Submit your post

Follow Us

देश के सट्टेबाज़ों के लिए सबसे बुरी खबर आने वाली है

कोरोना संक्रमण का खतरा है. टोक्यो ओलंपिक सालभर के टल चुका है. और अब कयास लग रहे हैं कि इस साल IPL भी नहीं हो पाएगा. इंडियन प्रीमियर लीग माने IPL को 29 मार्च से शुरू होना था. लेकिन देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया गया है. और विदेशी नागरिकों की भारत में एंट्री 15 अप्रैल तक बंद है. इसीलिए IPL को भी 15 अप्रैल तक टाला गया था. अब एक नया अपडेट है.

अंग्रेज़ी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स से बात करते हुए एक फ्रेंचाइज़ी के अधिकारी ने कहा,

‘हम इस वक्त IPL पर चर्चा भी नहीं कर रहे हैं. कुछ भी कहना जल्दबाज़ी होगी लेकिन इस साल IPL का आयोजन करना काफी मुश्किल लग रहा है.’

# समस्या क्या है?

अगर लॉकडाउन 14 अप्रैल को खत्म हो जाए, 15 अप्रैल से विदेशी खिलाड़ियों-दर्शकों को वीजा मिलने लगे, तब भी IPL शुरू होते-होते अप्रैल खत्म हो जाएगा. क्योंकि इतने बड़े टूर्नामेंट के लिए ग्राउंड्स को तैयार करने में कम से कम 12-14 दिन लगेंगे.

तमाम राज्य सरकारों ने मार्च के तीसरे हफ्ते से ही लॉकडाउन कर दिया था. इसके चलते ज्यादातर क्रिकेट असोसिएशन्स ने सारा काम बंद कर दिया है. सीनियर अधिकारी वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं. दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट असोसिएशन (DDCA) के एक अधिकारी ने हिंदुस्तान टाइम्स को बताया,

‘IPL से जुड़ा सारा काम मिड-मार्च में रोक दिया गया था. VIP बॉक्सेज के कंस्ट्रक्शन का काम चल रहा था कि तभी कोरोना वायरस महामारी ने वर्क फ्रॉम होम करने पर मजबूर कर दिया. हमें पहले ही 15 अप्रैल तक IPL से जुड़ा काम नहीं करने की हिदायत दी गई थी.’

दिल्ली IPL मैचों पर प्रतिबंध लगाने वाला पहला राज्य था. जिसके बाद अरुण जेटली स्टेडियम में पिच की तैयारी समेत दूसरे काम शुरू होने से पहले ही रोक दिए गए थे. DDCA के साथ ही मुंबई क्रिकेट असोसिएशन, क्रिकेट असोसिएशन ऑफ बंगाल ने भी मार्च के तीसरे हफ्ते में काम रोक दिया था. 21 मार्च को होने वाले कर्नाटक स्टेट क्रिकेट असोसिएशन के चुनाव भी चार अप्रैल तक टाल दिए गए हैं.

 

# सौरव गांगुली ने क्या कहा?

पिछले दिनों ख़बर आई थी कि IPL को जुलाई-अगस्त में कराया जा सकता है. लेकिन मंगलवार, 24 मार्च को BCCI प्रेसिडेंट सौरव गांगुली ने साफ कर दिया कि ऐसी कोई चर्चा नहीं हुई है. उन्होंने PTI से कहा था,

‘पिछले 10 दिन में कुछ भी नहीं बदला है. इसलिए मेरे पास इसका कोई जवाब नहीं है. कुछ भी प्लान नहीं किया जा सकता. फ्यूचर टूर प्लान (FTP) शेड्यूल पक्का है. उसे बदला नहीं जा सकता. पूरी दुनिया में क्रिकेट और तमाम खेल रोक दिए गए हैं.’

 

टोक्यो2020 ओलंपिक एक साल के लिए टल चुका है. इस बात से IPL आयोजन कमिटी पर काफी प्रेशर है. अगर IPL वाकई रद्द हुआ तो 2008 में शुरू हुए इस टूर्नामेंट के इतिहास में ये पहली बार होगा. और सिर्फ दर्शक ही मायूस नहीं होंगे. BCCI और इससे जुड़े लोगों को काफी नुकसान होगा. जो नुकसान सट्टेबाज़ों को होगा, उसका तो अनुमान ही नहीं लग पा रहा. नुकसान पचाने का मंत्र – जान है, तो जहान है.


RCB, हैदराबाद, राजस्थान कभी नहीं चाहेंगे कि IPL आगे खिसके, वजह जान लीजिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना के बीच सरकार ने गठिया वाली दवा के एक्सपोर्ट पर रोक क्यों लगा दी?

इस दवा का कोरोना के इलाज में क्या रोल है?

रात को लॉकडाउन के कायदे बताने के बाद सुबह हुजूम के बीच कहां निकल गए सीएम योगी?

सीएम ने लोगों से कहा था, 'घर पर ही रहें, बाहर न निकलें.'

21 दिन के लॉकडाउन में आपको कौन-कौन सी छूट मिलेगी, यहां जान लीजिए

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पूरा देश 15 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा.

आज आधी रात से पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन, पीएम बोले- एक तरह से ये कर्फ्यू ही है

कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे बड़ा फैसला.

कोरोना वायरस: उत्तर प्रदेश के 17 नहीं, अब पूरे 75 जिलों को लॉकडाउन कर दिया गया है

देश में कोरोना वायरस इंफेक्शन के मामले 500 से ऊपर जा चुके हैं.

3 महीने तक ATM से पैसे निकलना फ्री, अब मिनिमम बैलेंस का भी झंझट नहीं

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐलान किया.

कोरोना वायरस की वजह से अब जो काम रुका है, उसका असर 17 राज्यों पर पड़ेगा

क्या मतलब निकला इतनी उठा-पटक का?

चौथी बार MP के सीएम बने शिवराज, बोले- कोरोना से मुकाबला मेरी पहली प्राथमिकता

शिवराज सिंह चौहान ने शपथ लेते ही ये रिकॉर्ड भी बना दिया है.

कोरोना वायरसः लॉकडाउन में घर से निकलने वालों पर क्या एक्शन लिया जा रहा है?

देश के 75 जिले लॉकडाउन हैं.

कोरोना से लड़ने में इस भारतीय डॉक्टर की बात मानी तो बेड़ा पार हो जाएगा

सरकार को एक्शन प्लान भेज दिया है.