Submit your post

Follow Us

असदउद्दीन ओवैसी को मिली ISIS से धमकी

183
शेयर्स

AIMIM के प्रेसीडेंट असदउद्दीन ओवैसी की इमेज देश में चाहे जैसी हो. पर ISIS के चाहने वाले उनसे भी ऐसे ही किलसते हैं, जैसे बाकी हिंदुस्तानियों से. बुधवार को ISIS के एक चाहने वाले से उनकी ट्विटर पर भिड़ंत हो गई. उसने ट्विटर पर ही ओवैसी को धमकी देनी शुरू कर दी.

@abotalout ट्विटर हैंडल से ISIS के एक समर्थक अबू तलूत अल-खोरसानी ने उन्हें कहा कि अगर वो इस्लामिक स्टेट का सपोर्ट नहीं करेंगे तो अंत में नरक में जाएंगे. बदले में ओवैसी ने भी खरी-खरी कह दी कि बहस करनी है तो आ जाओ,जवाब न दे पाओगे.

इस पर अबू तलूत धमकी दे गया कि जल्द ही हम इंडिया पर कब्जा कर लेंगे. शरिया कानून लागू करेंगे.

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
ISIS threat to All India Majlis-e-Ittehadul Muslimeen President Asaduddin Owaisi keep your mouth shut

टॉप खबर

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया कि फिलहाल गठबंधन को टूटा मान लेना चाहिए

प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने गठबंधन तोड़ने का सीधा ऐलान तो नहीं किया, लेकिन बहुत कुछ कह गयीं.

चुनाव नतीजे आए दस दिन हुए नहीं, मायावती ने गठबंधन पर सवाल उठा दिए

वो भी तब जब मायावती के पास जीरो से बढ़कर दस सांसद हो गए हैं

अरविंद केजरीवाल ने चुनाव में बंपर वोट खींचने वाला ऐलान कर दिया है

वो ऐसी स्कीम लेकर आए हैं कि दिल्ली-NCR की महिलाएं खुश हो गईं.

आखिर क्या सोचकर मोदी ने UP के इन नेताओं को कैबिनेट में जगह दी है?

इनमें कुछ से पिछली सरकार के दौरान बीच में ही मंत्रालय छीन लिया गया था.