपक सिंह, दीपक, विनीत क्रांति और प्रीत सिंह को भी गिरफ्तार किया था. अश्विनी उपाध्याय के अलावा इनमें से किसी और को जमानत मिलने की जानकारी नहीं है.

कोर्ट ने क्या कहकर बेल दी?

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, कोर्ट ने इन बातों के आधार पर अश्विनी कुमार को जमानत दी है:

– केवल दावे के अलावा ऐसा कुछ नहीं है जिससे ये पता चलता हो कि समुदायों के बीच अदावत को बढ़ावा देने वाली हेट स्पीच उपाध्याय की मौजूदगी में या फिर उनके कहने पर दी गई.

– वीडियो में आरोपी के खिलाफ कुछ भी नहीं है.

– ऐसा भी नहीं है कि उपाध्याय के फरार होने की संभावना है.

– षड्यंत्र बेशक गुप्त रूप से रचा गया है और वर्तमान मामले में जांच अभी शुरुआती चरण में है. लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि केवल दावे और आशंका के आधार पर किसी नागरिक की स्वतंत्रता पर अंकुश लगाया जाए.

पुलिस ने मंगलवार 10 अगस्त को अश्विनी उपाध्याय को गिरफ्तार किया था. दिल्ली की एक अदालत ने उन्हें और 4 अन्य आरोपियों को दो दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था.

बुधवार को उपाध्याय के वकील विकास सिंह और सिद्धार्थ लूथरा ने कोर्ट में उनका पक्ष रखा. आजतक संवाददाता संजय शर्मा की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सिद्धार्थ ने कहा कि जिस वक्त नारेबाजी हुई, उस वक्त अश्विनी उपाध्याय मौके पर नहीं थे. वहीं, वकील विकास सिंह ने कहा कि नारे लगाने वालों से अश्विनी का कोई लेना-देना नहीं है और केवल पब्लिक को दिखाने के लिए उन्हें गिरफ्तार किया गया है. उपाध्याय के वकीलों ने कोर्ट में कहा कि अश्विनी के कार्यक्रम में रहने तक वहां ऐसी कोई नारेबाजी नहीं हुई थी.

बता दें कि 8 अगस्त को जंतर-मंतर पर एक सभा हुई थी जिसमें कई लोग शामिल हुए थे. इस सभा से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इसमें भीड़ भड़काऊ नारेबाजी करती दिखाई दे रही थी. इसमें मुस्लिम समुदाय को लेकर आपत्तिजनक नारे लगाए गए थे.

वीडियो वायरल होने के बाद काफी हंगामा हुआ. 9 अगस्त को कुछ अनजान लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 153-A (समूहों के बीच वैमनस्य फैलाना) और धारा 188 (लोकसेवक का आदेश न मानना) के अलावा कोविड नियमों का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया गया. फिर दिल्ली पुलिस ने इस मामले में एक्शन लेते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया.


वीडियो- जंतर मंतर पर भड़काऊ नारेबाजी के मामले में दिल्ली बीजेपी के पूर्व प्रवक्ता समेत 6 गिरफ्तार

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

आज आए चुनाव नतीजे में ममता, कांग्रेस और BJP को कहां-कहां जीत हार का सामना करना पड़ा?

उपचुनाव के नतीजे एक जगह पर.

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

जेल से बाहर आए शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान, मन्नत के लिए रवाना

3 अक्टूबर को आर्यन खान को गिरफ्तार किया गया था.

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

वरुण गांधी ने कहा- UP में किसानों का फसल जलाना सरकार के लिए शर्म की बात, जेल कराऊंगा

किसानों के बहाने फिर बीजेपी पर निशाना साध रहे वरुण गांधी?

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

कन्नड़ सुपरस्टार पुनीत राजकुमार की सिर्फ 46 की उम्र में डेथ!

ट्विटर पर फिल्म इंडस्ट्री ने पुनीत को किया भारी मन से याद.

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

Facebook का नाम बदलने के बाद क्या अब आपका अकाउंट Meta पर खुलेगा?

इससे फेसबुक पर क्या कुछ फर्क पड़ने वाला है?