Submit your post

Follow Us

संसद में ओवैसी को चिढ़ाने के लिए जय श्री राम के नारे लगे, ओवैसी ने भी जवाबी नारे लगा दिए

17.38 K
शेयर्स

संसद सत्र चल रहा है. 17वीं लोकसभा के लिए चुने हुए सांसदों को शपथ दिलाई जा रही है. दूसरे दिन, यानी 18 जून को भी सांसदों को शपथ दिलाई गई. हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी भी शपथ लेने के लिए अपनी सीट से उठे. इस दौरान सांसदों ने जय श्री राम और वंदे मातरम के नारे लगाए. ओवैसी ने अपने दोनों हाथ ऊपर उठाए और आगे बढ़ते हुए नारा लगाने वालों से और जोर से नारा लगाने का इशारा किया. ओवैसी ने शपथ पूरी की. जय श्री राम के नारे के जवाब में जय भीम, जय मीम, अल्लाह-हू-अकबर और जय हिन्द के नारे लगाए.

सदन से बाहर निकलने के बाद ओवैसी ने कहा,

ये अच्छा है कि जब वे मुझे देखते हैं तो उन्हें ये सारी चीजें याद रहती हैं. मुझे उम्मीद है कि उन्हें संविधान और मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत भी याद होगी.

 

जय श्री राम कुछ राजनीतिक पार्टियों के लिए नया नारा बन गया है. ओवैसी के सामने जय श्री राम के नारे बीजेपी सांसदों ने लगाए. सांसदों के शपथ ग्रहण के पहले दिन भी संसद में जय श्री राम के नारे लगे. पश्चिम बंगाल के आसनसोल लोकसभा सीट से चुने गए बाबुल सुप्रियो के शपथ ग्रहण से पहले भी जय श्री राम के नारे लगे. उस दौरान पीएम मोदी भी उनके पीछे ही बैठे थे.

बीजेपी अपनी रैलियों में जयश्री राम के नारे लगाती रही है. पीएम मोदी ने भी कई मौकों पर अपनी रैलियों में जय श्री राम के नारे लगाए. पश्चिम बंगाल में जय श्री राम का नारा बीजेपी के लिए नया हथियार बन गया है. इसका इस्तेमाल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चिढ़ाने के लिए हो रहा है.

धर्म व्यक्तिगत मामला है. राम करोड़ों लोगों की आस्था के प्रतीक हैं. राम को याद करते हुए लोग जय श्री राम के नारे लगाते हैं. लेकिन आज कल राजनीति और धर्म एक ही चाशनी में घुल गए हैं. इसलिए ये नारा मंदिरों से ज्यादा राजनीतिक मंचों पर सुनने को मिल रहा है. राजनीतिक मंचों से होते हुए संसद तक पहुंच गया है.

अब तो जय श्री राम बोलकर दूसरे धर्म के लोगों को ट्रोल किया जा रहा है. संसद के अंदर जब एक अल्पसंख्यक सांसद शपथ लेने जा रहा है तो जय श्री राम के नारे लगाना कितना सही है? तेलुगू फिल्मों की एक्ट्रेस रही चुकी और 17वीं लोकसभा की सांसद नवनीत कौर राना का कहना है कि

जय श्री राम के नारे के लिए संसद सही जगह नहीं है. मंदिर इसके लिए सही जगह है. हर भगवान बराबर हैं लेकिन किसी को टारगेट करना गलत है.

क्या संसद के अंदर जय श्री राम के नारे लगाने वाले सांसद अल्लाह-हू-अकबर के नारे को भी उसी सहजता से स्वीकार करेंगे?


क्या मॉनसून सत्र में ट्रिपल तलाक बिल पास होगा?|दी लल्लनटॉप शो| Episode 238

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Jai Shri Ram’ slogans in parliament when Asaduddin Owaisi takes oath as a member of the Parliament

टॉप खबर

राहुल गांधी के पत्र की चार ख़ास बातें, तीसरी वाली में सारे देश की दिलचस्पी है

आज राहुल गांधी ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया.

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

"अफ़सोस! दिल से माफ़ नहीं कर पाएंगे."

नुसरत जहां के खिलाफ़ जिस फतवे पर बवाल मचा, वैसा फ़तवा जारी ही नहीं हुआ

निखिल से शादी के बाद सिन्दूर-साड़ी में संसद पहुंची थीं नुसरत

क्या ज़ायरा ने इस्लाम के लिए फ़िल्म लाइन छोड़ दी?

जिन चीज़ों से रील लाइफ में लड़कर सुपर स्टार बनीं, निजी ज़िंदगी में वो लड़ाई ही छोड़ दी है.

मायावती ने गठबंधन क्या तोड़ा, खुद की लुटिया ही डुबो ली है

गठबंधन तोड़कर अखिलेश और माया चवन्नी भर सीटें भी नहीं जीत रहे हैं.

खट्टर सरकार रेपिस्ट बाबा की जेल से छुट्टी का समर्थन कर रही, लेकिन जानिए ऐसा होना संभव क्यूं नहीं

जेल से छुट्टी क्यों चाह रहा है बलात्कारी बाबा राम रहीम?

चमकी बुखार में जिनके बच्चे मरे, उन्होंने विरोध किया तो केस दर्ज हो गया

बिहार में एक दो नहीं पूरे 39 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है.

चमकी बुखार से पीड़ित परिवार से मिलने गए सांसद-विधायक को लोगों ने बंधक बना लिया

उधर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य और केंद्र सरकार को नोटिस भेज दिया है.

जिन SP अजय पाल शर्मा को हीरो बताया जा रहा, उन्होंने "रेपिस्ट" पर गोली चलाई ही नहीं

न वो मौके पर थे, न रेप की वजह से गोली चली और न ही "रेपिस्ट" की मौत हुई.

पंजाब में गुरु ग्रंथ की बेअदबी के आरोपी और डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी मोहिंदर की जेल में हत्या

जानिए क्या है पूरा मामला जिसके चलते पूरे पंजाब में अफवाहों और कानाफूसियों का माहौल है और सीएम ने भी लोगों से शांति बनाए रखने की रिक्वेस्ट की है.