Submit your post

Follow Us

370 हटने के बाद अमित शाह के पहले जम्मू-कश्मीर दौरे पर महबूबा मुफ्ती ने जो कहा जानना चाहिए

गृह मंत्री अमित शाह जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं. उनका ये दौरा तीन दिनों का है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 5 अगस्त 2019 को आर्टिकल 370 रद्द होने के शाह की यह पहली जम्मू-कश्मीर यात्रा है. पहले दिन गृहमंत्री जम्मू-कश्मीर के शहीद इंस्पेक्टर परवेज अहमद डार के घर पहुंचे. इस मुलाकात के दौरान गृहमंत्री ने शहीद की पत्नी फातिमा अख्तर को सरकारी नौकरी का पत्र सौंपा. गृहमंत्री ने ट्वीट कर इस मुलाकात की जानकारी दी. लिखा,

जम्मू-कश्मीर पुलिस के शहीद जवान परवेज अहमद दार के घर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. मुझे व पूरे देश को उनकी बहादुरी पर गर्व है. उनके परिजनों से भेंट की और उनकी पत्नी को सरकारी नौकरी दी. मोदी ने जो नए J&K की कल्पना की है, उसको साकार करने के लिए J&K पुलिस पूरी तन्मयता से प्रयासरत है.

परवेज अहमद डार जम्मू-कश्मीर पुलिस में इंस्पेक्टर थे. इसी साल जून में श्रीनगर के नौगाम इलाके में आतंकवादियों ने डार की हत्या कर दी थी. पुलिस अधिकारी की 22 जून को आतंकवादियों ने उस वक्त गोली मारकर हत्या कर दी थी जब वो एक स्थानीय मस्जिद से नमाज अता कर घर लौट रहे थे.हत्या की जिम्मेदारी आतंकी संगठन टीआरएफ (TRF) ने ली थी.

अमित शाह ने शनिवार को राजभवन में जम्मू कश्मीर की सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की. वह श्रीनगर-शारजाह की पहली उड़ान को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे. उनके यहां एक युवा क्लब के सदस्यों के साथ बातचीत करने की भी संभावना है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, अधिकारियों ने बताया कि शाह के दौरे को देखते हुए घाटी में सुरक्षा बलों की अतिरिक्त तैनाती की गई है. विशेष रूप से यहां शहर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि हाल में आम नागरिकों की हत्याओं के मद्देनजर अतिरिक्त अर्धसैनिक बलों की 50 कंपनियों करीब 5000 जवानों को घाटी में तैनात किया गया है. अधिकारियों ने बताया कि श्रीनगर के कई इलाकों के साथ कश्मीर घाटी के अन्य हिस्सों में केंद्रीय अर्धसैनिक बल (सीआरपीएफ) के बंकर बनाए गए हैं.

जम्मू-कश्मीर के नेता क्या बोले?

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्लाह ने भाजपा पर धर्म के आधार पर देश के बंटवारे का आरोप लगाया. शनिवार को नौशेरा के रजौरी जिले में अब्दुल्लाह ने इंडिया टुडे से बातचीत की. कहा,

“भाजपा देश को धर्म के आधार पर बांट रही है. जो ये कहते थे कि आर्टिकल 370 के हटने के बाद कश्मीर में शांति होगी, पिछले दिनों जो हुआ उसे देख कर ऐसा लगता तो नहीं है. आप (सरकार) कश्मीर में बिना आर्टिकल 370 को बहाल किए शांति ला ही नहीं सकते”.

हाल ही में केंद्र सरकार घाटी में कश्मीरी पंडितों को फिर से बसा रही है. इसी पर फारूक अब्दुल्लाह ने कहा कि

“कश्मीरी पंडितों को वापस बुलाकर यहां बसाने का ये सही समय नहीं है”  

वहीं पूर्व सीएम और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने कहा कि शाह के दौरे से पहले 700 सिविलियन को डिटेन किया गया. कई अपराधियों को कश्मीर की बाहर की जेलों में शिफ्ट किया गया. ऐसे कदम तनाव को और ज्यादा बढ़ाने का काम करते हैं. सब कुछ सामान्य दिखाने की कोशिश हो रही है, लेकिन असल सच्चाई को सभी दबाना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि गृहमंत्री का श्रीनगर से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का उद्घाटन और नए मेडिकल कॉलेजों की नींव रखना कोई नई बात नहीं है. यूपीए सरकार ने आधा दर्जन मेडिकल कॉलेज स्वीकृत किए थे. और अब काम कर रहे हैं. 370 हटने के बाद से तो सिर्फ परेशानियां बढ़ी हैं, जम्मू-कश्मीर को अराजकता की ओर ढकेल दिया गया है.


दी लल्लनटॉप शो: कश्मीर में 13 आतंकी हफ्तेभर में मारने के बाद भी हमले क्यों नहीं रोक पा रही सरकार?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

LIC पॉलिसी से PAN नंबर लिंक नहीं है, ये बड़ा नुकसान होगा!

लिंक करने का पूरा प्रोसेस बता रहे हैं, जान लीजिए.

यूपी चुनाव: सपा-सुभासपा गठबंधन का ऐलान, राजभर बोले- एक भी सीट नहीं देंगे तो भी समर्थन रहेगा

सपा ने ट्वीट कर कहा- 2022 में मिलकर करेंगे बीजेपी को साफ़!

आगरा में पुलिस कस्टडी में सफाईकर्मी की मौत, बवाल के बाद पुलिसकर्मियों पर FIR, 6 सस्पेंड

थाने के मालखाने से 25 लाख चोरी के आरोप में पुलिस ने पकड़ा था सफाईकर्मी को.

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.